।। पंडित जवाहर लाल नेहरू नहीं, बल्कि नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं।। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी।।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने सरकार की टीका संबंधी रणनीति को ‘घोर विफल’ करार दिया. उन्होंने कहा कि बीजेपी की अगुवाई वाली केंद्र सरकार दूसरों पर जिम्मेदारी नहीं डाल सकती क्योंकि मौजूदा समय में पंडित जवाहर लाल नेहरू नहीं, बल्कि नरेंद्र मोदी देश के प्रधानमंत्री हैं और भारतीय नागरिकों की रक्षा के लिए उन्हें आगे आना चाहिए. प्रियंका ने यह भी कहा कि संकट के समय विपक्षी दलों की ओर से दिए जा रहे रचनात्मक सुझावों को स्वीकार करने की बजाय खारिज किया जा रहा है. उन्होंने इस बात पर जोर दिया, ”राजनीति से इतर हमें साथ खड़े होना चाहिए और लोगों की जिंदगी बचाने के लिए हम जो कर सकते हैं वह करना चाहिए.”

कांग्रेस महासचिव ने कहा, ”वे (सरकार) ओछेपन में समय बर्बाद कर रहे हैं. नि:स्वार्थ भाव और स्वाभिमान के साथ देश की सेवा करने वाले एक पूर्व प्रधानमंत्री (मनमोहन सिंह) की ओर से मौजूदा प्रधानमंत्री को लिखे गए पत्र का एक मंत्री से जवाब दिलवाया जा रहा है, ऑक्सीजन की मांग बढ़ने के लिए केंद्रीय मंत्री राज्यों को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं और केंद्र सरकार की विज्ञप्तियों में विपक्षी दलों की राज्य सरकारों को निशाना बनाया जा रहा है.”

प्रियंका ने यह टिप्पणी पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन द्वारा लिखे गए पत्र के संदर्भ में की है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मनमोहन सिंह की ओर से भेजे गए पत्र के जवाब में हर्षवर्धन ने पत्र लिखा था और आरोप लगाया था कि कोरोना महामारी की दूसरी लहर कांग्रेस शासित राज्यों की वजह से आई है क्योंकि वे लोगों को टीका लगवाने की बजाय टीकों पर संदेह जता रहे थे.

प्रधानमंत्री ने खुद के प्रचार-प्रच्रार को देश से ऊपर रखा- प्रियंका

सरकार की टीका रणनीति के संदर्भ में प्रियंका ने आरोप लगाया कि यह सरकार की ‘घोर विफलता’ है. सभी के लिए टीकाकरण से जुड़ी कांग्रेस की मांग को लेकर प्रियंका ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ‘प्रचार के लिए’ टीकों का निर्यात किया गया. प्रियंका के मुताबिक, 70 साल तक आगे की सोच रखने वाली सरकारों के कारण ही आज भारत दुनिया का सबसे बड़ा टीका निर्माता है. उन्होंने कहा, ”केंद्र सरकार ने इस साल जनवरी से मार्च के दौरान छह करोड़ टीकों का निर्यात किया. तस्वीरों के साथ प्रचार-प्रसार किया गया और मॉरीशस, गुयाना और नेपाल जैसे देशों में टीके भेजी गई हैं. इस दौरान भारतीय नागरिकों को सिर्फ तीन से चार करोड़ खुराक मिली.”

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश प्रभारी ने सवाल किया, ”सरकार ने भारतीय नागरिकों को पहले प्राथमिकता क्यों नहीं दी? प्रधानमंत्री ने खुद के प्रचार-प्रच्रार को देश से ऊपर क्यों रखा?” उन्होंने कहा कि 22 करोड़ की आबादी वाले उत्तर प्रदेश में सिर्फ एक करोड़ खुराक लगाई गई. प्रियंका के अनुसार, भारत सरकार ने टीके लिए पहला ऑर्डर जनवरी, 2021 में दिया, जबकि इससे पहले विदेशी एजेंसियों ने भारतीय टीका कंपनियों से ऑर्डर दे दिए थे.

।। आज है ठाकुर गबर सिंह नेगी का जन्मदिन ।।

21 अप्रॅल, 1895 को उत्तराखंड राज्य के टिहरी जिले के चंबा के पास मज्यूड़ गांव में एक गरीब परिवार में हुआ

ठाकुर गबर सिंह नेगी का जन्म 21 अप्रॅल, 1895 को उत्तराखंड राज्य के टिहरी जिले के चंबा के पास मज्यूड़ गांव में एक गरीब परिवार में हुआ था। उन्हें बचपन से ही देश के लिए कुछ कर गुजरने का जज्बा था। इसी जज्बे से वह अक्टूबर 1913 में गढ़वाल रायफल में भर्ती हो गये।
भर्ती होने के कुछ ही समय बाद गढ़वाल रायफल के सेनिकों को प्रथम विश्व युद्ध के लिए फ्रांस भेज दिया गया, जहां 1915 में प्रथम विश्व युद्ध के दौरान अनगिनत विरोधियों को मौत की नींद सुलाने के बाद न्यू शैपल में लड़ते-लड़ते 19 साल की अल्पायु में ही गबर सिंह नेगी शहीद हो गए।

।। एयरटेल पेमेंट्स बैंक ने 2 लाख रुपये दिन लिमिट की।।

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के दिशानिर्देशों के अनुसार, एयरटेल पेमेंट्स बैंक ने रविवार को घोषणा की कि वह देश में पहला भुगतान बैंक बन गया है, जो 2 लाख रुपये दिन की लिमिट कर दी है। बैंक ने एक दिन की बैलेंस लिमिट को 1 लाख से बढ़ाकर 2 लाख रुपये कर दिया है। एयरटेल पेमेंट्स बैंक की एमडी और सीईओ अनुब्रत बिस्वास ने कहा, “आरबीआई का बैलेंस लिमिट बढ़ाने का फैसला पेमेंट्स बैंकों की वित्तीय और डिजिटल समावेशन को भारत में आगे बढ़ाने में मदद करने का फैसला है।”

बिस्वास ने कहा, एयरटेल पेमेंट्स बैंक में हमने हमेशा माना है कि सबसे ज्यादा बैलेंस लिमिट भुगतान बैंकों के उपभोक्ता के इस्तेमाल को बढ़ाएंगी, साथ ही औपचारिक बैंकिंग तक आसानी से पहुंचने के लिए अनौपचारिक भारत के बड़े वर्गों, जैसे छोटे व्यापारियों को सक्षम करेंगी।

।।उत्तराखंड में भी केंद्र की तर्ज पर 10वी की परीक्षा रदद् ओर 12वी की स्थगित।।

उत्तराखंड में भी केंद्र की तर्ज पर 10वी की परीक्षा रदद् ओर 12वी की स्थगित करने का फैसला किया है। ज्ञात हो इस पर CBSE ने बॉर्ड परीक्षा पर अपना निर्णय पहले ही सुना लिया है ।

।। To prevent the spread of COVID-19।।

Protect yourself and others around you by knowing the facts and taking appropriate precautions. Follow advice provided by your local health authority.


Clean your hands often. Use soap and water, or an alcohol-based hand rub.Maintain a safe distance from anyone who is coughing or sneezing.Wear a mask when physical distancing is not possible.Don’t touch your eyes, nose or mouth.Cover your nose and mouth with your bent elbow or a tissue when you cough or sneeze.Stay home if you feel unwell.If you have a fever, cough and difficulty breathing, seek medical attention.Calling in advance allows your healthcare provider to quickly direct you to the right health facility. This protects you, and prevents the spread of viruses and other infections.MasksMasks can help prevent the spread of the virus from the person wearing the mask to others. Masks alone do not protect against COVID-19, and should be combined with physical distancing and hand hygiene. Follow the advice provided by your local health authority.

।।फायर टीम ने त्वरित कार्यवाही कर बुझाई आबादी क्षेत्र की ओर बढ़ रही आग।।

आज दिनांक 16/04/2021 को समय 16:37 पर फायर स्टेशन गोपेश्वर को सूचना प्राप्त हुई कि पटियालधार पुलिस चौकी के ठीक नीचे जंगल में आग लगी है जो तेजी से आबादी की तरफ बढ़ रही हैं तुरंत ही फायर सर्विस गोपेश्वर द्वारा घटनास्थल पर पहुंच कर दो फायर टेंडरों की सहायता से आग को बुझाना शुरू किया गया व आग से गंगा प्रसाद का मकान गौशाला एक गाय दो बछिया को सुरक्षित कर बचाया गया वह आबादी की तरफ बढ़ रही आग को पूर्ण रूप से बुझा दिया गया गंगा प्रसाद व उसके परिवार द्वारा फायर सर्विस गोपेश्वर की तहे दिल से प्रशंसा की गई।

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (BSER), अजमेर द्वारा आयोजित की जाने वाली 10वीं व 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं।। राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा (REET)  पर अभी कोई फैसला नहीं।।

कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए जहां विभिन्न राज्य बोर्ड परीक्षाओं को आगे के लिए टाल रहे हैं, वहीं कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार ने भी राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (BSER), अजमेर द्वारा आयोजित की जाने वाली 10वीं व 12वीं बोर्ड की परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं। वहीं कक्षा आठवीं, नौंवीं व 11वीं के विद्यार्थियों को भी उनकी अगली कक्षाओं में प्रोन्नत किया जाएगा। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की शिक्षा राज्य मंत्री गोविन्द सिंह डोटासरा से चर्चा के बाद इस संबंध में निर्णय लिया गया है।

इसके अलावा  राजस्थान शिक्षक पात्रता परीक्षा (REET)  पर अभी कोई फैसला नहीं हुआ है। अभी तक माना जा रहा है कि रीट परीक्षा अपने तय समय पर ही आयोजित होगी। आपको बता दें कि पहले ही राज्य सरकार EWS वर्ग के युवाओं को REET परीक्षा में लाभ देने के लिए परीक्षा तिथि आगे बढ़ा चुकी है। रीट परीक्षा को 25 अप्रैल से आगे बढ़ाकर 20 जून कर दिया गया है। बोर्ड की दसवीं एवं बारहवीं की परीक्षायें तय समय के अनुसार छह मई को ही होंगी।

।। Election Commission asks political parties to follow COVID-19 norms।।

The Election Commission on Friday reminded recognised national and State parties to follow COVID-19 protocols for campaigning, after finding instances during the ongoing Assembly elections where social distancing and mask wearing norms were flouted.null

In a letter to the political parties, the EC reiterated its August 2020 guidelines for campaigning during the pandemic. It said it reiterated the same when it notified the Assam, West Bengal, Puducherry, Tamil Nadu and Kerala elections in February.

“It is widely known that in the recent weeks, COVID cases are being reported in larger numbers. However, instances of election meetings/campaigns have come to the notice of the Commission, where norms of social distancing, wearing of masks etc. have been flouted in disregard to the Commission’s above guidelines. Instances of star campaigners/ political leaders/ candidates not observing COVID protocols including non-wearing of masks themselves at stage or while campaigning have come to notice. By doing so, the political parties and candidates are exposing themselves as well as the public attending such election meetings to the grave danger of infection,” the EC wrote.

The EC added that it had “taken a serious view of the laxity” and expected political parties and leaders to be torch bearers against COVID-19.

पहाड़ में दर्दनाक सड़क हादसा स्कूटी सवार दसवीं कक्षा के छात्र की मौके पर ही मौत

राज्य में दर्दनाक सड़क दुघर्टनाएं दिन-प्रतिदिन बढ़ती ही जा रही है। अब तो शायद ही ऐसा कोई दिन होगा जब राज्य के किसी भी क्षेत्र से सड़क दुघर्टना की दुखद खबर सुनने को ना मिलती हों। दर्दनाक सड़क दुघर्टनाओं को सबसे ज्यादा शिकार 15 से 30 वर्ष के युवा हो रहे हैं। आज फिर राज्य के पिथौरागढ़ (Pithoragarh) जिले से ऐसी ही दुखद खबर सामने आ रही है जहां एक दसवीं कक्षा के छात्र की स्कूटी टिप्पर को ओवरटेक करते समय दुर्घटनाग्रस्त (Scooty accident) हो गई। हादसे में छात्र की मौके पर ही मौत हो गई जबकि उसका साथी बाल-बाल बच गया। बताया गया है कि छात्र ने टोपी जैसा हल्का हेलमेट पहना था, जो छात्र के जमीन पर गिरने से पहले ही छिटककर दूर जा गिरा। हादसे की खबर से जहां छात्र के परिवार में कोहराम मचा हुआ है वहीं पूरे क्षेत्र में भी शोक की लहर है। बता दें कि मृतक छात्र के पिता का तीन वर्ष पूर्व ही निधन हो चुका है अब उसकी आकस्मिक मौत से परिवार पर एक बार फिर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। हादसे की सूचना मिलने पर दुर्घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने मृतक के शव को पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है।

।। Bihar witnessed the killings of five people, including a family of four, in the Madhubani district।।

On the day of Holi, Bihar witnessed the killings of five people, including a family of four, in the Madhubani district. One of the deceased was a Border Security Force (BSF) jawan who was visiting home on leave to celebrate Holi.
The Opposition attacked the Nitish Kumar government calling the incident a “massacre”. Even leaders from the BJP, an ally of Nitish Kumar’s Janata Dal-United, criticised the law-and-order situation in Bihar after the Madhubani massacre.

Bihar Police has now arrested five accused in the Madhubani murders. Main accused, Praveen Jha and Bhola Singh have been arrested along with Chandan Jha, Kamlesh Singh and Mukesh Saafi.

