।। शिल्पा ने राज की गिरफ्तारी के बाद पहली बार अपने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट साझा किया है।।

शिल्पा शेट्टी के पति और बिजनेसमैन राज कुंद्रा मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच के हिरासत में हैं। उन पर अश्लील फिल्म बनाने का आरोप है। पति की गिरफ्तारी के बाद से सोशल मीडिया पर शिल्पा शेट्टी को निशाने पर लिया जा रहा है और उन पर मीम्स बन रहे हैं। इस बीच शिल्पा ने राज की गिरफ्तारी के बाद पहली बार अपने इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट साझा किया है।

शिल्पा ने एक किताब की फोटो शेयर की है, जिसमें जीवित रहने और चुनौतियों की बात का जिक्र है। किताब में लिखा गया है कि ‘मैं एक गहरी सांस लेती हूं, यह जानते हुए कि मैं जिंदा हूं और भाग्यशाली हूं। मैं पहले भी चुनौतियों का सामना कर चुकी हूं और मैं भविष्य में भी चुनौतियों का सामना करके बचूंगी। आज मुझे जिंदगी जीने के लिए कोई भी भटका नहीं सकता है।‘ 

।।पति के विवादों में फंसने के बाद शिल्पा सुपर डांसर चैप्टर 4 शो को अलविदा कह दिया।।

बॉलीवुड एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी के पति और बिजनेसमैन राज कुंद्रा को हाल ही में मुंबई पुलिस ने अश्लील फिल्में बनाने औऱ उन्हें ऐप पर अपलोड करने के मामले में गिरफ्तार कर लिया है. जिसके चलते शिल्पा को भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. बताया जा रहा है कि पति के विवादों में फंसने के बाद शिल्पा सुपर डांसर चैप्टर 4 शो को अलविदा कह दिया है.वहीं शिल्पा को रिप्लेस कर 90 के दशक की खूबसूरत एक्ट्रेस करिश्मा कपूर ने अब जज की कुर्सी संभाल ली है. शो से जुड़ी कुछ फोटोज सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही हैं. जिनमें करिश्मा कपूर सेट पर नजर आ रही हैं.

।।बकरीद के त्योहार के लिए सोमवार को दिशा-निर्देश जारी किए।।

यूपी की योगी सरकार ने 21 जुलाई को मनाए जाने वाले बकरीद के त्योहार के लिए सोमवार को दिशा-निर्देश जारी किए। राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को बकरीद पर्व के मद्देनजर सभी जरूरी इंतजाम करने के निर्देश दिए हैं। 

सीएम योगी ने निर्देश दिए कि कोविड महामारी को देखते हुए पर्व से जुड़े किसी आयोजन में एक समय में 50 से अधिक लोग एक स्थान पर एकत्र नहीं हों। साथ ही यह सुनिश्चित किया जाए कि कहीं भी गोवंशीय पशु, ऊंट और अन्य किसी प्रतिबंधित जानवर की कुर्बानी नहीं हो। उन्होंने कहा कि कुर्बानी का कार्य सार्वजनिक स्थान पर नहीं किया जाए। इसके लिए चिन्हित स्थलों और निजी परिसरों का ही उपयोग हो। इस दौरान स्वच्छता का विशेष ध्यान रखा जाए। 

आज का इतिहास:14 निजी बैंकों का राष्ट्रीयकरण हुआ, प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के इस फैसले का विरोध उनके ही वित्त मंत्री मोरारजी देसाई कर रहे थे

19 जुलाई 1969 यानी आज से ठीक 52 साल पहले उस वक्त की प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी एक ऑर्डिनेंस लेकर आईं। ‘बैंकिंग कम्पनीज आर्डिनेंस’ नाम के इस ऑर्डिनेंस के जरिए देश के 14 बड़े निजी बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया। इस फैसले को इंदिरा गांधी द्वारा लिए गए बड़े फैसलों में गिना जाता है।

दरअसल दूसरे विश्वयुद्ध के बाद यूरोप में बैंकों को सरकार के अधीन करने के विचार ने जन्म लिया। विश्वयुद्ध की वजह से देशों को भारी वित्तीय नुकसान उठाना पड़ा था। इससे इन देशों की आर्थिक हालत कमजोर हो गई थी। संकट से उबरने के लिए कई यूरोपीय देशों ने बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया था।

भारत में भी 1949 में भारतीय रिजर्व बैंक का राष्ट्रीयकरण किया गया। अब तक भारत में जितने भी निजी बैंक थे, वे सभी उद्योगपतियों के हाथों में थे। लोग बैंकों में जाने से कतराते थे। साथ ही बैंकों का कारोबार केवल बड़े शहरों तक ही सीमित था।

इंदिरा का कहना था कि बैंकों को ग्रामीण क्षेत्रों में ले जाना जरूरी है। निजी बैंक देश के सामाजिक विकास में अपनी भागीदारी नहीं निभा रहे हैं। इसलिए बैंकों का राष्ट्रीयकरण जरूरी है। हालांकि इंदिरा का ये फैसला इतना विवादित था कि खुद उनकी ही सरकार के वित्त मंत्री मोरारजी देसाई इसके खिलाफ थे।

राष्ट्रीयकरण के बाद बैंकों की शाखाओं में जबरदस्त बढ़ोतरी हुई। शहरों से निकलकर बैंक गांवों और कस्बों में खुलने लगे। इससे भारत की ग्रामीण आबादी को बैंकिंग से जुड़ने का मौका मिला। 3 दशक में ही देश में बैंकों की शाखाएं 8 हजार से बढ़कर 60 हजार के आंकड़े को पार कर गईं।

जिन 14 बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया, उनके पास उस वक्त देश की करीब 80 फीसदी जमा पूंजी थी, लेकिन इस पूंजी का निवेश केवल ज्यादा लाभ वाले क्षेत्रों में ही किया जा रहा था। दूसरी ओर आजादी के 10 साल के भीतर ही 300 से भी ज्यादा छोटे-मोटे बैंक कंगाल हो गए थे। इसमें लोगों की करोड़ों की जमा पूंजी भी डूब गई थी। इस वजह से सरकार ने इन बैंकों की कमान अपने हाथ में लेने का फैसला लिया।

इस फैसले के क्रियान्वयन का जिम्मा इंदिरा ने अपने प्रधान सचिव पीएन हक्सर को सौंपा। कहा जाता है कि हक्सर सोवियत संघ की समाजवादी विचारधारा से प्रभावित थे और वहां बैंकों पर सरकार का नियंत्रण था। 1967 में इंदिरा ने कांग्रेस पार्टी में 10 सूत्रीय कार्यक्रम पेश किया।

इस कार्यक्रम में बैंकों पर सरकार का नियंत्रण, राजा-महाराजाओं को मिलने वाली सरकारी मदद और न्यूनतम मजदूरी का निर्धारण मुख्य बिंदु थे। 7 जुलाई 1969 को कांग्रेस के बेंगलुरु अधिवेशन में इंदिरा ने बैंकों के राष्ट्रीयकरण का प्रस्ताव रखा।

इंदिरा के इस फैसले का तत्कालीन वित्त मंत्री मोरारजी देसाई ने विरोध किया। इसके बाद इंदिरा ने मोरारजी देसाई का मंत्रालय बदलने का आदेश दे दिया। इससे नाराज होकर मोरारजी देसाई ने वित्त मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।

19 जुलाई 1969 को इंदिरा ने एक अध्यादेश जारी किया और 14 बैंकों का राष्ट्रीयकरण कर दिया। इसके बाद अप्रैल 1980 में 6 और बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया।

1941: टॉम एंड जैरी को मिला था अपना नाम

1941 में आज ही के दिन बच्चों के पसंदीदा कार्टून कैरेक्टर टॉम एंड जैरी को अपना नाम मिला था। दरअसल 1940 में “पुस गेट द बूट्स” नाम की एक कार्टून फिल्म में टॉम एंड जैरी पहली बार लोगों के सामने आए थे। ये फिल्म इतनी सफल हुई कि इसे बेस्ट एनिमेटेड फिल्म के लिए ऑस्कर नॉमिनेशन मिला। हालांकि इस फिल्म में दोनों कैरेक्टर का नाम जेस्पर और जिंक्स था।