15 अप्रैल से खुलेंगे 1 से 5 तक के स्कूल ।। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे।।

उत्तराखंड के विद्यालयी शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने एक दिन में ही अपना बयान दिया। सोमवार को पिथौरागढ़ में उन्होंने कहा था कि बच्चों की जिंदगी दांव पर लगाकर स्कूल नहीं खोले जाएंगे, लेकिन ठीक एक दिन बाद मंगलवार को बागेश्वर में उन्होंने कहा कि कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए पहली से पांचवीं तक की कक्षाओं का संचालन 15 अप्रैल से किया जाएगा। छठी से 12वीं तक की कक्षाओं का संचालन पहले से ही हो रहा है।

।। परीक्षा स्थगित होने के बाद अभ्यर्थियों को अब इंतजार करना होगा।।

स्क्रीनिंग परीक्षा 17 अप्रैल को सुबह 11 से दोपहर एक बजे की पाली में प्रयागराज और लखनऊ में आयोजित की जानी थी, लेकिन परीक्षा स्थगित होने के बाद अभ्यर्थियों को अब इंतजार करना होगा। इस परीक्षा के तहत राजकीय महाविद्यालयों में 19 विषयों में असिस्टेंट प्रोफेसर के 128 पदों पर भर्ती होनी है। स्क्रीनिंग परीक्षा के बाद अभ्यर्थियों को इंटरव्यू के लिए आमंत्रित किया जाएगा और इसी आधार पर उनका चयन होगा। जिन 19 विषयों में असिस्टेंट प्रोफेसर के पदों पर भर्ती होनी हैं, उनमें अर्थशास्त्र, इतिहास, उर्दू, अंग्रेजी, गृह विज्ञान, जंतु विज्ञान, दर्शनशास्त्र, भूगोल, भौतिक विज्ञान, मनोविज्ञान, रसायन विज्ञान, राजनीतिशास्त्र, वनस्पति विज्ञान, वाणिज्य, शिक्षाशास्त्र, समाजशास्त्र, संस्कृत, हिंदी एवं गणित विषय शामिल हैं।

।।चेन स्नेचिंग के मामले में रांदेर पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया।। एक कई tv सीरियलो कर चुका है काम।।

उच्च शिक्षा हासिल कर उज्जवल भविष्य बनाने के बजाय दो युवक अपराध के रास्ते चल पड़े। क्रिकेट सट्टा बेटिंग की गंभीर लत ने पहले दोनों को कर्ज में डुबाया। कर्ज मुक्त होने के लिए दोनों ने अपराध का रास्ता अपना लिया। चेन स्नेचिंग के मामले में रांदेर पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिसमें एक टीवी सीरियलों का एक्टर जबकि दूसरा बिल्डर है।

मिराज नाम का आरोपी तारक मेहता का उल्टा चश्मा सहित कई सीरियल में छोटे किरदार निभा चुका है। पुलिस के मुताबिक रांदेर पुलिस की एक टीम ने मुखबिर से मिली गुप्त सूचना के आधार पर रांदेर भेसान चौराहे के पास चारों तरफ से एरिया कोर्डन करके आरोपी वैभव बाबू जादव और मिराज वल्लभदास कापड़ी (दोनों मूल निवासी जूनागढ़) को गिरफ्तार किया है।

आरोपियों के पास से 3 सोने की चेन, दो मोबाइल और चोरी की बाइक सहित 2 लाख 54 हजार 500 रुपए कीमत का माल बरामद किया है। इसके साथ आरोपियों के खिलाफ रांदेर पुलिस थाने में दर्ज दो मामले, महिधरपुरा और उधना पुलिस थानों में दर्ज एक -एक मामलों की गुत्थी सुलझाई गई।

आरोपियों ने कबूल किया है कि बेटिंग के सट्टे में उन पर 25 से 30 लाख रुपए का कर्जा हो गया था। पुलिस ने बताया कि आरोपी चोरी की बाइक लेकर राह पर चलनेवाली अकेली वृद्ध महिलाओं को निशाना बनाकर उनके गले पर झपट्टा मारकर चेन छीनकर भाग जाते थे।

आरोपी वैभव जादव के खिलाफ जूनागढ़, अहमदाबाद, राजकोट भक्ति नगर, वेरावल, केशोद सहित अलग-अलग पुलिस थानों में इस प्रकार के 12 मामले दर्ज हैं। पुलिस ने बताया कि जिस चोरी की बाइक से स्नैचिंग करते थे उसी बाइक को ट्रेस कर आरोपियों को पकड़ा गया।

।।अपने नाम के पहले अक्षर से जाने अपना भविष्यफल।।

A या अ अक्षर के नाम के लोग :-

ए या अ अक्षर के नाम के लोगो में अद्भुत साहस भरा होता है. वह अपने काम को लेकर प्रतिबद्ध रहते है. ये लोग जिंदगी को खुल कर जीने में दिलचस्पी रखते है. वही जिन लोगो के नाम में तीन ए होते है तो ऐसे लोग सिर्फ अपने बारे में ही सोचने वाले होते है.

apna bhavishya kaise jane online – B या ब अक्षर के नाम के लोग :-

बी या ब संवेदनाओं को दर्शाता है और व्यक्ति के बेहद भावुक होने की बात कहता है. ऐसे लोगों में आत्म-विश्वास की कमी देखी जा सकती है और ये लोग लालची भी होते हैं.

apne future ko kaise jane – C अक्षर के नाम के लोग :-

इस प्रकार के लोग में बहुत ह्यूमर होता यही तथा यह शीघ्र ही आवेग में भी आ जाते है.

bhavishya kaise dekhte hain – D तथा E अक्षर के नाम के लोग :-

डी’ संतुलन का परिचायक है. इन लोगों की इच्छा शक्ति बेहद मजबूत होती है और वे बेहद जिद्दी प्रवृत्ति के भी होते हैं. व्यापार में ये लोग सफल साबित होते हैं और किसी भी रूप में समझौता नहीं करते. ‘ई’ संप्रेषण को दर्शाता है. ऐसे लोग मजाकिया, बौद्धिक और दक्ष होते हैं.इनकी कल्पनाशक्ति बहुत मजबूत होती है.
जिन लोगों का नाम ‘ई’ से शुरू होता है वह फ्लर्ट करने में भी माहिर होते हैं.

apna bhagya kaise jane – F अक्षर के लोग :-

जिन लोगो नाम फ से प्रारम्भ होता है वह बहुत ज्यादा नकरात्मक विचार धारा रखते है. परन्तु फिर भी यदि ये किसी से प्रेम करते है तो उसके लिए कुछ भी कर सकते है. ऐसे लोग ईमानदार एवं समर्पित तो होते है परन्तु फिर भी समाज में अकेलापन महसूस करते है.

apna future kaise dekhe – G और H अक्षर के लोग :-

बेहद धार्मिक स्वभाव वाले ऐसे लोग अपनी जिंदगी को अपने अनुसार जीने का प्रयास करते है तथा इन लोगो को अपने जिंदगी में किसी अन्य व्यक्ति का दखल देना बर्दाश्त नहीं होता. ये लोग शकी स्वभाव के भी होते है वही. वही एच अक्षर से जिन लोगो का नाम शुरू होता है वे अपने में ही रहना पसंद करते है और सफलता प्राप्त करने के लिए समर्पित होते है.

future kaise jane – I और J अक्षर के लोग :-

जिनका नाम आई अक्षर से शुरु होता है उनमे किसी को प्रेरित करने का समार्थ्य होता है. इस प्रकार के लोग अपने जीवन को आदर्श बनाने में सक्षम होते है तथा इनकी कला, विज्ञान आदि में दिलचस्पी होती है परन्तु इस प्रकार के लोग बहुत जल्दी ही चिंता एवं भय आदि से घिर जाते है.

जे अक्षर वाले लोगो का जीवन में कोई ध्येय नहीं होता और वे अपने जीवन को बस जीने के लिए जीते है. बेहद आलसी स्वभाव के ये लोग अपने जीवन में कुछ भी हासिल करने में दिलचस्पी नहीं लेते.

kismat kaise jane – अक्षर K और L :-

यह अक्षर ‘चरम’ को दर्शाता है. इस अक्षर के लोग बेहद भावुक, संवेदनशील और कल्पनाशील व्यक्तित्व वाले ये लोग भीतरी तौर पर दयनीय ही महसूस करते हैं. अक्षर ‘एल’ वाले लोग बेहतरीन प्रबंधक और समर्पित स्वभाव के होते हैं और जीवन के बहुत से क्षेत्रों में सफलता प्राप्त करने में सक्षम साबित होते हैं. लेकिन इन्हें जीवन में कई बार दुर्घटना का भी शिकार होना पड़ता है.

apna future kaise pata kare – M और N अक्षर के लोग :-

‘एम’ अक्षर वाले लोग बिना सोचे-समझे नतीजे पर पहुंचने में माहिर होते हैं. वे अपने जीवन को प्लान नहीं करते बल्कि परिस्थितियों को झेलेते हुए आगे बढ़ते हैं. इन लोगों का गुस्सा बहुत तेज होता है और बहुत जल्दी आवेग में आ जाते हैं. ‘एन’ अक्षर वाले लोग एक अच्छे वक्ता और लेखक साबित होते हैं. ऐसे लोगों में जलन बहुत ज्यादा होती है जो उनको किसी से मेलजोल नहीं रखने देती.

apne bare me kaise jane – अक्षर O और P :-

ओ अक्षर प्रतिबद्धता और समर्पण को दर्शाता है और व्यक्ति को जिम्मेदार बनाता है. वहीं ‘पी’ शक्ति का प्रतीक है. किसी की परेशानियों से उन्हें ज्यादा फर्क नहीं पड़ता.

bhavishya kaise jane – अक्षर Q और R

क्यू’ अक्षर वास्तविकता को दर्शाता है और ये लोग बॉर्न लीडर होते हैं. वहीं ‘आर’ संभावनाओं का प्रतीक है. ‘आर’ शब्द वाले लोग हार्ड वर्किंग और बेहद भावुक होते हैं.

apna bhagya kaise dekhe – अक्षर S और T

जिन लोगों का नाम ‘एस’ अक्षर से शुरू होता है वे अपना काम पूरा करने के लिए हर संभव प्रयत्न करते हैं. ये अक्षर शुरुआत का भी प्रतीक है. ये लोग अपने अतीत से ज्यादा सीख नहीं लेते और भविष्य में भी समान गलती दोहराते हैं. अक्षर ‘टी’ प्रगति का प्रतीक है. ये लोग भावुक और संवेदनाओं से घिरे होते हैं. इन लोगों को आत्म-संयम की विधा सीखने की बहुत जरूरत होती है.

apna kismat kaise jane – अक्षर U और V

यु अक्षर के लोग लकी साबित होते है. यह अपने साथ हुई बईमानी एवं दुर्व्यवहार को भूल नहीं सकते. वही वी अक्षर के लोग स्वाभिमानी होते है तथा यह किसी की मदद लेना पसंद नहीं करते. यह भरोसेमंद होते है. व बेहद व्यवहारिक होते है.

name se bhagya jane – अक्षर W और X

जिन लोगो का नाम डब्ल्यू से शुरू होता है उन्हें जीवन में जोखिम उठने में मजा आता है. परन्तु ये अपने साथ ही दूसरे के लिए भी समस्या बन सकते है. एक्स नाम के लोग भरोसेमंद नहीं होते ये अपना किया हुआ वायदा नहीं निभाते तथा हमेसा धोखा देते है.

name se jane future – अक्षर Y और Z

वाय अक्षर के लोग अपने जीवन में कभी भी सही चुनाव नहीं कर पाते. इनमे किसी चीज़ के निर्णय लेने की क्षमता बहुत कम होती है. वही जिन लोगो का नाम जेड अक्षर से जुड़ा होता है वे बहुत आशावान एवं व्यवहारिक होने के साथ ही जमीन से भी जुड़े होते है.

।।आठ वर्षीय पाकिस्तानी बालक करीम खान घुस गया भारत की सीमा में सैनिकों ने दिया मानवीयता का परिचय ।।

भारत-पाकिस्तान की राजस्थान के बाड़मेर से सटी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर बीती शाम एक पाकिस्तानी बालक भूलवश प्रवेश कर गया। रास्ता भूल जाने के कारण बालक जोर जोर से रोने लगा जिसकी आवाज सुनकर बीएसएफ रेंजर पहुंचे और वस्तुस्थिति जानने के बाद उन्होंने पाक रेंजर्स को इसकी इत्तला दी। पाक रेंजर से तकरीबन दो घंटे की वार्ता करने के बाद सीमा सुरक्षा बल ने आठ वर्षीय बालक करीम खान को सही सलामत पुनः पाकिस्तान रेंजर्स को सौंप कर मानवीयता का परिचय दिया।

।।फायर टीमों ने त्वरित कार्यवाही कर बुझाई जंगल में लगी आग।।

1- आज दिनांक 02/04/2021 समय 12:12 मिनट स्थानीय जनता ने फोन द्वारा फायर यूनिट गौचर को सूचना दी कि बेसिक स्कूल बंदर खंड के समीप जंगल में आग लगी है जोकि स्कूल व स्थानीय मकान की ओर तेजी से बढ़ रही है फायर यूनिट यूनिट गौचर तुरंत घटनास्थल हेतु रवाना हुए । जवानों ने MFE के माध्यम से 1 होज फैलाकर कड़ी मसकद के बाद आग पर पूर्ण रूप से काबू पाया जबकि जनधन की कोई हानि नहीं हुई जिसको समय रहते हुए बचा लिया गया स्कूल के शिक्षकों व स्थानीय जनता ने फायर यूनिट गौचर की भूरी भूरी प्रशंसा की।

2- आज दिनांक 02/04/2021 को समय 11:34 पर वन विभाग की रेंजर आरती मैठानी ने फायर स्टेशन गोपेश्वर स्वयं आकर अवगत कराया गया की ग्राम कठूड (बछेर ) के जंगल मे आग तेजी बढ रही है फायर सर्विस द्वारा तत्काल प्रभाव से घटनास्थल पर पहुंचकर 01 होज रील फैलाकर कई घंटो की मेहनत से आग पर काबू पाया जिससे बड़ी जनधन की हानि होने से बच गई।