जब ये मूवी फेमस हुई तो एनिमेटर्स ने दोनों कैरेक्टर को दूसरा नाम देने के बारे में सोचा। टॉम एंड जैरी को बनाने वाले विलियम हैना और जोसेफ बार्बेरा ने दोनों की जोड़ी को बढ़िया नाम देने वाले को 50 डॉलर का इनाम देने की घोषणा की। एनिमेटर जॉन कार ने चूहे-बिल्ली की इस जोड़ी को टॉम एंड जैरी नाम दिया।

विलियम हैना और जोसेफ बार्बेरा।

विलियम और जोसेफ को ये नाम पसंद आया। दोनों ने मिलकर ‘द मिडनाइट स्नैक’ नाम से दूसरी फिल्म बनाई। 19 जुलाई 1941 को ये फिल्म रिलीज हुई। इस फिल्म में पहली बार चूहे और बिल्ली को टॉम एंड जैरी नाम दिया गया।

आज के दिन को इतिहास में इन महत्वपूर्ण घटनाओं की वजह से भी याद किया जाता है…

2010: कोलकाता में एक ट्रेन दुर्घटना में 63 लोगों की मौत हो गई।
1985: स्कूल टीचर क्रिस्टा मैकोलिफ को अंतरिक्ष मिशन के लिए चुना गया। पहली बार किसी टीचर को अंतरिक्ष मिशन के लिए चुना गया था। हालांकि जनवरी 1986 में मिशन पर जाने के दौरान ही चैलेंजर में विस्फोट से क्रिस्टा का निधन हो गया।

1980: मॉस्को में ओलिंपिक की शुरुआत हुई। अफगानिस्तान में सोवियत संघ की सेना के दखल से कई देशों ने इन खेलों का बहिष्कार किया।

1961: ट्रांस वर्ल्ड एयरलाइंस ने फर्स्ट क्लास पैसेंजर्स को फ्लाइट में मूवीज दिखाने की शुरुआत की।

1952: इंग्लैंड के खिलाफ फॉलोऑन खेलते हुए पूरी भारतीय क्रिकेट टीम 82 रन पर आउट हो गई।

1947: बर्मा के प्रधानमंत्री आंग सेन की रंगून में हत्या कर दी गई।

1903: फ्रेंच साइक्लिस्ट मोरिस गेरिन ने 2,428 किलोमीटर लंबा पहला टूर डी फ्रांस जीता।

1827: क्रांतिकारी मंगल पांडे का जन्म उत्तर प्रदेश के फैजाबाद जिले में हुआ।

।।उत्तराखंड में जल्द आ सकता हैं फीस एक्ट ।।

उत्तराखंड में निजी स्कूलों की मनमानी पर रोक लगाई जा सके इसके लिए सरकार फीस एक्ट लाने जा रही है। शिक्षा विभाग की ओर से इसका ड्राफ्ट तैयार कर इसे शासन को भेजा गया है। खास बात यह है कि एक्ट बनने के बाद स्कूलों के खिलाफ हर कोई शिकायत नहीं कर सकेगा। जबकि स्कूल सुविधा के अनुसार खुद फीस तय करेंगे। इससे सवाल यह खड़ा हो रहा है कि जब स्कूलों को खुद ही फीस तय करनी है तो फीस को लेकर मनमानी कैसे रुकेगी। 

प्रदेश में फीस एक्ट के लिए लंबे समय से कवायद चल रही है। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे के निर्देश के बाद विभाग की ओर से अब इसका ड्राफ्ट फाइनल कर इसे शासन को भेजा गया है। विभागीय सूत्रों के मुताबिक स्कूल क्या सुविधाएं दे रहे हैं इसके हिसाब से वे खुद फीस तय करेंगे। जबकि स्कूलों के खिलाफ राज्य स्तरीय कमेटी तभी जांच करेगी। जब किसी स्कूल में पढ़ने वाले बच्चों के वास्तविक अभिभावक शिकायत करेंगे।

।।बालिका बधू की दादी सा का निधन।।

कल की सुबह सुरेखा सीकरी ने मुंबई में अंतिम सांस ली। अंग्रेजी वेबसाइट इंडियन एक्सप्रेस से उनके मैनेजर ने कहा, ‘आज सुबह 75 साल की उम्र में सुरेखा सीकरी का कार्डिएक अरेस्ट से निधन हो गया। दूसरे ब्रेन स्ट्रोक के बाद वह तमाम जटिलताओं से जूझ रही थीं। परिवारवाले और केयर टेकर उनकी देखभाल कर रहे थे। परिवार इस वक्त प्राइवेसी चाहता है।‘

। 1983 विश्व कप के हिस्सा रहे यशपाल शर्मा का हुआ निधन ।।


यशपाल शर्मा साल 1983 में विश्व कप (World Cup) जीतने वाली टीम का अहम हिस्सा थे. वर्ल्डकप में वेस्टइंडीज़ के खिलाफ खेले गए पहले मैच में यशपाल शर्मा ने 89 रनों की शानदार पारी खेली थी, जिसमें टीम इंडिया की जीत हासिल हुई थी. इसके अलावा सेमीफाइनल में भी यशपाल शर्मा ने 61 रनों की पारी खेली थी, तब भारत ने इंग्लैंड को मात दी थी.

।।रविशंकर प्रसाद, हर्षवर्धन और प्रकाश जावड़ेकर अहम जिम्मेदारी दी जाएगी. इसका ऐलान जल्द होगा।।

रविशंकर प्रसाद, हर्षवर्धन और प्रकाश जावड़ेकर सहित 12 मंत्रियों ने हाल ही में केंद्रीय मंत्रिपरिषद से इस्तीफा दे दिया था. अब खबर मिल रही है कि इनमें से रविशंकर प्रसाद और प्रकाश जावड़ेकर को पार्टी में अहम जिम्मेदारी दी जाएगी. इसका ऐलान जल्द होगा. दोनों को पार्टी में राष्ट्रीय महासचिव या राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाया जा सकता है. साथ ही चुनावी राज्यों का प्रभारी की अहम ज़िम्मेदारी भी सौंपी जा सकती है.

अगले साल की शुरुआत में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, गोवा और मणिपुर में विधानसभा चुनाव होने हैं और संभावना जताई जा रही है कि इसको मद्देनजर रखते हुए रविशंकर प्रसाद, प्रकाश जावड़ेकर, निशंक और हर्षवर्धन सहित कुछ नेताओं को संगठन में शामिल कर चुनावी राज्यों की जिम्मेदारी दी जा सकती है. प्रसाद और जावड़ेकर पहले भी बीजेपी संगठन में अहम भूमिका निभा चुके हैं. निशंक उत्तराखंड के मुख्यमंत्री भी रहे हैं जबकि हर्षवर्धन दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष के रूप में भी काम कर चुके हैं.

इलाज हिंदी कहानी

एक राजा मोटापा बढ़ने की वजह से बीमार पड़ गया। डॉक्टरों ने उसे सलाह दी कि वह खाना कम कर दे तो मोटापा घट सकता है। डॉक्टरों की इस सलाह से राजा गुस्सा हो गया।

राजा ने ऐलान किया की जो भी उसका अच्छा इलाज करेगा, उसे बड़ा इनाम दिया जाएगा। लेकिन इसमें एक शर्त थी। जो भी इस कार्य में सफल न रहेगा, उसका सिर कलम कर दिया जाएगा।

ज्योतिषियों ने भविष्यवाणी की कि राजा का जीवन अब एक महीने का और बचा है। यह जानकर राजा डर गया और परेशान रहने लगा।

जिस ज्योतिषी ने यह भविष्यवाणी की थी, उसे महीने भर के लिए जेल में डाल दिया गया, ताकि यह देखा जा सके कि उसकी भविष्यवाणी में कितना दम है।

राजा बहुत डरा हुआ था। उसने खाना पीना भी बहुत कम कर दिया और महीने भर के भीतर ही उसका वजन काफी गिर गया। इसके बाद राजा ने जेल से ज्योतिषी को बुलाया और कहा, “आप क्यों नहीं मुझे तुम्हारा सिर कलम कर देना चाहिए”।

इस पर ज्योतिषी बोली कि “अपने को शीशे में देखिए कि आप अब कितने स्वस्थ हो गए हैं”। अपने को स्वस्थ और दुबला काया देखकर राजा का आश्चर्य का कोई ठिकाना न रहा

तब ज्योतिषी ने राजा से कहा कि असल डॉक्टर तो मैं ही था। मौत के बहाने मैंने आपको डरा दिया था, ताकि आप खाना कम कर दे और स्वस्थ हो जाए।