।।उत्तराखंड में दम तोड़ती स्वास्थ्य सेवाएं।। एक ओर प्रसूता की मौत।।

1/04/2021 काे आयुषविंग जिला चिकित्सालय रूद्रप्रयाग में पंचकर्म सहायक के पद पर कार्यरत श्रीमती निधि खत्री रगडवाल का प्रसवाेपरान्त अत्यधिक रक्तस्राव के कारण आकस्मिक निधन हो गया इस दुःखद घटना से आयुषविंग परिवार बहुत आहत एवं दुखी है | उत्तराखंड में इस प्रकार की घटनाएं पहले भी कई बार हो चुकी है। लेकिन स्वस्थ्य सेवाओं की सुध लेने वाला कोई नही है।

।।अप्रैल मे होगी सहायक अध्यापक  ( L.T. ) भर्ती की लिखित परीक्षा।।

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग सूचना पत्र जारी कर सहायक अध्यापक ( L.T. ) भर्ती की लिखित परीक्षा को लेकर जानकारी दी है । सहायक अध्यापक के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थी इसके इंतजार में हैं कि आखिर परीक्षा कब होगी । वहीं अब उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ने सभी आवेदकों को साफ कर दिया है कि लिखित परीक्षा अप्रैल में होगी । आयोग के अनुसार , सहायक अध्यापक की यह परीक्षा 25 अप्रैल को प्रस्तावित है । आयोग द्वारा परीक्षा केंद्रों के चयन को लेकर भी अंतिम रुप दिया जा रहा है । आयोग ने जानकारी दी है कि जल्द लिखित परीक्षा की तिथि घोषित कर दी जाएगी और अभ्यर्थियों को जानकारी दी जाएगी ।

।। लैंसडौन में एक सड़क हादसे में एक युवक की मौत हो गई जबकि 11 लोग हुए घायल ।।

लैंसडौन में एक सड़क हादसे में एक युवक की मौत हो गई जबकि 11 लोग घायल हो गए। सभी युवक सेना में भर्ती हेतु आयोजित लिखित परीक्षा देने के लिए थलीसैण से लैंसडौन के लिए यात्रा कर रहे थे। इस बीच लैंसडौन ज़हरीखाल मोटर मार्ग के बीच झारापानी के पास वाहन अनियंत्रित होकर 300 फीट खाई में जा गिरा।

बताया जा रहा है कि सभी एक दूसरे से परिचित थे और उन्होंने मैक्स बुक कराई थी। हादसे के बाद मौके पर चीख पुकार मच गई। स्थानीय निवासियों की सूचना के बाद कोतवाली प्रभारी निरीक्षक संतोष सिंह अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे और रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर युवाओं को बाहर निकालकर हॉस्पिटल पहुंचाया गया।

आज है होलिका दहन ।। जाने पूरी कहानी

प्राचीनकाल में एक हिरण्‍यकश्‍यप नाम का राजा था, वह काफी बलशाली असुर था. उसको अपनी शक्तियों का भी खूब गुमान था. उसका यह अभिमान इस कदर बढ़ गया था कि उसने संपूर्ण प्रजा को उसे भगवान मानकर पूजा करने का आदेश दे डाला. लेकिन उसका बेटा प्रह्लााद नारायण का परम भक्‍त था. वह हर समय श्री हर‍ि-श्री हरि का नाम जपता रहता था. हिरण्‍यकश्‍यप को इससे काफी समस्‍या थी. कई बार उसे खुद समझाया तो कई बार अपनी सभा के मंत्रिमंडल को भेजा. जब भक्त प्रह्लााद नही माना तो परेशान हिरण्यकश्‍यप ने उससे छुटकारा पाने के लिए उसे नदी में डुबोया, पहाड़ से गिरवाया किन्तु उसका बाल भी बांका नहीं हुआ और वह तो बस हरि का भक्ति में ही लीन रहा. पिता के बहुत समझाने के बाद भी जब पुत्र ने श्री विष्णु जी की पूजा करनी बन्द नहीं कि तो हिरण्यकश्यप ने अपने पुत्र को दण्ड देने के लिए दूसरी ही युक्ति निकाली.

हिरण्यकश्यप ने अपनी बहन होलिका को बुलवाया. होलिका अग्निदेव की उपासक थी. अग्निदेव से इन्हें वरदान में ऐसा वस्त्र मिला था जिसे धारण करने के बाद अग्नि उन्हें जला नहीं सकती थी. बस इसी बात के चलते हिरण्‍यकश्‍यप ने उन्‍हें यह आदेश दिया कि वह उनके पुत्र प्रह्लाद यानी कि होलिका के भतीजे को लेकर हवन कुंड में बैठें. भाई के इस आदेश का पालन करने के लिए वह प्रहलाद को लेकर अग्नि कुंड में बैठ गईं. इसके बाद ईश्‍वर की कृपा से इतनी तेज हवा चली कि वह वस्‍त्र होलिका के शरीर से उड़कर भक्‍त प्रहलाद के शरीर पर गिर गया. इससे प्रहलाद तो बच गया लेकिन होलिका जलकर भस्‍म हो गईं. यह देख हिरण्यकश्यप अपने पुत्र से और अधिक नाराज हुआ.

हिरण्यकश्यप को वरदान था कि वह वह न दिन में मर सकता है न रात में, न जमीन पर मर सकता है और न आकाश या पाताल में, न मनुष्य उसे मार सकता है और न जानवर या पशु- पक्षी, इसीलिए भगवान उसे मारने का समय संध्या चुना और आधा शरीर सिंह का और आधा मनुष्य का- नृसिंह अवतार. हिरण्यकश्यप को मारने के लिए भगवान विष्णु नरंसिंह अवतार में खंभे से निकल कर गोधूली समय (सुबह और शाम के समय का संधिकाल) में दरवाजे की चौखट पर बैठकर अत्याचारी हिरण्यकश्यप को मार डाला. तभी से होली का त्यौहार मनाया जाने लगा.

इस कथा से यही धार्मिक संदेश मिलता है कि प्रह्लाद धर्म के पक्ष में था और हिरण्यकश्यप व उसकी बहन होलिका अधर्म निति से कार्य कर रहे थे. अतंत: देव कृपा से अधर्म और उसका साथ देने वालों का अंत हुआ. इस कथा से प्रत्येक व्यक्ति को यह प्ररेणा लेनी चाहिए, कि प्रह्लाद प्रेम, स्नेह, अपने देव पर आस्था, द्र्ढ निश्चय और ईश्वर पर अगाध श्रद्धा का प्रतीक है. वहीं, हिरण्यकश्यप व होलिका ईर्ष्या, द्वेष, विकार और अधर्म के प्रतीक है. होलिका दहन के पूर्व पूजन के दौरान असुर राज ह‍िरण्‍यकश्‍यप और भक्‍तपरायण प्रह्लााद की यह कथा पढ़ने का विधान है. मान्‍यता है कि जो भी जातक इस कथा को पूरी श्रद्धा से पढ़ता या सुनता है. उसपर श्री हरि विष्‍णु की कृपा बनी रहती है. उसकी सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती हैं. साथ ही जीवन की सभी परेशान‍ियां भी दूर हो जाती हैं. सुख-समृद्धि का वास होता है.

इलोजी-होलिका की प्रेम कहानी
हम लोग होलिका को एक खलनायिका के रूप में जानते हैं लेकिन हिमाचल प्रदेश में होलिका के प्रेम की व्यथा जन-जन में प्रचलित है. इस कथा को आधार मानें तो होलिका एक बेबस प्रेयसी नजर आती है जिसने प्रिय से मिलन की खातिर मौत को गले लगा लिया हिरण्यकश्यप की बहन होलिका का विवाह इलोजी से तय हुआ था और विवाह की तिथि पूर्णिमा निकली. इधर हिरण्यकश्यप अपने बेटे प्रहलाद की भक्ति से परेशान था. उसकी महात्वाकांक्षा ने बेटे की बलि को स्वीकार कर लिया. बहन होलिका के सामने जब उसने यह प्रस्ताव रखा तो होलिका ने इंकार कर दिया. फिर हिरण्यकश्यप ने उसके विवाह में खलल डालने की धमकी दी. बेबस होकर होलिका ने भाई की बात मान ली. और प्रहलाद को लेकर अग्नि में बैठने की बात स्वीकार कर ली. वह अग्नि की उपासक थी और अग्नि का उसे भय नहीं था उसी दिन होलिका के विवाह की तिथि भी थी. इन सब बातों से बेखबर इलोजी बारात लेकर आ रहे थे और होलिका प्रहलाद को जलाने की कोशिश में स्वयं जलकर भस्म हो गई. जब इलोजी बारात लेकर पहुंचे तब तक होलिका की देह खाक हो चुकी थी. इलोजी यह सब सहन नहीं कर पाए और उन्होंने भी हवन में कूद लगा दी. तब तक आग बुझ चुकी थी. अपना संतुलन खोकर वे राख और लकड़ियां लोगों पर फेंकने लगे. उसी हालत में बावले से होकर उन्होंने जीवन काटा. होलिका-इलोजी की प्रेम कहानी आज भी हिमाचल प्रदेश के लोग याद करते हैं.

।।आर्मी रिटन की परीक्षा देने जा रहे लडकों की गाड़ी के साथ हुईं दुर्घटना।।

आर्मी रिटन की परीक्षा देने जा रहे लडकों की गाड़ी दुर्घटना में बाद तुरंत रेस्क्यू अभियान चलाया गया, अभी तक 12 घायल ओर एक के मौत की खबर आई है।।

राजस्थान के सिरोही जिले में में भ्रष्टाचार का चौंकाने वाला मामला आया सामने ।।एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने तहसीलदार कल्पेश जैन के घर पर की छापेमारी ।।

राजस्थान के सिरोही जिले में में भ्रष्टाचार का चौंकाने वाला मामला सामने आया है। बुधवार को एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम जब पिंडवाड़ा के तहसीलदार के कल्पेश जैन के घर पर छापेमारी के लिए पहुंची तो वह अंदर 20 लाख रुपये की रकम को चूल्हे में जलाने लगे। यही नहीं नोटों को आग के हवाले करने का यह नजारा एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने देखा और इसका वीडियो भी बना लिया गया। घटना का सनसनीखेज वीडियो सामने आया है, जिसमें तहसीलदार की पत्नी भी नोटों को जलाने में सहयोग करती दिख रही हैं। वहीं घर के बाहर से झांक रहा एक शख्स कहता है कि मैडम आप भी इस तरह से साथ दे रही हैं, यह अच्छी बात नहीं है।

दरअसल भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की एक टीम ने पिंडवाडा के राजस्व निरीक्षक परबत सिंह को एक लाख रुपये की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया था। अधिकारी ने बताया कि आरोपी परबत सिंह द्वारा रिश्वत की राशि पिंडवाड़ा के तहसीलदार कल्पेश कुमार जैन के लिए लेने की बात स्वीकार करने पर जब ब्यूरो की टीम तहसीलदार के निवास पर उसे गिरफ्तार करने पहुंची तो उसने अपने घर के दरवाजे बंद करके भीतर करीब 15-20 लाख रुपये की भारतीय मुद्रा जला भी दी। उन्होंने बताया कि तहसीलदार को गिरफ्तार कर लिया गया है। तहसीलदार ने 500 रुपये के नोटों की गड्डियों को गैस-चूल्हे में जलाने की कोशिश की।

।। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत हुऐ कोरोना पॉजिटिव।  चिकित्सकों ने किया एम्स रेफर।।

कोरोना संक्रमित पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की तबीयत खराब हो गई है। उन्हें चिकित्सकों ने एम्स दिल्ली के लिए रेफर कर दिया। उन्हें एयर लिफ्ट कर एम्स भेजा गया है। हरीश रावत पत्नी और बेटी और परिवार के चार लोगों समेत बुधवार को कोरोना संक्रमित पाए गए थे।

बताया गया कि हरीश रावत का बुखार कम नहीं हो रहा है। इस वजह से उन्हें दिल्ली एम्स रेफर किया गया है। हरीश रावत को एयरलिफ्ट कर दिल्ली एम्स ले जाया जा रहा है। इसकी पुष्टि उनके पूर्व सलाहाकार सुरेंद्र अग्रवाल ने की है। हरीश रावत को गुरुवार की सुबह कुछ जांचों के लिए दून अस्पताल ले जाया गया था। जहां चिकित्सकों ने उनकी हालत में सुधार होते हुए नहीं देखा तो उन्हें दिल्ली एम्स रेफर कर दिया।

।। उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद ने अध्यापक पात्रता परीक्षा की परीक्षा शांतिपूर्वक संपन्न कराई।।

उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद ने अध्यापक पात्रता परीक्षा (यूटीईटी प्रथम व द्वितीय) की परीक्षा शांतिपूर्वक संपन्न कराई। परीक्षा के दौरान कोविड-19 का पालन कड़ाई से कराया गया। परीक्षा प्रदेश के 29 शहरों में दो पालियों में कराई गई। 

बुधवार को प्रदेश के 29 नगरों के 117 परीक्षा केंद्रों पर परीक्षा का आयोजन हुआ। परिषद की सचिव डॉ. नीता तिवारी ने बताया कि यूटीईटी  प्रथम व द्वितीय की परीक्षा बुधवार को दो पालियों में आयोजित की गयी। पहली पाली में यूटीईटी प्रथम की परीक्षा सम्पन्न हुई। जिसके लिए पंजीकृत 42,817 अभ्यर्थियों में से 39,309 (91.81%) अभ्यर्थियों ने परीक्षा में हिस्सा लिया। यूटीईटी द्वितीय की परीक्षा का आयोजन दूसरी पाली में किया गया।

पुलिस अधीक्षक ने लाठी चार्ज करने वाले दो पुलिस कर्मियों को निलंिबत कर दिया और एक को लाइन हाजिर कर दिया गया।

जोशीमठ की शराब की दुकान पर ओवर रेटिंग को लेकर हुए विवाद के बाद पुलिस ने बिना देरी किए वाइन शाॅप पर पंहुचकर ओवर रेटिंग को लेकर बहस कर रहे तीन लोगों पर लाठियाॅ भाॅजना शुरू कर दिया। पास खडे किसी व्यक्ति द्वारा पुलिसया कार्यवाही की वाीडियो बना दी गई। वीडियो वायरल होते हुए गुस्साए व्यापारियों व लोगांे का हुजुम थाने पर उमड पडा और नारेबाजी करते हुए दोषी पुलिस कर्मियों को शीध्र बर्खास्त करने की मांग की गई। बताया गया कि देर सायं को पुलिस अधीक्षक ने लाठी चार्ज करने वाले दो पुलिस कर्मियों को निलंिबत कर दिया और एक को लाइन हाजिर कर दिया गया।

।। भारत के मंदिर अपने आर्किटेक्चर से हैरान करता हाफेश्वर मंदिर।।

भारत के मंदिर अपने आर्किटेक्चर से हैरान तो करते ही हैं, कभी-कभी प्रकृति भी अपनी अठखेलियों से इसमें चार चांद लगा देती है

गुजरात के छोटा उदयपुर जिले के कवांट तहसील में स्थित एक मंदिर का नाम #हाफेश्वर मंदिर है । ऋषि मार्केंडेय ने यहां युधिष्ठिर को शिव की कथा सुनाई थी । नर्मदा के बढ़ते जलस्तर के कारण यह सम्पूर्ण मंदिर धीरे-धीरे जलमग्न हो चला था । पूरे 18 वर्षों तक पानी में जलमग्न रहने के बाद यह प्राचीन मंदिर पुनः दिखने लगा है । इसे महादेव की माया कहें या प्रकृति की क्रीड़ा.. लेकिन जो भी बहुत अद्भुत है।

।।आज है फूलारी का अंतिम दिन।।

आज से शुरू हो रहा चैत का महीना उत्तराखंडी समाज के बीच विशेष पारंपरिक महत्व रखता है। चैत की संक्रांति यानी फूल संक्रांति से शुरू होकर इस पूरे महीने घरों की देहरी पर फूल डाले जाते हैं। इसी को गढ़वाल में फूल संग्राद और कुमाऊं में फूलदेई पर्व कहा जाता है। फूल डालने वाले बच्चे फुलारी कहलाते हैं। पंडित महावीर प्रसाद डंगवाल के मुताबिक, फूल संक्रांति 15 मार्च की सुबह 5 बजकर 20 मिनट से शुरू हो गई थी। 21 मार्च को 8वे दिन समाप्त हो जायेगा।।

।। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड, प्रयागराज द्वारा प्रदेश के सहायता प्राप्त अशासकीय माध्यमिक विद्यालयों में प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक के 12603 रिक्त पदों पर ऑनलाइन आवेदन।।

उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड, प्रयागराज द्वारा प्रदेश के सहायता प्राप्त अशासकीय माध्यमिक विद्यालयों में प्रशिक्षित स्नातक शिक्षक के 12603 रिक्त पदों पर ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किया गया है। 16 मार्च से आवेदन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इच्छुक अभ्यर्थी बोर्ड की आधिकारिक वेबसाइट http://www.upsessb.org पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त अन्य किसी भी माध्यम से प्रेषित आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे। भर्ती प्रक्रिया के जरिए चयनित अभ्यर्थियों को 142400 रुपये तक का वेतन दिया जा सकता है। इस नौकरी से संबंधित अन्य महत्वपूर्ण जानकारी जैसे योग्यता, पदों का विवरण, वेतन आदि के लिए अभ्यर्थी अगली स्लाइड पर जा सकते हैं। 

।। आईटीबीपी के हिमवीरों ने चलाया स्वच्छता अभियान।।

आईटीबीपी के बसंत कुमार नोगल के नेतृत्व में आए आईटीबीपी के हिमवीरों ने स्वच्छता अभियान चलाया। अभियान के तहत लोहावती नदी पर बने श्मशान घाट पर फैली लकड़ियों, कपड़ों को एकत्र कर उसका निस्तारण किया गया। नमामि गंगे की नोडल अधिकारी डॉ. सुमन पांडेय, सदस्य डॉ. तौफीक अहमद, डॉ. प्रकाश लखेड़ा, डॉ. अर्चना त्रिपाठी, डॉ. महेश त्रिपाठी, डॉ. रुचिर जोशी, डॉ. रवि सनवाल, डॉ. कमलेश शक्टा ने लोगों से अपने आसपास बहने वाली नदियों, गधेरों को स्वच्छ रखने में सहयोग करने की बात कही। अभियान में ऋषेश्वर मंदिर प्रबंध समिति के अध्यक्ष प्रहलाद मेहता, चेयरमैन गोविंद वर्मा, सीमा देवी, लक्ष्मण बिष्ट, दीपक अधिकारी, सचिन जोशी, ईओ कमल कुमार, आईटीबीपी के उप सेनानी बरेंदर सिंह, एसएम अर्जुन सिंह आदि मौजूद थे।

।।औरतों को फटी हुई जींस में देखकर हैरानी होती है बयान न पर विपक्ष को मिला बोलने का मौका।।

महिलाओं को लेकर एक बयान देकर घिर गए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि औरतों को घुटने के पास फटी जींस पहने देखकर हैरानी होती है। ऐसी महिलाएं बच्चों के सामने ऐसे कपड़े पहनेंगी तो उन्हें क्या संस्कार देंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि औरतों को फटी हुई जींस में देखकर हैरानी होती है, मन में सवाल उठता है कि इससे समाज में क्या संदेश जाएगा।

अब उनके इस बयान पर विपक्ष के साथ-साथ आम लोगों ने तीखी प्रतिक्रिया दी है। प्रदेश कांग्रेस प्रवक्ता गरिमा दसौनी ने कहा कि मुख्यमंत्री जैसे कद के व्यक्ति को किसी के पहनावे पर ऐसी अभद्र टिप्पणी करना बिल्कुल शोभा नहीं देता। उन्होंने कहा, ‘मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने एक अमर्यादित और ओछी टिप्पणी की है कि आजकल के बच्चे फटी जींस पहनकर अपने आप को बड़े बाप का बेटा समझते हैं। मुख्यमंत्री होने से आपको यह प्रमाणपत्र नहीं मिल जाता कि आप किसी के व्यक्तिगत पहनावे पर टिप्पणी करें।’

।। बढ़ते तापमान के साथ ही फिर जलने लगे जंगल, फायर सर्विस के बुलंद हौसलों के आगे झुकना पड़ा आग की प्रचंडता को।।

आज दिनांक17.03.2021 को पुलिस कंट्रोल रूम के द्वारा अग्निशमन केंद्र रुद्रप्रयाग पर सूचना प्राप्त हुई कि होटल सम्राट (खांकरा) के नीचे जंगल में आग लगी हुई है, जो तेजी से ऊपर की ओर बढ़ रही है।
सूचना प्राप्त होते ही फायर यूनिट घटनास्थल के लिए रवाना हुई घटनास्थल पर पहुंचकर देखा कि ऊपर की ओर बढ़ रही थी।
फायर यूनिट द्वारा MFE की सहायता से मॉनिटर ब्रांच से पंपिंग कर आग को पूर्ण रूप से शांत किया गया।
इस अग्निकांड में कोई जनहानि नहीं हुई है

।। उच्च न्यायालय ने आदेश जारी कर राज्य में सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा के लिए आवेदन की आखिरी तारीख बढ़ाकर 25 मार्च, 2021 कर दी है।।

उत्तराखंड शिक्षक बनने के लिए तैयारी कर रहे युवाओं के लिए एक राहत भरी खबर है। नैनीताल उच्च न्यायालय ने उनके हक में फैसला दिया है। उच्च न्यायालय ने आदेश जारी कर राज्य में सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा के लिए आवेदन की आखिरी तारीख बढ़ाकर 25 मार्च, 2021 कर दी है। अब जल्द ही राज्य सरकार भी इस संबंध में संशोधित अधिसूचना और विज्ञापन जारी कर सकती है।

अधिसूचना के जरिये प्रदेश सरकार उच्च न्यायालय के निर्देशानुसार सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा की नई तिथियों की जानकारी दे सकती है। गौरतलब है कि उच्च न्यायालय के आदेश से पहले सहायक अध्यापक परीक्षा की अंतिम तिथि चार दिसंबर, 2020 थी। अंतिम तिथि को लेकर देहरादून निवासी रवींद्र जुगरान में उच्च न्यायालय में एक याचिका दायर की थी। याचिका पर सुनवाई करते हुए उच्च न्यायालय ने सहायक शिक्षक भर्ती परीक्षा की आखिरी तारीख 25 मार्च तक के लिए आगे बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।

नैनीताल उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश जस्टिस आरएस चौहान और जस्टिस आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ ने राज्य सरकार को आदेश दिया है कि वह परीक्षा के आवेदन की समय सीमा बढ़ाकर 25 मार्च, 2021 तक करें। बता दें कि उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की भर्ती 2020 के तहत सहायक शिक्षकों के लिए रिक्त 1431 पदों पद भर्ती प्रक्रिया शुरू की गई थी। पहले ऑनलाइन आवेदन के लिए चार दिसंबर, 2020 आखिरी तारीख थी।  

।।उत्तराखंड में चैत मास की सक्रांति के पहले दिन से आठवें दिन तक बसंत आगमन की खुशी में फूलों का त्योहार मनाया जाता है ।।

उत्तराखंड में चैत मास की सक्रांति के पहले दिन से ही बसंत आगमन की खुशी में फूलों का त्योहार मनाया जाता है. बच्चे घर-घर जाकर फूलदेयी छम्माये देयी बोलकर लोगों की सुख समृद्धि की कामना करते हैं. इसी के तहत श्रीनगर गढ़वाल में भी फूलदेयी की शुरुआत धूमधाम से की गई.

फूलों की देवी की होती है पूजा
फूलदेयी पर्व पर बच्चे सूबह घर-घर जाकर चौखट पर रंग बिरंगे फूलों को चढ़ाते हुए घर की खुशहाली की कामना करते हैं. गीत गाए जाते हैं क्योंकि इसी दिन से हिन्दू नव वर्ष चैत्र मास की शुरुआत मानी जाती है. फूलों का ये पर्व कहीं-कहीं पूरे महीने भर चलता है तो कहीं 8 दिनों तक बच्चे फ्योली, बुरांस और दूसरे रंग बिरंगे फूलों को लाते हैं. गोघा माता को फूलों की देवी माना जाता है जिनकी इस समय पूजा भी की जाती है. फूलों की देवी को बच्चे पूजते हैं और आज भी ये पर्व को धूमधाम से मनाया जाता है.

प्रेम और त्याग का प्रतीक है फूल
बसंत आगमन के साथ पहाड़ के कोने-कोने में फ्योली के पीले फूल खिलने लगते हैं. फ्योली का फूल पहाड़ में प्रेम और त्याग का सबसे सुंदर प्रतीक माना जाता है. फूलदेयी पर्व बच्चों को प्राकृतिक प्रेम और सामाजिक चिंतन की शिक्षा देता है. श्रीनगर गढ़वाल में आज फूलदेयी के त्योहार की शुरुआत आज धूमधाम से की गई. जिसमें श्रीनगर के रंगकर्मी, समाजसेवी और अन्य लोगों ने मिलकर इस त्योहार को धूमधाम मनाया.

।। पूर्व बीजेपी (BJP) नेता यशवंत सिन्हा शनिवार को तृणमूल कांग्रेस (TMC) में हुए शामिल।।

पूर्व बीजेपी (BJP) नेता यशवंत सिन्हा (Yashwant Sinha) शनिवार को तृणमूल कांग्रेस (TMC) में शामिल हो गए. पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता स्थित टीएमसी भवन में सिन्हा ने तृणमूल की सदस्यता ली. अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में वित्त और विदेश मंत्रालय का जिम्मा संभाल चुके यशवंत सिन्हा ने इस दौरान एक प्रेस वार्ता में कहा कि मेरे फैसले से लोग चौंक रहे होंगे. मैं पार्टी पॉलिटिक्स से अलग हो गया था, लेकिन आज हमारे देश के मूल्य खतरे में हैं और उनका अनुपालन नहीं हो रहा है.

।।विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस 15 मार्च।।

ResMed

एक उपभोक्ता के तौर पर आपका अधिकार है कि आप किसी भी उत्पाद अथवा कंपनी से जुड़ी सभी नियमों एवं शर्तों के बारे में जानकारी हासिल कर सकते हैं. 

विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस: जानिए क्या हैं एक ग्राहक के तौर पर आपके अधिकार

विश्व भर में 15 मार्च के दिन विश्व उपभोक्ता अधिकार दिवस मनाया जाता है. इस दिवस को मनाने का उद्देश्य है कि उपभोक्ता अपने अधिकारों के प्रति सजग हों.

एक उपभोक्ता को इस बात की भी जानकारी होनी चाहिए कि वह अगर किसी भी चीज पर खर्च करा रहा है, तो कहीं उसका नुकसान नहीं हो रहा है. 

भारत सरकार देश में ग्राहकों को जागरूक करने के लिए लंबे समय से ‘जागो ग्राहक जागो’ अभियान चला रही है. 

कब हुई थी भारत में उपभोक्ता आंदोलन की शुरुआत 

भारत में साल 1966 में उपभोक्ता आंदोलन की शुरुआत महाराष्ट्र से हुई थी. इसके बाद साल 1974 में  ग्राहक पंचायत की स्थापना के बाद उपभोक्ता कल्याण के लिए संस्थाओं का गठन भी किया गया था. 

देश में 9 दिसंबर, 1986 को उपभोक्ता संरक्षण विधेयक पारित किया गया था, उस समय राजीव गांधी भारत के प्रधानमंत्री थे. साल 2020 में इस विधेयक में कुछ संशोधन किए गए, जिसके बाद यह अभियान और मजबूत हुआ. 

क्या है उपभोक्ता संरक्षण कानून

केंद्र सरकार ने उपभोक्ता संरक्षण कानून में कई बदलाव किए हैं. इन बदलावों के बाद कंपनियों की अपने विज्ञापन के प्रति जवाबदेही और बढ़ गई है.