ज्योतिषी की यह बात सुनकर राजा बहुत ही खुश हुआ और उसे इनाम दिया। साथ ही वादा किया कि वह अब कभी भी खाने-पीने में अति नहीं करेगा।

एक व्यक्ति था। उसके गुरु एक सन्यासी थे। वह व्यक्ति दुनिया दारी से ऊब सा गया था। वह अपने गुरु की तरह ही दुनियादारी छोड़कर सन्यासी  बना चाहता था।

उसने अपने परिवार को यह बात बताई तो सभी ने मना कर दिय। यह कहते हुए की हम सब आपसे बहुत प्यार करते है।

फिर उसने अपने गुरु को यह बात बताई परंतु साथ ही कहा कि उनका घर-परिवार बच्चे और पत्नी उसे सन्यास लेने नहीं दे रहे हैं क्योंकि वह मुझसे बेहद प्यार करते हैं।

गुरु ने कहा “यह किसी सूरत में प्यार नहीं है”। गुरु ने उसे बहुत समझाया पर वह व्यक्ति नहीं मान रहा था। फिर गुरु ने कहा, “अच्छा ठीक है”। गुरु जी उस व्यक्ति को मठ में ले गए।

इसके बाद गुरु ने उसे योग विद्या सिखाई जिससे वह अपनी सांसे रोक कर मुरदे जैसी अवस्था में घंटो तक रह सकता था। यह सब सिखाने के बाद गुरु ने उसे एक योजना बताई और उसे घर भेज दिया।

दूसरे दिन वह व्यक्ति अपने घर पर मुर्दा पाया गया। परिवार के सारे लोग इकट्ठे हो गए। सभी रो रहे थे। विलाप कर रहे थे। वही उसकी पत्नी सबसे ज्यादा दुखी हो रही थी।

पूरे घर में कोहराम मच गया था। सभी की आंखे नम थी। वह व्यक्ति मुर्दा अवस्था में था, मगर योग अभ्यास से आसपास के माहौल को महसूस कर सकता था और सुन सकता था।

उसे बड़ा सुकून मिला कि उसका परिवार उसे कितना प्यार करते हैं, अंतत: उसने संन्यास का इरादा त्यागने का फैसला कर लिया।

कुछ ही देर बाद उस व्यक्ति के गुरु वहाँ पहुंचे। गुरु ने सभी को शांत किया। और अपने शिष्य के पड़े शव को देखा।

कुछ देर शव को देखने के बाद उसके परिवार वालो को कहा इस शव में जान फुका जा सकता है। इस व्यक्ति को मैं अपनी विद्या से जिंदा कर सकता हूँ।

यह बात सुनकर घर के सभी लोग बहुत खुश हो गए। सभी को एक उम्मीद की किरण नजर आ रही थी।

फिर सभी ने उस सन्यासी से कहा “तो आप यह काम जल्द से जल्द करिये”। इस पर उस सन्यासी ने कहा “एक समस्या है, इस कार्य लिए परिवार के किसी अन्य सदस्य को अपनी प्राण त्यागना होगा।

यह सुन कर सभी लोगों की सांसे रुकी की रुकी रह गई। सभी ने एक दूसरे को देखा। सन्यासी ने परिवार के सभी सदस्यों से एक एक कर पूछा पर किसी ने भी हां नहीं कहा।

सभी ने अपनी जान की जरूरत बताई और अपनी जिम्दारी भी।

सन्यासी ने फिर उस व्यक्ति के पत्नी से कहा, अगर यह नहीं रहे तो तुम कैसे जियोगी। उसकी पत्नी ने तुरंत जवाब दिया मैं इनके बगैर भी जी लुंगी।

गुरु ने उस व्यक्ति के बच्चों से भी यही सवाल किया। उनका भी जवाब न ही थी। फिर यही सवाल उस व्यक्ति के माता-पिता से किया। उनका भी जवाब एक ही था।

इसके बाद गुरु उस व्यक्ति के शव के पास आए और बोले हे व्यक्ति तुम उठ खड़े हो जॉव। वह व्यक्ति उठ कर बैठ गया।

फिर उसके गुरु वहाँ से जाने लगे। उसने अपने गुरु को रोका और गुरु से कहा, “मैं भी आपके साथ चलता हु”।

अब उस व्यक्ति को समझ में आ गया था कि उसकी जरूरत उसके घर में कितना है। अब वह एक पल भी अपने घर में रहना नहीं चाहता था।हमें यह सीख मिलता है कि आप के होने न होने से किसी पर ज्यादा कुछ असर नही पड़ता है.

उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा है कि राज्य की भाजपा सरकार ‘बहुत जल्द जनसंख्या नियंत्रण वाले एक क़ानून को लागू करने के बारे में फ़ैसला करेगी.”

उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा है कि राज्य की भाजपा सरकार ‘बहुत जल्द जनसंख्या नियंत्रण वाले एक क़ानून को लागू करने के बारे में फ़ैसला करेगी.”

बीबीसी संवाददाता नितिन श्रीवास्तव के साथ एक ख़ास बातचीत में उन्होंने इस बात पर भी ज़ोर दिया कि उनकी सरकार एक भू-क़ानून और दूसरे मामलों पर आपस में विचार-विमर्श कर के निर्णय लेगी.”

अरविंद केजरीवाल ।।उत्तराखंड के लोगों से 300 यूनिट बिजली फ्री और पुराने बिजली बिल माफ।।

उत्तराखंड के 2022 के विधानसभा चुनाव में भाजपा और कांग्रेस की वोट बैंक पर सेंध लगाने के लिए आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल एक दिवसीय दौरे पर रविवार को दून पहुंचे। इस दौरान उन्होंने लोक लुभावन घोषणा कर वोट साधने की पूरजोर कोशिश की। उन्होंने उत्तराखंड के लोगों से 300 यूनिट बिजली फ्री और पुराने बिजली बिल माफ किए जाने संबंधी वादे किए। उन्होंने कह कि उत्तराखंड में 24 घंटे बिजली देंगे। वहीं उत्तराखंड के किसानों को मुफ्त बिजली दी जाएगी। इसके साथ ही उन्होंने अगली बार आने का वादा भी किया और कहा कि अगली बार वह आम आदमी पार्टी के सीएम फेस की घोषणा करने के लिए आएंगे।

।। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड राज्य के विकास में केंद्र सरकार के सहयोग पर प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया।।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उत्तराखंड राज्य के विकास में केंद्र सरकार के सहयोग पर प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के मार्गदर्शन में उत्तराखंड तीव्र गति से विकास पथ पर आगे बढ़ रहा है।  प्रधानमंत्री ने मुख्यमंत्री बनने पर पुष्कर सिंह धामी को बधाई देते हुए आशा व्यक्त की कि युवा नेतृत्व में राज्य का तेजी से चहुंमुखी विकास होगा।

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री को राज्य से संबंधित ज्वलंत मुद्दों के बारे में बताया। उन्होंने कोविड की संभावित तीसरी लहर को देखते हुए राज्य सरकार की तैयारियों के बारे में अवगत कराया। साथ ही चारधाम यात्रा, कांवड़ यात्रा पर भी चर्चा की। प्रधानमंत्री से मुख्यमंत्री की वार्ता निर्धारित 15 मिनट से अधिक 1 घंटा 15 मिनट तक चली।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने केदारनाथ धाम पुनर्निर्माण कार्यों की जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री से केदारनाथ धाम में द्वितीय चरण के पुनर्निर्माण कार्यों के वर्चुअल शिलान्यास के लिए समय प्रदान करने का अनुरोध किया।   

।। NIOS डीएलएड प्रशिक्षण की प्राथमिक स्कूलों में भर्ती को लेकर कई संगठन कर रहे है विरोध।।

जबकि इसके बारे में निम्न बाते सबको पता है
1.*वह RTEACT-2009 के अंतर्गत आता हैं जो वर्तमान समय में सम्पूर्ण देश में लागू हैं
2.जिस ncte से इनको मान्यता हैं वह 6जनवरी/2021 को पूरे देश के लिए nios deled से सम्बंधित स्पष्टीकरण पत्र जारी करती हैं कि यें प्रशिक्षण अन्य रेगुलर deled के समान मान्य हैं
3.यह भारत का एकमात्र ऐसा प्रशिक्षण हैं जिसे विभिन्न राज्यों कि अस्वीकारता के पश्चात भी न्यायपालिकाओ के हस्तक्षेप के बाद स्वीकार किया गया
4.बात योग्य औऱ अयोग्य कि करते हैं कि ज़ब आप इतने योग्य हैं तो nios deled शिक्षकों से योग्यता के आधार पर कियू खौफ पाले बैठे हो दिखाइए अपनी योग्यता औऱ लीजिये nios deled से पहले नियुक्ति

  1. सबसे महत्वपूर्ण बिंदु पर उक्त संगठनों का ध्यान आकर्षित करना चाहुँगा कि आपने प्रशिक्षण किया हैं औऱ हमें कराया गया हैं
    अर्थात हम पर थोपा गया हैं
    6.कुछ संगठन यें कहते हैं कि हमें सरकार ने प्रशिक्षण कराया है तो उनके ज्ञान में वृद्धि करता चलू कि nios deled प्रशिक्षण केंद्र सरकार के आह्वान पर राज्य सरकारों ने कराया हैं
    बस यें ही मूल अंतर हैं आपके औऱ हमारे प्रशिक्षण में..
    इसीलिए nios deled किसी का विरोध नहीं करता हैं परन्तु अपने अधिकारों के लिए हर स्तर से तैयार हैं

।। 24 वर्षीय युवती ने लूडो में पिता से हारने के बाद फैमिली कोर्ट का दरवाजा खटखटाया ।।

 मध्य प्रदेश में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है। राजधानी भोपाल में एक 24 वर्षीय युवती ने लूडो में पिता से हारने के बाद फैमिली कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। युवती का आरोप है कि पिता ने लूडो के खेल के दौरान उसे कोई धोखा दिया। फैमिली कोर्ट की काउंसलर सरिता रजनी ने बताया कि आजकल के बच्चे हार का सामना नहीं कर पाते हैं, जिसकी वजह से इस तरह के मामले सामने आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज की पीढ़ी में हार के दर्द को बर्दाश्त करने की ताकत पैदा करनी होगी। लॉकडाउन के दौरान युवती अपने दो भाई बहनों और पिता के साथ लूडो खेला करती थी। लगातार हारने के कारण युवती के मन में पिता के खिलाफ नाराजगी बढ़ती चली गई। समय के साथ नाराजगी की भावना इतनी बढ़ गई कि परिवार को इस मामले को संभालने के लिए काउंसलिंग का सहारा लेना पड़ा। सरिता रंजन ने बताया कि एक 24 साल की युवती हमारे पास आई और उसने बताया कि जब भी वह भाई बहनों और पिता के साथ लूडो खेलती है तो उसके पिता उसकी गोटी काट दिया करते थे। ऐसा करने से उसे लगता था कि पिता ने उसके विश्वास को भी काट दिया। युवती ने बताया कि उसने कभी सोचा नहीं था कि उसके पिता ही उसे हराएंगे। युवती ने इस भावना को कभी परिवार के साथ साझा नहीं किया। लड़की की मां नहीं है और वह तीन भाई बहनों में सबसे छोटी है। सरिता रजनी कहती हैं कि आज कल के बच्चों में हार करने की क्षमता नहीं है और अपने परिवार के सदस्यों से बड़ी उम्मीदें रखती हैं और जब यह उम्मीदें पूरी नहीं होती हैं तो तनाव का कारण बन जाती हैं

।। मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली से की मुलाक़ात।।

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने आज भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और भारतीय क्रिकेट बोर्ड के मौजूदा अध्यक्ष सौरव गांगुली के घर जाकर उनसे मुलाकात की. बता दें कि आज गांगुली अपना 49वां जन्मदिन मना रहे हैं. ऐसे में ममता ने उनके घर जाकर उन्हें जन्मदिन की मुबारकबाद दी. वहीं इस मुलाकात के बाद सियासी अटकलें तेज हो गई हैं.

।।मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में देहरादून सहित पांच जिलों में भारी बारिश की संभावना जताई।।

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में देहरादून सहित पांच जिलों में भारी बारिश की संभावना जताई है। मौसम विभाग ने देहरादून, पौड़ी, नैनीताल, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों में भारी बारिश की संभावना जताते हुए ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। वहीं इस अलर्ट के बीच दोपहर करीब साढ़े तीन बजे बाद राजधानी देहरादून में झमाझम बारिश हुई और मौसम सुहावना हो गया।

।।12 जुलाई से खुलेंगे उत्‍तराखंड के स्‍कूल।।

12-

उत्‍तराखंड सरकार ने 12 जुलाई से कक्षा 1 से 12 तक के सारे स्‍कूल खोलने का फैसला क‍िया है। हालांकि स्‍टूडेंट्स के आने पर रोक होगी। फिलहाल केवल टीचर्स और स्‍टाफ ही स्‍कूल आएंगे। शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने कहा कि स्‍टूडेंट्स के लिए अभी ऑनलाइन पढ़ाई ही जारी रहेगी।

।।केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने अपने पद से दिया इस्तीफा ।।

कैबिनेट विस्तार के बीच अब मौजूदा मंत्रियों के इस्तीफे की खबरें सामने आने लगी हैं. जानकारी के मुताबिक केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. निशंक ने प्रधानमंत्री को चिट्ठी लिखकर स्वास्थ्य कारणों से इस्तीफा देने की बात कही है. कुछ दिन पहले कोरोना के चलते निशंक एम्स अस्पताल में भर्ती हुए थे. इसके बाद उनकी तबीयत ज्यादा बिगड़ी गई थी और उन्हें करीब 15 दिन तक आईसीयू में भी रहना पड़ा था. कोरोना काल में छात्रों की परीक्षाओं और सिलेबस को लेकर रमेश पोखरियाल निशंक ने शिक्षा मंत्री के तौर पर महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.

।। मशहूर अभिनेता दिलीप कुमार का 98 साल में निधन ।।

मशहूर अभिनेता दिलीप कुमार का निधन हो गया है. वह 98 साल के थे और काफी समय से बीमार चल रहे थे. उन्होंने मुंबई के हिंदुजा अस्पताल में आखिरी सांस ली.  दिलीप कुमार के पारिवारिक मित्र फैजल फारुखी ने आज एक्टर के ट्विटर से उनके निधन की जानकारी दी. उन्होंने लिखा- बहुत भारी दिल से ये कहना पड़ रहा है कि अब दिलीप साब हमारे बीच नहीं रहे.  दिलीप कुमार के निधन की खबर के बाद से ही इंडस्ट्री में शोक की लहर है.आज शाम 5 बजे मुंबई के सांताक्रूज में उनके पार्थिव शरीर को सुपुर्दे खाक किया जाएगा.।।

।। उत्तराखंड बोर्ड के हाईस्कूल और इंटर के व्यक्तिगत छात्र-छात्राओं को 10 फीसद वेटेज अंक पाने के लिए देनी होगी आनलाइन या आफलाइन मौखिक परीक्षा ।।

उत्तराखंड बोर्ड के हाईस्कूल और इंटर के व्यक्तिगत छात्र-छात्राओं को 10 फीसद वेटेज अंक पाने के लिए आनलाइन या आफलाइन मौखिक परीक्षा देनी होगी। उत्तराखंड बोर्ड के हाईस्कूल और इंटर के व्यक्तिगत छात्र-छात्राओं को भी संस्थागत छात्र-छात्राओं की तरह परीक्षा नहीं देनी होगी। व्यक्तिगत छात्र-छात्राओं के परीक्षा परिणाम के लिए लिए भी संस्थागत की तर्ज पर मूल्यांकन का फार्मूला रखा गया है।

इसके आधार पर हाईस्कूल में जिन विषयों में 100 अंक के सैद्धांतिक परीक्षा होती है, उनमें नौवीं कक्षा की वार्षिक परीक्षा के अंकों से 75 फीसद वेटेज और हाईस्कूल की मासिक, अद्र्ध वार्षिक, प्री बोर्ड या अन्य परीक्षा के अंकों का 25 फीसद वेटेज अंक दिया जाएगा। जिन विषयों में 80, 60, 40, 30 और 25 अंक सैद्धांतिक परीक्षा के लिए निर्धारित हैं, उसमें 75 फीसद अंक वेटेज के मिलेंगे। हाईस्कूल की परीक्षा के लिए निर्धारित वेटेज के मुताबिक अंक देने को संबंधित विषय के अध्यापक आनलाइन या आफलाइन मौखिक परीक्षा कराएंगे। इसके आधार पर अंक दिए जाएंगे। इसीतरह इंटर के व्यक्तिगत परीक्षार्थियों को सैद्धांतिक परीक्षा के लिए निर्धारित अंकों का 10 फीसद वेटेज देना तय किया गया है।