इन विज्ञापनों में काम करने वाले कलाकार भी अब विज्ञापन को लेकर पहले से अधिक जवाबदेह होंगे. 

।। ब्लॉक बीरोखाल ग्राम मंगरो के पास रासियामहां देव से ललितपुर के बीच हुई एक दुर्घटना ।।

आज बड़े दुःख की बात हैं कि ब्लॉक बीरोखाल ग्राम मंगरो के पास रासियामहां देव से ललितपुर के बीच आज एक दुर्घटना हो गई हैं कुछ दिन पहले यह दोनों सदस्य ukdd पार्टी के प्रचार मे सतपुली मे आये थे
भगवान उनकी आत्मा को शांति दे 🙏

कमर तोड़ महगाई / चरम पर बेरोजगारी आदि कई मुद्दों के खिलाफ श्रीनगर में विशाल जन आक्रोश रैली में अनगिनत जन सैलाब की कुछ झलकियां ।।

कमर तोड़ महगाई / चरम पर बेरोजगारी आदि कई मुद्दों के खिलाफ श्रीनगर में विशाल जन आक्रोश रैली में अनगिनत जन सैलाब की कुछ झलकियां ।।

।।उत्तराखंड क्रांति दल से जुड़े युवा।।


आज उत्तराखंड क्रांति दल के केंद्रीय कार्यालय में कैलाश भट्ट जी व रायपुर ब्लॉक के अध्यक्ष अनिल डोभाल की अध्यक्षता में रायपुर विधानसभा से कई लोगों ने दल की सदस्यता ग्रहण की। श्री डोभाल जी ने बताया की सदस्यता लेने वाले सभी युवा रायपुर से हैं व वह सब उक्रांद के श्रम प्रकोष्ठ के लिए काम करेंगे। सदस्यता लेते हुए युवाओं ने कहा कि राज्य में भाजपा और कांग्रेस को देखते हुए अब उन्हें लगा कि अब राज्य के पास सिर्फ एक ही विकल्प है और वह उत्तराखंड क्रांति दल है। इस बीच दल के वरिष्ठ नेता लताफत हुसैन व श्री जबर सिंह पावेल जी ने अपने भाषण से युवाओं में जोश भरा। इस अवसर पर राकेश कुमार, रोहित बिष्ट, मोहित बिष्ट, मनदीप सिंह, रविंद्र सिंह, विक्रांत बिंजोला, प्रकाश, अजय बिंजोला, गौरव, अरुण पोखरियाल, राकेश चौहान आदि ने दल की सदस्यता ली। दल के राजेंद्र प्रधान, अशोक नेगी जी व अन्य कार्यकर्ता उपस्थित है

।।भारतवर्ष में प्रकृति प्रेमियों के स्वरूप संपत उत्तराखण्ड का लोकपर्व फूलदेई की बहुत बहुत शुभकामनाएं।।


    फूलदेई देवभूमि उत्तराखण्ड राज्य का एक त्यौहार है जो चैत्र माह के आगमन पर मनाया जाता है। सम्पूर्ण हिमालय राज्यों में इस चैत्र महीने के प्रारम्भ होते ही अनेक पुष्प खिल जाते हैं जिनमें फ्यूंली, लाई, ग्वीर्याल, किनगोड़, हिसर, बुराँस आदि प्रमुख हैं। चैत्र की पहली गते से छोटे-छोटे बच्चे हाथों में कैंणी (बारीक बांस की कविलास) अर्थात यहां पर शिव के कैलाश में सर्वप्रथम सतयुग में पुष्प की पूजा और महत्व का वर्णन सुनने को मिलता है। पुराणों में वर्णित है कि शिव शीत काल में अपनी तपस्या में लीन थे ऋतू परिवर्तन के कई बर्ष बीत गए लेकिन शिव की तंद्रा नहीं टूटी। माँ पार्वती ही नहीं बल्कि नंदी शिव गण व संसार में कई बर्ष शिव के तंद्रालीन होने से बेमौसमी हो गये। आखिर माँ पार्वती ने ही युक्ति निकाली कविलास में सर्वप्रथम फ्योली के पीले फूल खिलने के कारण सभी शिव गणों को पीताम्बरी जामा पहनाकर उन्हें अबोध बच्चों का स्वरुप दे दिया। फिर सभी से कहा कि वह देव क्यारियों से ऐसे पुष्प चुन लायें जिनकी खुशबू पूरे कैलाश को महकाए सबने अनुसरण किया और पुष्प सर्वप्रथम शिव के तंद्रालीन मुद्रा को अर्पित किये गए जिसे फुलदेई कहा गया। साथ में सभी एक सुर में आदिदेव महादेव से उनकी तपस्या में बाधा डालने के लिए क्षमा मांगते हुए कहने लगे- “फुलदेई क्षमा देई, भर भंकार तेरे द्वार आये महाराज”! शिव की तंद्रा टूटी पर बच्चों को देखकर उनका गुस्सा शांत हुआ और वे भी प्रसन्न मन इस त्यौहार में शामिल हुए तब से पहाडो में फुलदेई पर्व बड़े धूमधाम से मनाया जाने लगा जिसे आज भी अबोध बच्चे ही मनाते हैं और इसका समापन बूढे-बुजुर्ग करते हैं। सतयुग से लेकर वर्तमान तक इस परम्परा का निर्वहन करने वाले बाल-ग्वाल पूरी धरा के ऐसे वैज्ञानिक हुए जिन्होंने फूलों की महत्तता का उदघोष श्रृष्टि में करवाया तभी से पुष्प देव प्रिय, जनप्रिय और लोक समाज प्रिय माने गए। पुष्प में कोमलता है अत: इसे पार्वती तुल्य माना गया। यही कारण भी है कि सबसे ज्यादा लोकप्रिय महिलाओं के लिए है जिन्हें सतयुग से लेकर कलयुग तक आज भी महिलायें आभूषण के रूप में इस्तेमाल करतीं हैं। बाल पर्व के रूप में मनायाजाता हैं।।

Follow us in kutumb app

A TO Z TIME NEWS का कुटुंब एप्प आ गया है ।

सभी पदाधिकारी और सदस्य नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके एप्प इंस्टॉल करें और अपना पहचान पत्र डाउनलोड करें 👇👇
https://kutumb.app/a-to-z-time-news?ref=SVLWQ

।। रीट परीक्षा महावीर जयंती 25 अप्रैल  को आयोजित नहीं करने की मांग ।।

राजस्थान  में अजमेर नगर निगम के उपमहापौर नीरज जैन ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर रीट परीक्षा महावीर जयंती 25 अप्रैल  को आयोजित नहीं करने की मांग की है। जैन ने अपने पत्र में कहा कि रीट की परीक्षा महावीर  जयंती के बजाए किसी और दिन करवाकर जैन समाज के अभ्यर्थियों को राहत प्रदान  करें। उन्होंने कहा कि महावीर जयंती के दिन रीट परीक्षा  आयोजन की घोषणा से जैन समाज के लिए धर्म संकट खड़ा हो गया है जिसके चलते जैन  समाज के बेरोजगार युवाओं के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है।  

उन्होंने पत्र में  लिखा है कि जैन समाज के सबसे बड़े धार्मिक पर्व महावीर जयंती पर आज तक कभी  कोई परीक्षा आयोजित नहीं की गई लेकिन यह पहला मौका है कि जब महावीर जयंती  के दिन परीक्षा आयोजित की जा रही है।
       

कोलकाता WB Assembly Election 2021 । पूर्व केंद्रीय मंत्री और पूर्व भाजपा नेता यशवंत सिन्हा शनिवार को ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए

कोलकाता WB Assembly Election 2021 । पूर्व केंद्रीय मंत्री और पूर्व भाजपा नेता यशवंत सिन्हा शनिवार को ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए। मिली जानकारी के मुताबिक बीते कई सालों में भाजपा में दरकिनार किए जा चुके यशवंत सिंह लगातार भाजपा के खिलाफ ही बयानबाजी कर रहे थे। अटेलबिहारी वाजपेयी के कार्यकाल में यशवंत सिन्हा ने कई अहम मंत्रालयों का कार्यभार संभाला था, लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से पटरी नहीं बैठ पाने के कारण लगातार पार्टी में दरकिनार रहे।

।। उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत का मंत्रिमंडल विस्तार आज शाम को होगा। ।।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत का मंत्रिमंडल विस्तार आज शुक्रवार शाम को होगा। राजभवन को इसके लिए सूचित किया जा चुका है। सूत्रों की मानें तो संगठन, सांसदों सहित विधायकों से फीडबैक ले लिया गया है। कैबिनेट मंत्रियों के नामों पर अंतिम निर्णय दिल्ली की मुहर के बाद ही होगा। संगठन में आपसी खींचतान की वजह से भाजपा संगठन को नामों पर मुहर लगाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सूत्रों की मानें तो त्रिवेंद्र सरकार में सबसे ज्यादा पावरफुल मंत्री रहे मदन कौशिश की छुट्टी हो सकती है। इसी के साथ ही सरकारी प्रवक्ता का पद भी उनसे लिया जा सकता है। कौशिक की बतौर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के पद पर नियुक्ति की गई है। सूत्रों ने बताया कि भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत को डिप्टी सीएम की जिम्मेदारी दी जा सकती है। अगर ऐसा होता है तो, प्रदेश की 20 सालों की राजनीति में पहली बार किसी को डिप्टी सीएम बनाया जाएगा।

राजनीतिक सूत्रों की मानें तो, कौशिक के साथ ही उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. धन सिंह रावत और शिक्षा मंत्री अरविंद को भी ड्रॉप किया जा सकता है। वहीं,अटकलों के बाजार में गढ़वाल व कुमाऊं के विधायकों को बैलेंस बनाने के लिए कैबिनेट में शामिल किया  जा सकता है। यमकेशवर विधायक ऋतू खंडूरी, डिडिहाट से बिशन सिंह चुफाल, कालाढूंगी से बंशीधर भगत और खटीमा से पुष्कर सिंह धामी को कैबिनेट में शामिल किया जा सकता है। ऐसा करने से तीरथ, गढ़वाल व कुमाऊं मंडलों में बैलेंस करने की पूरी कोशिश होगी ताकि अगले साल आने वाले विधानसभा चुनाव -2022 में भाजपा की दोबारा सरकार बन सके। शुक्रवार शाम को राजभवन में विधायकों को पद व गोपनियता की शपथ दिलाई जा सकती है। 

।। दिल्ली सरकार (Delhi Government) अगले वित्त वर्ष 2021-22 में कुल बजट 69,000 करोड रुपए का प्रस्तुत किया।।

नई दिल्ली. दिल्ली सरकार (Delhi Government) अगले वित्त वर्ष 2021-22 में भी दिल्ली की जनता को तमाम मुफ्त योजनाओं का लाभ देती रहेगी. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने बतौर वित्त मंत्री आज दिल्ली विधानसभा (Delhi Assembly) में वर्ष 2021-22 के बजट अनुमानों को सदन में पेश करते हुए कहा है कि दिल्ली वालों को जो सुविधाएं मिल रही थी वह आगे भी जारी रहेगी. दिल्ली के लिए अगले अगले वित्त वर्ष के लिए कुल बजट 69,000 करोड रुपए का प्रस्तुत किया गया.

।।सच हुई अफ़वाह माननीय धन सिंह रावत के मुख्यमंत्री बनने की।।

1 जून 2020 को धन सिंह रावत के मुख्यमंत्री बनने की अफवाह फैली थी। इस बात का ज़िक्र खुद धन सिंह रावत ने अपने फेसबुक पेज पर किया था ।यह एक राजनीति का हिस्सा था या अफवाह थी या कुछ और इस बारे में कुछ नही कहा जा सकता है । यदि अफवाह थी तो उस समय कोई कार्यवाही क्यों नही हुई ।

।।भीड़ को और ज्यादा दिखाने के चक्कर में पुरानी तस्वीरें पोस्ट कर दीं।। कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड।।

कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड

पीएम मोदी की 7 मार्च को कोलकाता के ब्रिगेड ग्राउंड में हुई रैली में अच्छी-खासी भीड़ जुटी थी. लेकिन बीजेपी के कुछ नेताओं ने इस भीड़ को और ज्यादा दिखाने के चक्कर में पुरानी तस्वीरें पोस्ट कर दीं. सोशल मीडिया ने बीजेपी का ये झूठ पकड़ लिया और फिर विपक्ष को मौका मिल गया.

।। त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया।।

उत्तराखंड में बड़ी सियासी हलचल सामने आई है। मंगलवार को राज्यपाल बेबीरानी मौर्य से मुलकात के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत (Trivendra Singh Rawat) ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। बुधवार को नए मुख्यमंत्री के नाम का ऐलान किया जाएगा। बता दें कि भारतीय जनता पार्टी ने पहले दिल्ली से दो पर्यवेक्षकों को राज्य में भेजा था। उसके बाद सीएम ने खुद दिल्ली जाकर पार्टी के सीनियर नेताओं से मुलाकात की थी। लंबे घटनाक्रम के बाद मंगलवार को उत्तराखंड के सीएम रावत के इस्तीफे के बाद राज्य के राजनीतिक संकट का पटाक्षेप हो गया।

।।मुख्यमंत्री बदलना प्रदेश के चार साल के कुशासन पर मोहर।। UKD


उत्तराखंड क्रान्ति दल का कहना है कि भाजपा ने उत्तराखंड को मुख्यमंत्री बनने की फैक्ट्री बना दिया उत्तराखंड क्रान्ति दल के केन्द्रीय प्रवक्ता देवेन्द्र चमोली ने कहा कि भाजपा व काग्रेस ने राज्य बनने के ये 20 साल मुख्यमंत्रियों की अदला बदली में विता दिये जो नवोदित राज्य का दुर्भाग्य है । उन्होंने कहा कि नेता दिल्ली से थोपे जाते है ओर उनकी प्रतिवद्धता पहाड़ के विकास से ज्यादा दिल्ली मे बैठे आकाओं को खुश करने की रहती है।
वर्तमान घटनाक्रम से ये साबित हो गया कि केन्द्र की मोदी सरकार ने गलत नेतृत्व के हाथों उत्तराखंड की कमान सौंपकर चार साल में प्रदेश का विकास ठप किया है। उन्होंने कहा कि 20 वर्षो में 10 मुख्यमंत्रियों के पास उत्तराखंड के विकास का कोई खाका ही नहीं था आज तक कोई भी प्रदेश की स्थाई राजधानी घोषित करने तक की हिम्मत नहीं जुटा पाया।

।।स्टेडियम का नाम बदलना सरदार वल्लभ भाई पटेल का अनादर करना है।।

गुजरात के नरेंद्र मोदी स्टेडियम में भारत और इंग्लैंड का टेस्ट मैच चल रहा है और चर्चा स्कोरकार्ड और खिलाड़ियों के प्रदर्शन की नहीं बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम की हो रही है.