।। रूद्रप्रयाग के रतूड़ा से दुखद खबर है, रतूड़ा पुलिस लाईन के पास एक कार अलकनन्दा नदी में गिर गयी, सूचना के बाद पुलिस, एसडीआरएफ, डीडीएमओ ओर जल पुलिस की टीम मौके पर पहुच गयी ।।

रूद्रप्रयाग। रूद्रप्रयाग के रतूड़ा से दुखद खबर है, रतूड़ा पुलिस लाईन के पास एक कार अलकनन्दा नदी में गिर गयी, सूचना के बाद पुलिस एसडीआरएफ, डीडीएमओ ओर जल पुलिस की टीम मौके पर पहुच गयी है, दुर्घटनागस्त कार में 6 लोगों के सवार होने की सूचना है, जिसमें से 4 घायल लोगों को रेस्क्यू कर जिला अस्पताल भेज दिया गया है, जबकि दो अन्य लापता लोगों की खोज में सर्च व रेस्क्यू अभियान जारी है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार घटना साढ़े 9 बजे के के करीब की बतायी जा जार रही है, जब बोलेरो कार संख्या यूके07 DS 5845 कर्णप्रयाग से देहरादून जा रहे थे, कि पुलिस लाईन रतूड़ा के पास कारण अनियंत्रित होकर 100 मीटर गहरी खाई से होते हुए अलकनन्दा में गिर गयी, कार में नेहा उम्र 12 वर्ष, वन्दना उम्र 11 वर्ष, एक अन्य बच्चा उम्र 4 वर्ष, राधा देवी उम्र 35 वर्ष को रेस्क्यू कर जिला अस्पताल भेज दिया गया है।

जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नदंन सिंह रजवार ने बताया कि मौके पर पुलिस, एसडीआरएफ, डीडीएमओ ओर जल पुलिस की टीम पहुच चुकी है मौके पर सर्च व रेस्क्यू अभियान तेज गति से चलाया जा रहा है, कार में 6 लोगों के सवार होने की सूचना है, जिसमें से 4 घायल लोगों को रेस्क्यू कर जिला अस्पताल भेज दिया गया है, जबकि दो अन्य लापता लोगों की खोज में सर्च व रेस्क्यू अभियान जारी है। ।

।।विधानसभा के पहले सत्र के दौरान शुक्रवार को भाजपा के दो विधायकों मनोज तिग्गा और जोएल मुर्मू ने तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मुकुल राय को पैर छूकर प्रणाम किए।।अटकलों का बाजार गर्मअटकलों का बाजार गर्म।।

विधानसभा के पहले सत्र के दौरान शुक्रवार को भाजपा के दो विधायकों मनोज तिग्गा और जोएल मुर्मू ने तृणमूल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मुकुल राय को पैर छूकर प्रणाम किए। इसके बाद से अटकलों का बाजार गर्म है। हालांकि भाजपा के दोनों विधायकों ने इसे शिष्टाचार बताया है। दरअसल पिछली विधानसभा में मनोज तिग्गा भाजपा परिषदीय दल के नेता थे। इस बार उनका नाम विपक्ष के नेता के रूप में सबसे पहले सामने आया। लेकिन भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व ने सुवेंदु अधिकारी को विपक्ष के नेता की सीट पर बिठा दिया।

ऐसे में राजनीतिक हलकों में मनोज तिग्गा और जुएल मुर्मू द्वारा मुकुल के नमन को विशेष महत्व दिया जा रहा है। मुकुल फिलहाल विधानसभा में विपक्ष की सीट पर बैठ रहे हैं। लेकिन साफ है कि पुरानी पार्टी भाजपा में उनके अनुयायी भी कम नहीं हैं। जहां एक ओर विधानसभा भवन में राज्यपाल के भाषण के दौरान भाजपा ने जोरदार विरोध प्रदर्शन किया, वहीं दूसरी ओर भाजपा के दो विधायक मनोज तिग्गा और जोएल मुर्मू मुकुल रॉय के चरणों में नतमस्तक हो गए। हालांकि दोनों विधायकों की ओर से इस शिष्टाचार बताए जाने के बावजूद अटकलों का बाजार गर्म है।

।। उत्तराखंड में पुष्कर सिंह धामी होंगे नए मुख्यमंत्री।।

उत्तराखंड में तीरथ सिंह रावत के इस्तीफे के बाद पुष्कर सिंह धामी राज्य के 11वें मुख्यमंत्री होंगे। उनके नाम पर शनिवार दोपहर को भाजपा विधायक दल की बैठक में मुहर लगा दी गई। ये बैठक 3 बजे से केंद्रीय पर्यवेक्षक नरेंद्र तोमर और प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम की मौजूदगी में हुई। केंद्रीय पर्यवेक्षक ने मीडिया को बताया कि बैठक में किसी ओर के नाम की चर्चा नहीं हुई। सिर्फ पुष्कर सिंह धामी का नाम रखा गया और सबकी सहमति से इस पर मुहर लगा दी गई।

इस बार भाजपा ने तमाम अनुभवी विधायकों को दरकिनार करते हुए युवा चेहरे को तवज्जो दी है। संभावना है कि वे आज ही राजभवन सीएम की शपथ लेंगे। नाम की घोषणा होने के बाद पुष्कर सिंह धामी ने कहा, ‘पार्टी ने एक सामान्य कार्यकर्ता, एक भूतपूर्व सैनिक के बेटे को राज्य की सेवा के लिए चुना है। हम लोगों की भलाई के लिए मिलकर काम करेंगे। हम कम समय में लोगों की सेवा करने की चुनौती स्वीकार करते हैं।’

।। उत्तराखंड में पुष्कर सिंह धामी होंगे नए मुख्यमंत्री।।

पुष्कर सिंह धामी का जीवन परिचय
पुष्कर सिंह धामी उत्तराखंड में खटीमा विधानसभा से विधायक हैं। पुष्कर सिंह धामी का जन्म 16 सितंबर 1975 को पिथौरागढ के टुण्डी गांव में हुआ था। उनके पिता सैनिक थे। आर्थिक स्थिति कमजोर होने के बीच सरकारी स्कूलों से प्राथमिक शिक्षा ली। 

।।सीएम तीरथ सिंह रावत ने शुक्रवार देर रात राज्यपाल बेबी रानी मौर्य को दिया इस्तीफा ।।

उत्तराखंड में चार महीने के अंदर ही सरकार को नया नेतृत्व मिलने जा रहा है। भाजपा के राष्ट्रीय नेतृत्व के निर्देशों के बाद सीएम तीरथ सिंह रावत ने शुक्रवार देर रात राज्यपाल बेबी रानी मौर्य को इस्तीफा सौंप दिया। इससे पहले दिल्ली में तीरथ ने सांविधानिक संकट का हवाला देते हुए खुद पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा को लिखे पत्र में पद छोड़ने की इच्छा जताई थी। 

भारतीय डाक (India Post) में नौकरी तलाश रहे युवाओं के लिए सुनहरा मौका

भारतीय डाक (India Post) में नौकरी तलाश रहे युवाओं के लिए सुनहरा मौका है. इसके लिए (India Post GDS Recruitment 2021) भारतीय डाक (India Post) ने बिहार पोस्टल सर्कल (Bihar Postal Circle) के तहत शाखा पोस्ट मास्टर (बीपीएम), सहायक शाखा पोस्ट मास्टर (एबीपीएम) और ग्रामीण डाक सेवक के पदों (India Post GDS Recruitment 2021) के लिए आवेदन मांगे हैं. इच्छुक एवं योग्य उम्मीदवार जो इन पदों (India Post GDS Recruitment 2021) के लिए आवेदन करना चाहते हैं, वे India Post की आधिकारिक वेबसाइट appost.in पर जाकर अप्लाई कर सकते हैं. इन पदों (India Post GDS Recruitment 2021) पर आवेदन करने की अंतिम तिथि 14 जुलाई 2021 है.

।।आज से खुले दून चिड़ियाघर व आनंद वन।।

कोरोना संक्रमण कम होने के चलते बुधवार से दून चिड़ियाघर आम पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है। इस बाबत मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक व दून चिड़ियाघर निदेशक ने आदेश भी जारी किए हैं। कोरोना की दूसरी लहर शुरू होने के बाद केंद्रीय वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय और नेशनल टाइगर कंजर्वेशन अथॉरिटी ने सभी राष्ट्रीय पार्कों, वन्यजीव विहारों, चिड़ियाघरों और टाइगर रिजर्व को पर्यटकों के लिए बंद करने के आदेश जारी किए गए थे।

वन मंत्रालय और नेशनल टाइगर कंजर्वेशन अथॉरिटी ने 29 जून तक टाइगर रिजर्व और चिड़ियाघरों को बंद करने की हिदायत दी थी। इस बीच कोरोना संक्रमण थमने के चलते मुख्य वन्यजीव प्रतिपालक जेएस सुहाग व चिड़ियाघर निदेशक पीके पात्रों ने चिड़ियाघर खोलने के आदेश जारी किए हैं। दून चिड़ियाघर के वन क्षेत्राधिकारी मोहन सिंह रावत ने बताया कि बुधवार से चिड़ियाघर को पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है। चिड़ियाघर आम पर्यटकों के लिए 23 मार्च से बंद था।

झाझरा स्थित आनंद वन को भी बुधवार से पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है। आनंदवन के वन क्षेत्राधिकारी अखिलेश रावत ने बताया कि पर्यटक आनंद वन में भ्रमण कर जहां नक्षत्र वाटिका, सीता वाटिका, ट्री हट का लुत्फ उठा सकेंगे। वहीं युवाओं के लिए जिपलाइन, कमांडो नेट, बर्मा ब्रिज लैडर ब्रिज को भी खोल दिया गया है। आनंदवन भी पिछले दो माह से बंद था। 

।।अब अवकाश पूर्ण होने के बाद एक जुलाई से स्कूलों में दोबारा से ऑनलाइन पढ़ाई शुरू होगी।।

कोरोना की दूसरी लहर के संक्रमण के कम होने के बाद अब उत्तराखंड में सभी स्कूल एक जुलाई से खोल दिए जाएंगे। इस संबंध में आज बुधवार को आदेश जारी कर दिए गए हैं। हालांकि अभी ऑनलाइन पढ़ाई ही होगी।

स्कूलों में तीस जून तक ग्रीष्मकालीन अवकाश घोषित किया गया था
बुधवार को जारी आदेश में लिखा गया है कि कोरोना की दूसरी लहर की रोकथाम के लिए प्रदेश में संचालित शासकीय, अशासकीय, निजी, डे-बोर्डिंग स्कूलों में तीस जून तक ग्रीष्मकालीन अवकाश घोषित किया गया था। अब अवकाश पूर्ण होने के बाद एक जुलाई से स्कूलों में दोबारा से ऑनलाइन पढ़ाई शुरू होगी।

।। सरकारी स्कूलों में इन दिनों गर्मियों की छुट्टियां चल रही हैं। विभागीय अधिकारियों के मुताबिक 30 जून को गर्मियों की खत्म हो जाएंगी। इसके बाद शिक्षकों को स्कूल बुलाकर ऑनलाइन पढ़ाई शुरू की जा सकती है।।

सरकारी स्कूलों में इन दिनों गर्मियों की छुट्टियां चल रही हैं। विभागीय अधिकारियों के मुताबिक 30 जून को गर्मियों की छुट्टियां खत्म हो जाएंगी। इसके बाद शिक्षकों को स्कूल बुलाकर ऑनलाइन पढ़ाई शुरू की जा सकती है।

विभागीय मंत्री की ओर से भी इस संबंध में एक जुलाई से ऑनलाइन पढ़ाई का निर्देश दिया गया है। हालांकि, अभी छात्र-छात्राओं को स्कूल नहीं बुलाया जाएगा। कोविड की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए विभाग की ओर से अभी बच्चों को स्कूल न बुलाए जाने का निर्णय लिया गया है।

शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम के मुताबिक छात्र-छात्राओं को अभी स्कूल बुलाया जाना संभव नहीं है। विभाग की ओर से भी इस संबंध में अभी कोई तैयारी नहीं है। शिक्षकों को कब से स्कूल बुलाया जाए इस पर निर्णय लिया जाना है। शिक्षा सचिव ने कहा कि छात्र-छात्राओं के लिए स्कूल खुलने के संबंध में शिक्षा मंत्री और मुख्यमंत्री के स्तर से निर्णय लिया जाना है। 

बोर्ड रिजल्ट के संबंध में आज जारी होगा शासनादेश 
शिक्षा सचिव आर मीनाक्षी सुंदरम के मुताबिक उत्तराखंड बोर्ड का 10वीं और 12वीं का रिजल्ट तैयार किए जाने का फार्मूला तय हो चुका है। औपचारिक रूप से इस पर सहमति बन चुकी है। सोमवार को इस संबंध में शासनादेश जारी किया जाएगा।

29 जून 2021

।।भाजपा छोड़कर तृणमूल कांग्रेस में लौटने के बावजूद मुकुल रॉय बंगाल विधानसभा में विरोधी दल की सीट पर ही बैठेंगे।।

भाजपा छोड़कर तृणमूल कांग्रेस में लौटने के बावजूद मुकुल रॉय बंगाल विधानसभा में विरोधी दल की सीट पर ही बैठेंगे। उन्होंने भाजपा छोड़ने के बाद भी अपनी सीट बदलने के लिए अब तक कोई आवेदन नहीं किया है, जिसके फलस्वरूप उन्हें विरोधी दल की सीट ही आवंटित की गई है। राजनीतिक विश्लेषकों का कहना है कि दलविरोधी कानून से बचने के लिए मुकुल ने यह रणनीति अपनाई है।

गौरतलब है कि मुकुल पहली बार विधायक के तौर पर निर्वाचित हुए हैं। उन्होंने कृष्णानगर उत्तर सीट से भाजपा के टिकट पर तृणमूल कांग्रेस की प्रत्याशी व बांग्ला फिल्मों की मशहूर अभिनेत्री कौशानी मुखर्जी को भारी मतों के अंतर से मात दी थी। मुकुल पहली बार विधायक बने हैं इसलिए विधानसभा के आसन्न अधिवेशन में उनकी सीट को लेकर पहले ही चर्चा शुरू हो गई थी। बाद में वे तृणमूल में लौट गए। इसके बाद कौतूहल और बढ़ गया।

मुकुल को विरोधी दल की सीट आवंटित करने के पीछे एक और महत्वपूर्ण कारण यह है कि वे भाजपा की मर्जी और समर्थन के बिना ही विधानसभा की पब्लिक अकाउंट्स कमेटी (पीएसी) के सदस्य बने हैं। सबकुछ तृणमूल कांग्रेस की योजना के मुताबिक रहा तो वे पीएसी के चेयरमैन भी बन सकते हैं, ठीक उसी तरह जैसे सुब्रत मुखर्जी कांग्रेस विधायक रहते हुए भी तृणमूल द्वारा चालित कोलकाता नगर निगम के कभी मेयर बने थे। बंगाल विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष सुवेंदु अधिकारी मुकुल की विधायक की सदस्यता खारिज करने के लिए आवेदन कर चुके हैं, हालांकि इसपर अंतिम निर्णय विधानसभा अध्यक्ष विमान बनर्जी लेंगे। 

।। प्रदेश में लागू कोविड कर्फ्यू को कुछ और रियायत के साथ एक सप्ताह आगे बढ़ाया जा सकता है।।

प्रदेश में लागू कोविड कर्फ्यू को कुछ और रियायत के साथ एक सप्ताह आगे बढ़ाया जा सकता है। कर्फ्यू के दौरान बाजार खुलने का समय सुबह छह से शाम सात बजे तक करने पर विचार किया जा रहा है। सरकार के प्रवक्ता सुबोध उनियाल ने इसके संकेत दिए। उन्होंने कहा कि सरकार सभी पहलुओं पर विचार कर रही है और रविवार तक कोविड कर्फ्यू के संबंध में फैसला ले लिया जाएगा।

कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए प्रदेश में लागू कोविड कर्फ्यू की अवधि 29 जून की सुबह छह बजे खत्म हो रही है। वर्तमान में शनिवार व रविवार को छोड़कर प्रदेश में हफ्ते में पांच दिन सुबह आठ से शाम पांच बजे तक बाजार खुल रहे हैं। इस बीच राज्यभर में कोरोना संक्रमण के मामलों में आई कमी को देखते हुए बाजार खुलने का समय बढ़ाकर सुबह छह से शाम सात बजे तक करने मांग भी उठ रही है।