दरअसल गुजरात क्रिकेट एसोसिएशन ने दुनिया के सबसे बड़े क्रिकेट स्टेडियम का नाम बदलकर नरेंद्र मोदी स्टेडियम कर दिया है. बुधवार को इसका ऐलान किया गया.

अब इसी को लेकर सोशल मीडिया से लेकर अख़बार और टीवी चैनल – सब जगह बहस शुरू हो गई है. बहस का मुद्दा क्रिकेटरों ने नहीं, राजनेताओं ने बनाया है. इसलिए ये खेल का मुद्दा कम और राजनीति का मुद्दा ज़्यादा बन गया है.

कांग्रेस का आरोप है कि पहले स्टेडियम का नाम सरदार पटेल स्टेडियम था. उसका नाम बदलकर नरेंद्र मोदी करना, सरदार वल्लभ भाई पटेल का अनादर करना है.

।।ट्रस्ट ने किया डोर-टू-डोर चंदा अभियान को बंद करने का फैसला ।।

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर पूरे देश में घर-घर जाकर चंदा अभियान चलाया जा रहा था, जिसे अब बंद कर दिया गया है। मिल रही जानकारी के मुताबिक, अब तक 2500 करोड़ से अधिक रुपए जमा हो चुके हैं। अब ट्रस्ट ने डोर-टू-डोर चंदा अभियान को बंद करने का फैसला किया है।

ट्रस्ट के मुताबिक, अब जो लोग मंदिर निर्माण में अपना सहयोग देना चाहते हैं तो ट्रस्ट की वेबसाइट पर लोग ऑनलाइन दान कर सकते हैं। राम जन्मभूमि तीर्थक्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि हम मंदिर के सामने एक जमीन के लिए बातचीत कर रहे हैं। हालांकि अभी तक कुछ भी तय नहीं हुआ है। उन्होंने यह भी कहा कि अयोध्या में मंदिर तीन साल में बनकर तैयार हो जाएगा।

।।एक महीने बाद अभी तक 70 से ज्यादा शवों को निकाला जा चुके है।।

चमोली. तपोवन जल प्रलय को आज पूरा एक महीना हो गया. डर, दुख, यादों और आंसुओं से भरा ये एक महीना ऐसे बीत गया जैसे कल ही बात हो. दुनिया के लिए शायद कुछ न बदला हो, लेकिन यहां के रहवासियों के लिए दुनिया ही बदल गई. एक महीने बाद अभी तक 70 से ज्यादा शवों को निकाला जा चुका है, जबकि 204 से ज्यादा लोग अभी भी लापता हैं. प्रशासन पूरी मुस्तैदी से खोए हुए लोगों के शवों  को निकालने में लगा हुआ है.

आज ही के दिन 7 फरवरी को चमोली में ग्लेशियर हादसा हुआ था. तपोवन रैणी क्षेत्र में ग्लैशियर टूटने के कारण भारी तबाही मची थी और ऋषिगंगा पावर प्रोजेक्ट (Rishiganga Power Project) पूरी तरह नष्ट हो गया था. नदी का जल स्तर लगातार बढ़ने से अलकनंदा नदी उफान पर थी. हादसे के वक्त स्थानीय प्रशासन 10 हजार से अधिक लोगों के प्रभावित होने की आशंका जता रहा था. हादसे के तुरंत बाद ITBP, उत्तराखंड पुलिस, नेशनल डिजास्टर रिलीफ फोर्स और स्टेट डिजास्टर रिलीफ फोर्स की टीम मौके पर रवाना हो गई थीं.

।। जज ने रिश्वत खायी होगी इसलिए फैसला गलत सुनाया । यह कहा है उत्तराखंड बीएड टी ई टी संघ सदस्यों ने अपने फेसबुक comments में।।

क्या है पूरा मामला

उत्तराखंड में 2600 सहायक अध्यापक प्रकिया पर हाई कोर्ट ने रोक लगाई थी । जिसका कारण पहले nios डीएलएड को भर्तीप्रक्रिया में शामिल करना ।फिर nios डीएलएड को भर्तीप्रक्रिया में शामिल न करना मुख्य कारण था ।

इस पर nios डीएलएड ई टी से संघ ने उत्तराखंड हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया जिसका फैसला

nios डीएलएड ई टी से संघ उत्तराखंड 3 मार्च को पक्ष में आया ।। इस फैसले से उत्तराखंड बीएड टी ई टी संघ पूरी तरह से बोखला गया। और इस पर अपनी तरह -तरह निराधार कमेंट अपने फेसबुक पेज पर शेयर कर रहे है।

।। ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैण को तीसरा मंडल घोषित किया।।

.


पिछले साल के बजट सत्र में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गैरसैण को ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित कर दी थी। ब्रहस्पति वार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने फिर से बजट सत्र के दौरान गैरसैंण को उत्तराखंड का तीसरा मंडल घोषित कर दिया। मुख्यमंत्री के इस कदम की सराहना करते हुए उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी खुशी व्यक्त की।

इस मंडल में कुमाऊं और गढ़वाल के दो दो जिलों को सम्मिलित किया गया है। चमोली,रुद्रप्रयाग, अल्मोड़ा और बागेश्वर जिलों को इस मंडल में सम्मिलित किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कमिश्नर और डीआईजी स्तर के अधिकारी गैरसैण में बैठेंगे।

।।Bajaj Auto ने गुरुवार को अपनी सबसे सस्ती ABS वाली मोटरसाइकिल Platina 110 को किया लॉन्च ।। जाने क़ीमत

Bajaj Auto ने गुरुवार को अपनी सबसे सस्ती ABS वाली मोटरसाइकिल Platina 110 को लॉन्च कर दिया है। Platina 110 में राइडर्स की एक्स्ट्रा सेफ्टी के लिए एंटी-लॉक ब्रेकिंग सिस्टम दिया गया है जो तेज स्पीड और असंतुलित ब्रेकिंग को अच्छी तरह से मैनेज करके राइड को सुरक्षित बनाता है। Platina 110 को 65,920 रुपये (एक्स-शोरूम, दिल्ली) में लॉन्च किया गया है। प्लैटिना अपने सेगमेंट की पहली मोटरसाइकिल है जिसमें एबीएस लगाया गया है।

आपको बता दें कि नई प्लैटिना में ABS को 240 mm के फ्रंट डिस्क ब्रेक के साथ जोड़ा गया हैं। एंटी-लॉक ब्रेकिंग या एबीएस के साथ एक इलेक्ट्रॉनिक कंट्रोलर भी लगाया गया है जो टायर्स की निगरानी करता है और अचानक से तेज ब्रेक लगाए जाने पर इस प्रक्रिया को नियंत्रित रूप से अंजाम देता है जिससे मोटरसाइकिल का संतुलन नहीं बिगड़ता है। दरअसल जिन मोटरसाइकिल्स में एबीएस नहीं दिया जाता है उनमें अगर तेजी से ब्रेक अप्लाई किया जाए तो इससे बाइक डिस्बैलेंस होकर गिर जाती है। आपको बता दें कि एबीएस पलक झपकने जितनी देर में ही अपना काम कर देता है जिससे आप सुरक्षित राइड का अनुभव ले पाते हैं। जब अचानक से ब्रेक लगाया जाता है तो पहिए लॉक हो जाते हैं जिससे बाइक स्किड हो सकती है।  

।।वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर कायरन पोलार्ड (Kieron Pollard) इंटरनेशनल क्रिकेट में एक ओवर में 6 छक्के लगाने वाले तीसरे बल्लेबाज बने।।

वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर कायरन पोलार्ड (Kieron Pollard) इंटरनेशनल क्रिकेट में एक ओवर में 6 छक्के लगाने वाले तीसरे बल्लेबाज बन गए हैं. उन्होंने गुरुवार को श्रीलंका के खिलाफ तीन टी20 की सीरीज के पहले मैच में ये उपलब्धि हासिल की. पोलार्ड ने श्रीलंका के स्पिनर अकीला धनंजय (Akila Dhananjay) के ओवर में 6 छक्के लगाए. इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के हर्शल गिब्स (Herschelle Gibbs) और भारतीय ऑलराउंड युवराज सिंह ( Yuvraj Singh) 6 गेंद पर 6 छक्के लगा चुके हैं.

।। दूरस्थ शिक्षा के जरिए एनआईओएस यानी राष्ट्रीय मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान से द्विवर्षीय डीएलएड करने वाले अभ्यर्थियों को उत्तराखंड उच्च न्यायालय से बड़ी राहत मिली।।

  •  दूरस्थ शिक्षा के जरिए एनआईओएस यानी राष्ट्रीय मुक्त विद्यालय शिक्षा संस्थान से द्विवर्षीय डीएलएड करने वाले अभ्यर्थियों को उत्तराखंड उच्च न्यायालय से बड़ी राहत मिल गई है। न्यायमूर्ति रवींद्र मैठाणी की एकलपीठ ने इस संबंध में राज्य सरकार के 10 फरवरी के शासनादेश पर फिलहाल रोक लगा दी है। इसके बाद राज्य में करीब 37 हजार एनआईओएस-डीएलएड अभ्यर्थी राजकीय प्राथमिक विद्यालयों में सहायक अध्यापक के पदों की नियुक्ति प्रक्रिया में शामिल हो सकेंगे।
  • उल्लेखनीय है कि नैनीताल निवासी एनआईओएस-डीएलएड संघ के प्रदेश अध्यक्ष नंदन सिंह बोहरा व अन्य ने उच्च न्यायालय में याचिका दायर कर कहा है कि उन्होंने दूरस्थ शिक्षा माध्यम से डीएलएड किया है, और केंद्र सरकार के शासनादेश के तहत राजकीय प्राथमिक विद्यालय के सहायक अध्यापक पदों की विज्ञप्ति में जारी पदों पर नियुक्ति के लिए आवेदन किया है, मगर सरकार ने केंद्र सरकार के आदेश को दरकिनार कर दस फरवरी को जारी शासनादेश में एनआइओएस से डीएलएड अभ्यर्थियों को नियुक्ति प्रक्रिया में शामिल करने पर रोक लगा दी है। सुनवाई के दौरान याचिकाकर्ता के अधिवक्ता ने कहा कि केंद्र सरकार ने पिछले साल 16 दिसंबर 2020 को और राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद ने छह जनवरी 2021 को जारी आदेशों में दूरस्थ शिक्षा से डीएलएड अभ्यर्थियों को नियमित डीएलएड अभ्यर्थियों के समान माना गया है। मामले को सुनने के बाद एकलपीठ ने प्रदेश सरकार के शासनादेश पर फिलहाल रोक लगा दी।

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेण्‍डरी एजुकेशन (CBSE) ने CTET 2021 परीक्षा का रिजल्‍ट जारी कर दिया है।

  • प्रोविजनल आंसर की 19 फरवरी को जारी की गई थी
  • सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेण्‍डरी एजुकेशन (CBSE) ने CTET 2021 परीक्षा का रिजल्‍ट जारी कर दिया है. जो उम्‍मीदवार इस वर्ष की परीक्षा में शामिल हुए हैं, वे फौरन आधिकारिक वेबसाइट ctet.nic.in अथवा cbse.nic.in पर जाकर अपना रिजल्‍ट चेक कर सकते हैं. परीक्षा 31 जनवरी 2021 को आयोजित की गई थी जिसके रिजल्‍ट आज 26 फरवरी को जारी किए गए हैं. परीक्षा में शामिल हुए उम्‍मीदवार अपने रजिस्‍ट्रेशन नंबर/रोल नंबर की मदद से अपना रिजल्‍ट चेक कर सकते हैं. 

जारी रिजल्‍ट के अनुसार, पेपर 1 में कुल 16,11,423 कैंडिडेट्स ने रजिस्‍ट्रेशन किया था जिसमें से 12,47,217 परीक्षा में शामिल हुए. इसी तरह पेपर 2 में कुल 14,47,551 कैंडिडेट्स रजिस्‍टर्ड थे जिसमें से 11,04,454 कैंडिडेट्स परीक्षा में शामिल हुए हैं. पेपर 1 में 4,14,798 उम्‍मीदवार क्‍वालिफाई हुए हैं जबकि पेपर 2 में 2,39,501 उम्‍मीदवार क्‍वालिफाई हुए हैं.

।।21वीं सदी में इनको हो चुकी है फांसी।।

  1. देश में आखिरी बार फांसी 20 मार्च 2020 को दी गई थी. 2012 में हुए निर्भया कांड के 4 दोषी- अक्षय, विनय, पवन और मुकेश को 8 साल बाद फांसी दी गई थी. उनको सुबह 5.30 बजे फांसी दी गई. 
  2. इससे पहले साल 2015 में याकूब मेमन को फांसी हुई थी. याद हो, याकूब मेमन 1993 में हुए मंबई ब्लास्ट के मुख्य दोषियों में से एक था. 
  3. अफजल गुरु को 2013 में फांसी हुई थी. मालूम हो, वह 2001 में भारतीय संसद पर हुए आतंकवादी हमले का दोषी है.
  4. 2008 में हुए मुंबई ब्लास्ट, जिसे 26/11 ब्लास्ट के नाम से जाना जाता है, उसके दोषी अजमल कसाब को 4 साल बाद 2012 में फांसी दी गई थी.
  5. 21वीं सदी का वह पहला अपराधी जिसको फांसी हुई थी, वह था धनंजय चटर्जी. धनंजय 14 अगस्त 2004 को फांसी के फंदे पर लटकाया गया था. बता दें, वह 1990 में 15 साल की बच्ची हेतल पारेख के रेप और मर्डर का दोषी था. 