यह ठीक है कि कोरोना संक्रमण के मामले कम हुए हैं, लेकिन कोरोना संक्रमण की संभावित तीसरी लहर ने भी सरकार की पेशानी पर बल डाले हुए हैं। इसे देखते हुए सरकार फिलहाल कोविड कर्फ्यू की अवधि को एक हफ्ते आगे बढ़ा सकती है। इस दौरान बाजार खुलने का समय बढ़ाया जा सकता है, लेकिन शाम सात से सुबह छह बजे तक कर्फ्यू के कड़ाई से अनुपालन को सख्त कदम उठाए जा सकते हैं। अलबत्ता, सिनेमाहाल, शापिंग माल, जिम, खेल संस्थान, स्टेडियम, स्वीमिंग पूल, मनोरंजन पार्क, थिएटर, आडिटोरियम और इनसे संबंधित गतिविधियों को फिलहाल बंद ही रखा जा सकता है।

बुधि का महत्व ।। कहानी ।।

एक बुद्धिमान राजा था। उसका काफी बड़ा साम्राज्य था। उसके राज्य में प्रजा हर तरह से खुशहाल थी। राजा को अपने उत्तराधिकारी की तलाश थी।

उसके तीन बेटे थे। राजा इस पुरानी परंपरा को नहीं निभाना चाहता था कि सबसे बड़े बेटे को ही गद्दी पर बिठाया जाए। वह सबसे बुद्धिमान और काबिल बेटे को सत्ता सौंपना चाहता था।

इसलिए राजा ने उत्तराधिकारी के लिए तीनों की परीक्षा लेने का फैसला किया।

राजा ने तीनों बेटों को अलग-अलग दिशाओं में भेजा। उसने हर बेटे को सोने का एक-एक सिक्का देते हुए कहा, कि वे इसे ऐसी चीज खरीदें, जो पुराने महल को भर दे।

पहले बेटे ने सोचा कि पिता तो सठिया चुके हैं। इस थोड़े से पैसे से इस महल को किसी चीज से कैसे भरा जा सकता है। इसलिए वह एक मयखाने में गया, शराब पी और सारा पैसा खर्च डाला।

राजा के दूसरे बेटे ने इससे भी आगे सोचा। वह इस नतीजे पर पहुंचा कि शहर में सबसे सस्ता तो कूड़ा कचरा ही है। इसलिए उसने महल को कचरे से भर दिया।

तीसरे बेटे ने दो दिन तक इस पर चिंतन मनन किया  कि महल को सिर्फ एक सिक्के से कैसे भरा जा सकता है। वह वाकई कुछ ऐसा करना चाहता था, जिससे पिता की उम्मीद पूरी होती हो।

उसनें मोमबत्तियां और लोबान की बतियां खरीदी और फिर पूरे महल को रोशनी और सुगंध से भर दिया। इस तीसरे बेटे की बुद्धिमानी से खुश होकर राजा ने उसे अपना उत्तराधिकारी बनाया।

सीटेट 2021 जून का नोटिफिकेशन अब जुलाई के पहले सप्ताह में जारी किया  जा सकता है.

सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी  एजुकेशन (CBSE) द्वारा सेंट्रल टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट (CTET) के लिए नोटिफिकेशन जून में जारी किया जाना था. लेकिन अभी तक नोटिफिकेशन नहीं आ सका है. मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो सीटेट 2021 जून का नोटिफिकेशन अब जुलाई के पहले सप्ताह में जारी किया  जा सकता है.

जम्मू कश्मीर के गुलमर्ग में सरहद पर अपना फर्ज निभाते हुए, 11वीं गढ़वाल राइफल के, मनदीप सिंह नेगी ने अपनी शहादत दी।

जम्मू कश्मीर के गुलमर्ग में सरहद पर अपना फर्ज निभाते हुए, 11वीं गढ़वाल राइफल के, मनदीप सिंह नेगी ने अपनी शहादत दी।

जम्मू कश्मीर के गुलमर्ग में सरहद पर अपना फर्ज निभाते हुए, 11वीं गढ़वाल राइफल के, मनदीप सिंह नेगी ने अपनी शहादत दी।

चौबट्टाखाल तहसील के सकनोली गांव, पौड़ी गढ़वाल का रहने वाला मनदीप, पुत्र सत्यपाल सिंह, सिर्फ 23 साल का था।

Bn

बिना मास्क के बैंक में घुसने पर गार्ड ने मारी गोली..

बिना मास्क बैंक में प्रवेश करने पर रेलवे कर्मचारी को बैंक के सुरक्षाकर्मी ने मारी गोली। जंक्शन रोड पर बैंक ऑफ बड़ौदा की घटना। हिरासत में आरोपी गार्ड। घायल को जिला अस्पताल में कराया गया भर्ती

।। विधानसभा चुनाव से पहले उत्तराखंड सरकार रोजगार, पर्यटन, स्वास्थ्य और कृषि-बागवानी पर विशेष फोकस ।।

विधानसभा चुनाव से पहले उत्तराखंड सरकार रोजगार, पर्यटन, स्वास्थ्य और कृषि-बागवानी पर विशेष फोकस करने जा रही है। प्रदेश में सरकारी विभागों के सभी रिक्त पदों पर एक साथ भर्ती प्रक्रिया शुरू होने जा रही है। महकमों से खाली पदों का ब्योरा मांग लिया गया है।

मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने हिन्दुस्तान से बातचीत में कहा कि करीब एक सप्ताह में रिक्तियों की कुल संख्या का पता चल जाएगा और उसके बाद सभी पदों पर चयन के लिए प्रक्रिया प्रारंभ हो जाएगी। उन्होंने दावा किया कि अगले विधानसभा चुनाव से पहले कुछ विभागों में नियुक्ति पत्र भी जारी हो जाएंगे।

लोकप्रिय उड़िया सिंगर तपू मिश्रा का 36 साल की उम्र में निधन, सीएम नवीन पटनायक ने जताया शोक

लोकप्रिय उड़िया सिंगर तपू मिश्रा का 36 साल की उम्र में निधन, सीएम नवीन पटनायक ने जताया शोक

।। पर्यटन राज्य उत्तराखंड के दरवाजे अब भी पर्यटकों और श्रद्धालुओं के लिए पूरी तरह से नहीं खुले।।

कोरोना संक्रमण की दर कम होने के साथ दिल्ली में कुतुब मीनार तो उत्तर प्रदेश में ताजमहल सैलानियों के खोल दिए गए। लेकिन पर्यटन राज्य उत्तराखंड के दरवाजे अब भी पर्यटकों और श्रद्धालुओं के लिए पूरी तरह से नहीं खुले हैं। देवभूमि में आने के लिए अब भी कोविड कर्फ्यू के बंधन हैं।

सप्ताहांत कर्फ्यू, आरटीपीसीआर जांच की अनिवार्यता और मशहूर टूरिस्ट प्वाइंट्स बंद होने से पर्यटन कारोबार को भारी नुकसान पहुंच रहा है। राज्य में पर्यटन से जुड़े छोटे कारोबारियों के तो रोटी के लाले पड़े हैं। बड़े कारोबारियों की हालत भी पतली है। ऐसे में मांग लगातार बढ़ रही है कि पूरे प्रदेश के पर्यटन स्थल पड़ोसी राज्य हिमाचल और उत्तर प्रदेश की तर्ज पर खोले जाएं

लाहौर में आतंकी हाफिज सईद के घर के पास बड़ा धमाका, दो की मौत, 15 जख्मी

लाहौर में आतंकी हाफिज सईद के घर के पास बड़ा धमाका, दो की मौत, 15 जख्मी
पाकिस्तान के लाहौर के जौहर टाउन इलाके में एक घर में धमाका हुआ.