।।कृषि कानूनों के खिलाफ जारी प्रदर्शन के बीच पंजाब में हुए निकाय चुनाव के नतीजे आ रहे हैं।।

कृषि कानूनों के खिलाफ जारी प्रदर्शन के बीच पंजाब में हुए निकाय चुनाव के नतीजे आ रहे हैं। अब तक के नतीजे कांग्रेस को जहां सुकून देने वाले हैं, वहीं भाजपा को परेशान करने वाले हैं। पंजाब निकाय चुनाव के नतीजों में कांग्रेस जबरदस्त जीत की ओर बढ़ती दिख रही है, वहीं भाजपा और शिअद का प्रदर्शन काफी खराब दिख रहा है। अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले की अग्नि परीक्षा के तौर पर स्थानीय निकाय चुनाव के लिए आज वोटों की गिनती हो रही है। वोटों की गिनती सुबह 8 बजे से ही जारी है। दरअसल, पंजाब में 14 फरवरी को 117 स्थानीय निकायों पर चुनाव हुए थे, जिसमें से 109 नगरपालिका परिषद और नगर पंचायत हैं, वहीं, 8 नगर निगम शामिल हैं। आठ नगर निगम अबोहर, बठिंडा, बाटला, कपूरथला, मोहाली, होशियारपुर, पठानकोट और मोगा और 109 मगर पालिका परिषदों के 2252 वार्ड्स का रिजल्ट आज शाम तक स्पष्ट हो जाएगा। फिलहाल, शुरुआती नतीजों में कांग्रेस कमाल करती दिख रही है, वहीं नतीजों से ऐसा लग रहा है कि भाजपा को कृषि कानूनों का नुकसान होता दिख रहा है। तो चलिए जानते हैं पंजाब निकाय चुनाव के रुझान और नतीजे। 

।।जम्मू-कश्मीर से लेकर दिल्ली एनसीआर तक भूकंप के तेज झटके ।।

जम्मू-कश्मीर से लेकर दिल्ली एनसीआर तक भूकंप के तेज झटके महसूस किए गए हैं. इस भूकंप का केंद्र ताजिकिस्तान में था, जहां इसकी तीव्रता 6.3 मापी गई. ये भूकंप रात 10 बजकर 31 मिनट पर आया. भारत में पंजाब, श्रीनगर, दिल्ली-एनसीआर समेत कई शहरों में भूकंप के झटके महसूस किए गए.

7000 रुपये से कम कीमत वाले स्मार्टफोन

भारतीय स्मार्टफोन मार्केट में 7,000 रुपये से कम कीमत वाले स्मार्टफोन को काफी पसंद किया जाता है। अगर 7000 रुपये से कम कीमत वाले स्मार्टफोन ब्रांड की बात करें, तो इसमें itel ने बाजी मारी है। स्मार्टफोन ब्रांड itel ने 7000 रुपये से कम कीमत वाले बेस्ट स्मार्टफोन की लिस्ट में Samsung को पीछे छोड़कर टॉप स्पॉट हासिल किया है। CMR के सर्वे में ब्रांड ट्रस्ट के मामले में itel को 42 फीसदी के साथ पहला स्थान मिला है। जबकि 39 फीसदी ब्रांड ट्रस्ट के साथ Samsung दूसरे पायदान पर है। वही 45 फीसदी के साथ तीसरे पायदान पर Xiaomi का नाम सामने आता है। itel को प्रोडक्ट क्वॉलिटी में 42 फीसदी, अफोर्डेबिलिटी में 44 फीसदी, ट्रेंडी टेक्नोलॉजी में 42 फीसदी और लोकलाइजेशन और इनोवेटिव मार्केट अप्रोच में 42 फीसदी और सेल्स सर्विस में 43 फीसदी लोगों ने पंसद किया है। 

।।Nios डीएलएड के बारे मैं सोशल मीडिया में फ़र्जी कहने की हुई । पुलिस में शिकायत।।

Nios डीएलएड के बारे में सोशल मीडिया पर कई प्रकार से दुषप्रचार हो रहा था। इस बारे में nios डीएलएड टी इ टी संघ ने देहरादून में लिखित शिकायत दी है।

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा(सीटीईटी) में सेंधमारी करने वाले सॉल्वर गिरोह का एसटीएफ ने भंडाफोड़

केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा(सीटीईटी) में सेंधमारी करने वाले सॉल्वर गिरोह का एसटीएफ ने भंडाफोड़ किया। प्रयागराज व गोरखपुर में छापेमारी करते हुए कुल सात सदस्यों को गिरफ्तार किया गया। इनमें से छह प्रयागराज में पकड़े गए जिनमें तीन सॉल्वर व एक अभ्यर्थी शामिल हैं । इनके कब्जे से एडमिट कार्ड, जाली आधार-पैन के अलावा नगद व चार लाख के एडवांस चेक बरामद हुए हैं।

सीटीईटी 20 का आयोजन रविवार को दो पालियों में किया गया था। एसटीएफ अफसरों के मुताबिक, इसी दौरान सूचना मिली कि केपी उच्च शिक्षा संस्थान झलवा व गोरखपुर में इंदिरा गांधी गर्ल्स डिग्री कॉलेज रामपुर, तारामंडल में मूल अभ्यर्थियों की जगह सॉल्वर बैठे हैं। इस पर गोरखपुर एसटीएफ को सूचना देते हुए स्थानीय इकाई झलवा स्थित केंद्र में पहुंची तो वहां दो सॉल्वर परीक्षा देते मिले। इनमेें से एक महिला है।

बदरीनाथ हाईवे रविवार की दोपहर एक कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई। हादसे में पांच लोगों की मौत हुई है।

बदरीनाथ हाईवे पर आज रविवार की दोपहर एक कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई। हादसे में पांच लोगों की मौत हुई है। जानकारी के मुताबिक यह हादसा बदरीनाथ हाईवे पर देवप्रयाग से 17 किमी. दूर सौड़पानी में हुआ है। जहां एक कार गहरी खाई में गिर गई। स्थानीय लोगों ने पुलिस को हादसे की सूचना दी। जिसके बाद पुलिस और प्रशासन की टीम मौके पर पहुंची व राहत बचाव कार्य शुरू किया।

बताया जा रहा है कि कार चालक को छोड़ बाकी यह सभी आपस में रिश्तेदार हैं और यह कार वह किराए पर गुड़गांव से लेकर आए थे। अरकणी गांव में अपने किसी रिश्तेदार की मृत्यु होने पर यह लोग शोक संवेदना प्रकट करने आए थे। लेकिन वापसी में यह खुद ही काल के ग्रास बन गए। यह कार उसका मालिक/चालक अजीत पुत्र करतार सिंह निवासी तमसपुर झझर हरियाणा चला रहा था।

सीबीएसई बोर्ड रविवार को केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) 135 शहरों में आयोजित करवा रहा है। कोविड-19 संक्रमण से बचाव के चलते सीबीएसई ने 112 की बजाय 135 शहरों में उम्मीदवारों को परीक्षा का विकल्प दिया है

सीबीएसई बोर्ड रविवार को केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) 135 शहरों में आयोजित करवा रहा है। कोविड-19 संक्रमण से बचाव के चलते सीबीएसई ने 112 की बजाय 135 शहरों में उम्मीदवारों को परीक्षा का विकल्प दिया है। खास बात यह है इस परीक्षा में उम्मीदवारों को घड़ी, फोन, डेबिट या क्रेडिट कार्ड आदि लेकर जाने पर रोक रहेगी।

वहीं परीक्षार्थी को अपने साथ पीने का पानी, सैनेटाइजर की पारदर्शी छोटी बोतल और कोई भी सरकारी फोटो पहचान पत्र लाना आवश्यक होगा। सीबीएसई बोर्ड प्रबंधन के मुताबिक, उम्मीदवारों की सुविधा और उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए परीक्षा केंद्रों की संख्या बढ़ाई गई है। पहले 112 शहरों में परीक्षा केंद्र बनते थे, लेकिन इस बार 135 शहरों में आयोजित हो रही है।

परीक्षा केंद्र पर इन चीजों को लाना है जरूरी 
परीक्षा केंद्र में उम्मीदवार अपने साथ पारदर्शी बोतल में पानी व सैनेटाइजर, मास्क, हाथ के दस्ताने ले जा सकते हैं। इसके अलावा एडमिट कार्ड और एक फोटो पहचान पत्र होना चाहिए। इसमें आधार या पैन कार्ड, पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस या वोट आईडी कार्ड हो सकता है। इसके अलावा नीला या काला बॉल प्वाइंट पैन ला सकते हैं। सीटीईटी पेपर-एक वाले छात्रों को रविवार सुबह 7.30 पहुंचना होगा और सीटीईटी पेपर -दो वाले उम्मीदवारों को दोपहर 12 बजे तक पहुंचना अनिवार्य है।

इन सामानों को लेकर नहीं आएं
किताब, नोट्स, पेपर के टुकड़े, ज्योमेट्री, पेंसिल बॉक्स, प्लास्टिक पाउच, पेंसिल पाउच, पेंसिल, स्केल, लॉग टेबल, इरेजर, कार्डबोर्ड, इलेक्ट्रॉनिक्स उपकरण, घड़ी, हैंडबैग, मोबाइल फोन, ईयरफोन, कैमरा, हेडफोन, पेन ड्राइव, ब्लूटूथ डिवाइस, कैलकुलेटर, इलेक्ट्रानिक पैन, स्कैनर आदि सामान लाने पर रोक रहेगी।

।।CBSE ने जारी किए CTET परीक्षा के जरूरी दिशानिर्देश।।

इस बार की CTET 2021 परीक्षा 31 जनवरी को आयोजित होने जा रही है. परीक्षा के एडमिट कार्ड पहले ही जारी कर दिए गए हैं जिसके प्रिंटआउट के साथ ही उम्‍मीदवारों को एग्‍जाम हॉल में एंट्री मिलेगी. बोर्ड ने महामारी की स्थिति को देखते हुए सभी उम्‍मीदवारों को उनके पहले च्‍वाइस का एग्‍जाम सेंटर देने का प्रयास किया है. जो उम्‍मीदवार परीक्षा में शामिल होने जा रहे हैं, उनके लिए जरूरी दिशानिर्देश भी जारी किए गए हैं. उम्‍मीदवारों को इन निर्देशों का सख्‍ती से पालन करना होगा. 

– उम्‍मीदवारों को एग्‍जाम सेंटर पर रिपोर्टिंग टाइम पर ही आना होगा ताकि एक समय पर ज्‍यादा भीड़ जमा न हो. देरी से आने वाले उम्‍मीदवारों को एग्‍जाम सेंटर में एंट्री नहीं दी जाएगी. – एग्‍जाम सेंटर पर और पूरी परीक्षा के दौरान, उम्‍मीदवारों को सोशल डिस्‍टेंसिंग का पालन करना होगा. – पूरे समय मास्‍क पहनकर रखना अनिवार्य होगा तथा मास्‍क मुंह और नाक को अच्‍छी तरह ढकना चाहिए. – उम्‍मीदवारों को अपना पीने का पानी एक पारदर्शी बोतल में लाना होगा. सेंटर पर पीने के पानी की व्‍यवस्‍था नहीं होगी. – उम्‍मीदवारों को अपना स्‍वयं का हैंड सैनिटाइज़र लेकर आना होगा.  – एग्‍जाम हॉल में कुछ भी आपस में मांगने या बदलने की इजाज़त नहीं होगी. – उम्‍मीदवार आपस में न हाथ मिला सकेंगे, न ही किसी और तरीके से एक दूसरे को छू सकेंगे. – एग्‍जाम के बाद मास्‍क को इधर उधर फेकने की इजाजत नहीं होगी. विधिवत तरीके से मास्‍क का निस्‍तारण करना होगा.nullपेपर 1 तथा पेपर 2 में 150 मार्क्‍स के 150 सवाल होंगे. परीक्षा पहले जुलाई 2020 में आयोजित की जानी थी मगर कोरोना संक्रमण के चलते इसे स्‍थगित कर दिया गया. परीक्षा अब रविवार 31 जनवरी को आयोजित की जाएगी जिसके संबंध में सभी जरूरी जानकारियां जारी की जा चुकी हैं

उत्तराखंड में बेसिक कक्षाओं के छात्रों को अभी ऑनलाइन माध्यम से ही पढ़ाई करनी होगी। सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के संकेत के बाद शिक्षा विभाग ने नवीं और 11 वीं कक्षाओं को खोलने का प्रस्ताव बनाना शुरू कर दिया।

यदि छठवीं से नवीं कक्षा तक को खोलने की अनुमति नहीं मिलती तो बेसिक के साथ ही जूनियर की कक्षाओं को कुछ समय और ऑनलाइन मोड में रखा जाएगा। कुछ दिन पहले विभागीय समीक्षा करते हुए शिक्षा मंत्री ने स्कूलों को खोलने की तैयारी करने के निर्देश दिए थे। शिक्षा मंत्री नौवीं से ग्यारहवीं को तत्काल और छठी से आठवीं कक्षा को एक फरवरी से खोलने के पक्ष में हैं। सूत्रों के अनुसार अभी हाल में शिक्षा विभाग ने सीएम कार्यालय में स्कूल खोलने का प्रस्ताव रखा था। लेकिन प्रस्ताव में नौवीं और 11 वीं कक्षा का ही उल्लेख था। 

Continue reading

गाजीपुर पुलिस ने अलर्ट जारी करते हुए थानावार ट्रैक्टर-ट्राली रखने वालों नोटिस जारी किया है। साथ ही पेट्रोल पंपों को ट्रैक्टर और बोतल में तेल देने से मनाही की है।

किसानों द्वारा विभिन्न मांगों को लेकर जारी आंदोलन एवं गणतंत्र दिवस पर ट्रैक्टर मार्च निकालने की घोषणा पर सपा की ओर से रणनीति तैयार की जा रही है। ऐसे में गाजीपुर पुलिस ने अलर्ट जारी करते हुए थानावार ट्रैक्टर-ट्राली रखने वालों नोटिस जारी किया है। साथ ही पेट्रोल पंपों को ट्रैक्टर और बोतल में तेल देने से मनाही की है।

पेट्रोल पंप पर लगी सूचना के मुताबिक बीते 22 जनवरी से 26 जनवरी तक किसी भी किसी भी ट्रैक्टर और किसी ड्रम या केन में तेल नहीं देना है। वहीं, इंटरनेट पर 22 जनवरी से गाजीपुर जिले में पुलिस का यह फरमान वायरल हो गया है, जबकि सैदपुर थाना क्षेत्र के एक पेट्रोल पंप पर थानाध्यक्ष का हवाला देते हुए नोटिस भी चिपका दी गई है।

इस नोटिस के अनुसार यहां पर ट्रैक्टरों और बोतल में तेल न देने के लिए सैदपुर कोतवाल की ओर से मनाही है। वहीं जिले में पुलिस के इस अजीबो गरीब-फरमान के जारी होने के बाद पेट्रोल पंप संचालक जहां असमंजस में हैं। वहीं खेती किसानी के सीजन में ट्रैक्टरों को तेल न दिए जाने को लेकर रोष भी है। 26 जनवरी व सड़क सुरक्षा माह को लेकर दिशा-निर्देश जारी किए गए थे। इसे कुछ लोग समझ नहीं पाए थे। ऐसे लोगों को चेतावनी दी गई है। ट्रैक्टर में तेल नहीं देना है, ऐसा कोई फरमान नहीं जारी किया गया था। 
डॉ . ओमप्रकाश सिंह, पुलिस अधीक्षक।

जन्म दिवस विशेष :- सुभाषचंद्र बोस (नेताजी)

भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के जांबाज पुरोधा नेताजी सुभाषचन्द्र बोस का जन्म 23 जनवरी सन् 1897 को ओड़िशा के कटक शहर में हिन्दू कायस्थ परिवार में हुआ था। उनके पिता का नाम जानकीनाथ बोस और माँ का नाम प्रभावती था। जानकीनाथ बोस कटक शहर के मशहूर वकील थे।
द्वितीय विश्वयुद्ध में जापान की हार के बाद, नेताजी को नया रास्ता ढूँढना जरूरी था। उन्होने रूस से सहायता माँगने का निश्चय किया था। 18 अगस्त 1945 को नेताजी हवाई जहाज से मंचूरिया की तरफ जा रहे थे। इस सफर के दौरान वे लापता हो गये। इस दिन के बाद वे कभी किसी को दिखाई नहीं दिये।
स्वतन्त्रता के पश्चात् भारत सरकार ने इस घटना की जाँच करने के लिये 1956 और 1977 में दो बार आयोग नियुक्त किया। दोनों बार यह नतीजा निकला कि नेताजी उस विमान दुर्घटना में ही मारे गये।उधर जी न्यूज समाचार के अनुसार नीलगंज (पश्चिमी बंगाल ) बैरक में 1945 में द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान आजाद हिंद फौज के 2300 सिपाहियों को बंदी बनाकर एक साथ खड़ा करके अंग्रेजों ने मशीन गन से भून दिया था।
यह निर्दयी हत्याकांड पंजाब के जलियांवाला बाग हत्याकांड से भी बहुत बड़ा निर्दयी हत्याकांड था। जिसे आजादी के बाद ही गंदी राजनीति के कारण इतिहास के पन्नों से दूर रखा गया ,जो कि अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है।
प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी, देशभक्त सुभाष चंद्र बोस जी के 125 वें जन्म दिवस को आज सम्पूर्ण भारतवर्ष में “पराक्रम दिवस” के रूप में मनाया जा रहा है।इस पावन अवसर पर मैं उस पुरोधा की पुण्य आत्मा को शत-शत नमन करते हुए हार्दिक श्रद्धांजलि अर्पित करता हूॅ…..

।। पुलिसवाले हतप्रभ रह गए। स्कूटी चला रहे थे एडीजी।।

कंट्रोल रूम में मंगलवार शाम पांच बजे फोन आया। काल करने वाले ने शाहगंज क्षेत्र में अपनी स्कूटी चोरी जाने की जानकारी दी। नंबर और रंग भी बताया। वायरलेस से सूचना प्रसारित होते ही जगह-जगह पुलिस की नाकाबंदी और चेकिंग शुरू हो गई। कुछ ही देर में शाहगंज इंस्पेक्टर ने थाने के पास दो स्कूटी सवारों को पकड़ा। पुलिस कर्मियों ने चारों तरफ से घेरा तो स्कूटी चला रहे और पीछे सवार व्यक्ति ने हेलमेट उतारा। इसके बाद सभी पुलिसवाले हतप्रभ रह गए। स्कूटी चला रहे थे एडीजी जोन प्रेम प्रकाश और पीछे बैठे थे आइजी रेंज केपी सिंह। पुलिसवालों ने सैल्यूट किया तो दोनों अधिकारियों ने उनकी पीठ थपथपाई। यह टेस्ट चेकिंग पुलिस की सक्रियता जांचने के लिए की गई थी। आइजी ने इंस्पेक्टर शाहगंज जयचंद शर्मा को दो हजार रुपये का पुरस्कार भी दिया। 

।। सोमनाथ ने कहा संजय सिंह नें फंसा दिया, अब दुबारा कभी उत्तर प्रदेश में कदम नहीं रखूंगा।।

दिल्ली के आम आदमी पार्टी के विधायक सोमनाथ भारती इस समय उत्तर प्रदेश की सुल्तानपुर जेल में बंद हैं, सोमनाथ को एक केस में जमानत मिल गई थी, लेकिन दूसरे केस में उन्हें झटका लगा और रायबरेली कोर्ट नें 14 दिन के लिए जेल भेज दिया। सोमनाथ भारती को यूपी के अस्पतालों पर दिए गए विवादित बयान के लिए अमेठी पुलिस ने गिरफ्तार किया था. उनके खिलाफ अमेठी के जगदीशपुर थाने में धारा 505 और 153A के तहत मुकदमा दर्ज है. खबर मिल रही है कि जेल में सोमनाथ भारती की जमकर खातिरदारी की जा रही है.

सुप्रीम कोर्ट के वकील प्रशांत पटेल ने ट्वीट कर कहा है कि सोमनाथ भारती सुल्तानपुर जेल में न ठीक से बैठ पा रहा है, न ही खड़ा हो पा रहा है। इसके अलावा प्रशांत पटेल ने अपने ट्वीट में दावा किया है कि सोमनाथ ने कहा – संजय सिंह नें फंसा दिया, अब दुबारा कभी उत्तर प्रदेश में कदम नहीं रखूंगा।

बैकफुट पर WhatsApp, विवाद के बाद रोका प्राइवेसी अपडेट का प्लान

बैकफुट पर WhatsApp, विवाद के बाद रोका प्राइवेसी अपडेट का प्लान

खास बातें

  • व्हासट्एप ने रोका अपडेट प्लान
  • 8 फरवरी तक दिया था समय
  • टेलीग्राम और सिग्नल को मिला फायदा

सैन फ्रैंसिस्को: फेसबुक (Facebook) के स्वामित्व वाली सोशल मैसेजिंग ऐप  (WhatsApp) ने शुक्रवार को प्राइवेसी अपडेट करने का अपना प्लान फिलहाल के लिए टाल दिया है. व्हाट्सएप की प्राइवेसी पॉलिसी को लेकर काफी विवाद के बाद कंपनी ने यह फैसला लिया है. पहले 8 फरवरी तक व्हाट्सएप यूजर्स को प्राइवेसी पॉलिसी को अनिवार्य रूप से स्वीकार करना था. कंपनी ने कहा है कि पॉलिसी को लेकर फैली भ्रामक खबरों को स्पष्ट करने के बाद ही आगे फैसला लिया जाएगा.

व्हाट्सएप ने एक ब्लॉग पोस्ट में लिखा, ‘हम सुन रहे हैं कि हमारे लेटेस्ट अपडेट को लेकर काफी भ्रम की स्थिति पैदा हो गई है. यह अपडेट फेसबुक के साथ डेटा साझा करने की हमारी क्षमता का विस्तार नहीं करता है.’ व्हाट्सएप ने इससे पहले भी सफाई देते हुए कहा था, ‘हम आपके निजी संदेश नहीं देख सकते हैं या आपकी कॉल नहीं सुन सकते हैं और न ही फेसबुक ऐसा कर सकता है.

।। स्वामी विवेकानंद के 10 मूल मंत्र।।

हमारे देश में कई ऐसे महापुरूष हुए हैं, जिनके जीवन और विचार से कोई भी व्यक्ति बहुत कुछ सीख सकता है. उनके विचार ऐसे हैं कि निराश व्यक्ति भी अगर उसे पढ़े तो उसे जीवन जीने का एक नया मकसद मिल सकता है. इन्‍हीं में से एक हैं स्‍वामी विवेकानंद. उनका जन्‍म 12 जनवरी 1863 को हुआ था. पहले जानिए उनके बारे में ये खास बातें…उन्‍होंने रामकृष्‍ण मठ, रामकृष्‍ण मिशन और वेदांत सोसाइटी की नींव रखी.1893 में अमेरिका के शिकागो में हुए विश्‍व धार्मिक सम्‍मेलन में उन्‍होंने भारत और हिंदुत्‍व का प्रतिनिधित्‍व किया था.हिंदुत्‍व को लेकर उन्‍होंने जो व्‍याख्‍या दुनिया के सामने रखी, उसकी वजह से इस धर्म को लेकर काफी आकर्षण बढ़ा.भारत में उनके जन्‍मदिन को युवा दिवस के तौर पर मनाया जाता है.वे औपनिवेशक भारत में हिंदुत्‍व के पुन: उद्धार और राष्‍ट्रीयता की भावना जागृत करने के लिए जाने जाते हैं.

अब जानिए स्वामी विवेकानंद के ऐसे अनमोल विचार, जो आपके जीवन की दिशा को बदल सकते हैं…

1. पढ़ने के लिए जरूरी है एकाग्रता, एकाग्रता के लिए जरूरी है ध्यान. ध्यान से ही हम इन्द्रियों पर संयम रखकर एकाग्रता प्राप्त कर सकते है.

2. ज्ञान स्वयं में वर्तमान है, मनुष्य केवल उसका आविष्कार करता है.

3. उठो और जागो और तब तक रुको नहीं जब तक कि तमु अपना लक्ष्य प्राप्त नहीं कर लेते.

4. जब तक जीना, तब तक सीखना, अनुभव ही जगत में सर्वश्रेष्ठ शिक्षक है.null

5. पवित्रता, धैर्य और उद्यम- ये तीनों गुण मैं एक साथ चाहता हूं.

6. लोग तुम्हारी स्तुति करें या निन्दा, लक्ष्य तुम्हारे ऊपर कृपालु हो या न हो, तुम्हारा देहांत आज हो या युग में, तुम न्यायपथ से कभी भ्रष्ट न हो.

7. जिस समय जिस काम के लिए प्रतिज्ञा करो, ठीक उसी समय पर उसे करना ही चाहिये, नहीं तो लोगो का विश्वास उठ जाता है.

8. जब तक आप खुद पे विश्वास नहीं करते तब तक आप भागवान पे विश्वास नहीं कर सकते.

9. एक समय में एक काम करो , और ऐसा करते समय अपनी पूरी आत्मा उसमे डाल दो और बाकी सब कुछ भूल जाओ.

10. जितना बड़ा संघर्ष होगा जीत उतनी ही शानदार होगी.

कोरोना के कारण निर्धारित समय से छह महीने देरी से 31 जनवरी को होने जा रही केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) में अभ्यर्थियों को खुद के स्वस्थ होने का घोषणापत्र लेकर जाना होगा।

कोरोना के कारण निर्धारित समय से छह महीने देरी से 31 जनवरी को होने जा रही केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) में अभ्यर्थियों को खुद के स्वस्थ होने का घोषणापत्र लेकर जाना होगा। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने सभी अभ्यर्थियों के लिए कोविड घोषणापत्र लाना अनिवार्य किया है। अभ्यर्थियों को इस आशय का घोषणापत्र अपने साथ रखना होगा की उन्हें जुकाम, बुखार, सांस लेने में समस्या आदि नहीं है। परीक्षा केंद्र में प्रवेश के समय पूछे जाने पर घोषणापत्र दिखाना होगा। राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद (एनसीटीई) की ओर से सीटीईटी की वैधता आजीवन किए जाने के बाद पहली बार परीक्षा होने जा रही है।

प्रयागराज में 100 से अधिक केंद्रों पर तकरीबन 69000 अभ्यर्थी पंजीकृत हैं। परीक्षा दो पालियों में 9.30 से 12 और 2 से 4.30 बजे तक होगी। सीबीएसई की क्षेत्रीय अधिकारी श्वेता अरोड़ा ने बताया कि कोरोना की गाइडलाइन का पालन करते हुए परीक्षा कराई जाएगी। एक कमरे में 12 अभ्यर्थियों के ही बैठने की व्यवस्था की गई है। केंद्रों पर थर्मल स्क्रीनिंग के अलावा अनिवार्य रूप से वीडियोग्राफी कराई जाएगी। इस परीक्षा के लिए 24 जनवरी से 9 मार्च 2020 तक पंजीकरण कराया गया था। परीक्षा जुलाई में होनी थी लेकिन कोरोना के कारण छह महीने टालनी पड़ गई।