।। उच्च शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा धन सिंह रावत ने कहा कि 21 जून से सभी विश्वविद्यालयों एवं डिग्री कालेजों में पढ़ाई शुरू की जाएगी।।

प्रदेश में सभी सरकारी और निजी विश्वविद्यालय एवं डिग्री कालेजों में 21 जून से खुलेंगे। कालेजों में आनलाइन और आफलाइन पढ़ाई प्रारंभ होगी। सरकार ने 19 जून तक ग्रीष्मावकाश को आगे जारी नहीं रखने का निर्णय किया है। प्रदेश में तकरीबन डेढ़ माह से सभी विश्वविद्यालय एवं डिग्री कालेज ग्रीष्मावकाश के चलते बंद हैं। कोरोना की दूसरी लहर का प्रकोप बढ़ने पर सरकार ने बीती सात मई को आदेश जारी कर 12 जून तक विश्वविद्यालयों एवं डिग्री कालेजों के लिए ग्रीष्मावकाश घोषित कर दिया था। इसके बाद इस अवकाश को शनिवार तक बढ़ाया गया था। उच्च शिक्षा राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा धन सिंह रावत ने कहा कि 21 जून से सभी विश्वविद्यालयों एवं डिग्री कालेजों में पढ़ाई शुरू की जाएगी।

उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय एवं कालेज खोले जाएंगे, लेकिन अभी सिर्फ शिक्षकों को ही बुलाया गया है। छात्र-छात्राओं को पढ़ाई का नुकसान न उठाना पड़े, इसके लिए अभी आनलाइन पढ़ाई शुरू की जाएगी। हालांकि कोरोना संक्रमण की स्थिति सुधरने के साथ ही आफलाइन पढ़ाई प्रारंभ करने के लिए भी तैयारी करने को कहा गया है। अगले माह यानी एक जुलाई से आफलाइन पढ़ाई विधिवत शुरू करने संकेत उन्होंने दिए।

।। महाकपि का बलिदान ।। कहानी

महाकपि का बलिदान

हिमालय के फूल अपनी विशिष्टताओं के लिए सर्वविदित हैं। दुर्भाग्यवश उनकी अनेक प्रजातियाँ विलुप्त होती जा रही हैं। कुछ तो केवल किस्से- कहानियों तक ही सिमट कर रह गयी हैं। यह कहानी उस समय की है, जब हिमालय का एक अनूठा पेड़ अपने फलीय वैशिष्ट्य के साथ एक निर्जन पहाड़ी नदी के तीर पर स्थित था। उसके फूल थाईलैंड के कुरियन से भी बड़े, चेरी से भी अधिक रसीले और आम से भी अधिक मीठे होते थे। उनकी आकृति और सुगंध भी मन को मोह लेने वाली थी।

उस पेड़ पर वानरों का एक झुण्ड रहता था, जो बड़ी ही स्वच्छंदता के साथ उन फूलों का रसास्वादन व उपभोग करता था। उन वानरों का एक राजा भी था जो अन्य बन्दरों की तुलना कई गुणा ज्यादा बड़ा, बलवान्, गुणवान्, प्रज्ञावान् और शीलवान् था, इसलिए वह महाकपि के नाम से जाना जाता था। अपनी दूर-दृष्टि उसने समस्त वानरों को सचेत कर रखा था कि उस वृक्ष का कोई भी फल उन टहनियों पर न छोड़ा जाए जिनके नीचे नदी बहती हो। उसके अनुगामी वानरों ने भी उसकी बातों को पूरा महत्तव दिया क्योंकि अगर कोई फल नदी में गिर कर और बहकर मनुष्य को प्राप्त होता तो उसका परिणाम वानरों के लिए अत्यंत भयंकर होता।

एक दिन दुर्भाग्यवश उस पेड़ का एक फल पत्तों के बीचों-बीच पक कर टहनी से टूट, बहती हुई उस नदी की धारा में प्रवाहित हो गया।

उन्हीं दिनों उस देश का राजा अपनी औरतों दास-दासीयों तथा के साथ उसी नदी की तीर पर विहार कर रहा था। वह प्रवाहित फल आकर वहीं रुक गया। उस फल की सुगन्ध से राजा की औरतें सम्मोहित होकर आँखें बंद कर आनन्दमग्न हो गयीं। राजा भी उस सुगन्ध से आनन्दित हो उठा। शीघ्र ही उसने अपने आदमी उस सुगन्ध के स्रोत के पीछे दौड़ाये। राजा के आदमी तत्काल उस फल को नदी के तीर पर प्राप्त कर पल भर में राजा के सम्मुख ले आए। फल का परीक्षण कराया गया तो पता चला कि वह एक विषहीन फल था। राजा ने जब उस फल का रसास्वादन किया तो उसके हृदय में वैसे फलों तथा उसके वृक्ष को प्राप्त करने की तीव्र लालसा जगी। क्षण भर में सिपाहियों ने वैसे फलों पेड़ को भी ढूँढ लिया। किन्तु वानरों की उपस्थिति उन्हें वहाँ रास नहीं आयी। तत्काल उन्होंने तीरों से वानरों को मारना प्रारम्भ कर दिया।

वीर्यवान् महाकपि ने तब अपने साथियों को बचाने के लिए कूदते हुए उस पेड़ के निकट की एक पहाड़ी पर स्थित एक बेंत की लकड़ी को अपने पैरों से फँसा कर, फिर से उसी पेड़ की टहनी को अपने दोनों हाथों से पकड़ कर लेट अपने साथियों के लिए एक पुल का निर्माण कर लिया। फिर उसने चिल्ला कर अपने साथियों को अपने ऊपर चढ़कर बेतों वाली पहाड़ी पर कूद कर भाग जाने की आज्ञा दी। इस प्रकार महाकपि के बुद्धि कौशल से सारे वानर दूसरी तरफ की पहाड़ी पर कूद कर भाग गये।

राजा ने महाकपि के त्याग को बड़े गौर से देखा और सराहा । उसने अपने आदमियों को महाकपि को जिन्दा पकड़ लाने की आज्ञा दी।

उस समय महाकपि की हालत अत्यन्त गंभीर थी। साथी वानरों द्वारा कुचल जाने के कारण उसका सारा शरीर विदीर्ण हो उठा था। राजा ने उसके उपचार की सारी व्यवस्थता भी करवायी, मगर महाकपि की आँखें हमेशा के लिए बंद हो चुकी थीं।

।। बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से प्रदेश के परिषदीय विद्यालयों के लिए 2011 में टीईटी शुरू होने के बाद कोई भर्ती नहीं की गई।।

बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से प्रदेश के परिषदीय विद्यालयों के लिए 2011 में टीईटी शुरू होने के बाद कोई भर्ती नहीं की गई। सरकार की ओर से एडेड जूनियर हाईस्कूलों में भर्ती के लिए 1894 पदों की घोषणा तो हुई लेकिन परीक्षा आज तक भर्ती नहीं हो सकी। 2011 में टीईटी पास करने वाले अभ्यर्थियों की टीईटी पात्रता भी इस बीच खत्म हो गई। अब प्रदेश सरकार की ओर से टीईटी को आजीवन मान्य किए जाने के बाद जूनियर टीईटी पास अभ्यर्थियों ने बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से नई शिक्षक भर्ती घोषित करने की मांग उठाई है।

।। चमकीला नीला पत्थर ।।कहानी ।।

एक शहर में बहुत ही ज्ञानी प्रतापी साधु महाराज आये हुए थे, बहुत से दीन दुखी, परेशान लोग उनके पास उनकी कृपा दृष्टि पाने हेतु आने लगे. ऐसा ही एक दीन दुखी, गरीब आदमी उनके पास आया और साधु महाराज से बोला ‘ महाराज में बहुत ही गरीब हूँ, मेरे ऊपर कर्जा भी है, मैं बहुत ही परेशान हूँ। मुझ पर कुछ उपकार करें’.

साधु महाराज ने उसको एक चमकीला नीले रंग का पत्थर दिया, और कहा ‘कि यह कीमती पत्थर है, जाओ जितनी कीमत लगवा सको लगवा लो। वो आदमी वहां से चला गया और उसे बचने के इरादे से अपने जान पहचान वाले एक फल विक्रेता के पास गया और उस पत्थर को दिखाकर उसकी कीमत जाननी चाही

फल विक्रेता बोला ‘मुझे लगता है ये नीला शीशा है, महात्मा ने तुम्हें ऐसे ही दे दिया है, हाँ यह सुन्दर और चमकदार दिखता है, तुम मुझे दे दो, इसके मैं तुम्हें 1000 रुपए दे दूंगा। 

वो आदमी निराश होकर अपने एक अन्य जान पहचान वाले के पास गया जो की एक बर्तनों का व्यापारी था. उनसे उस व्यापारी को भी वो पत्थर दिखाया और उसे बचने के लिए उसकी कीमत जाननी चाही। बर्तनो का व्यापारी बोला ‘यह पत्थर कोई विशेष रत्न है में इसके तुम्हें 10,000 रुपए दे दूंगा. वह आदमी सोचने लगा की इसके कीमत और भी अधिक होगी और यह सोच वो वहां से चला आया.

उस आदमी ने इस पत्थर को अब एक सुनार को दिखाया, सुनार ने उस पत्थर को ध्यान से देखा और बोला ये काफी कीमती है इसके मैं तुम्हें 1,00,000 रूपये दे दूंगा।

वो आदमी अब समझ गया था कि यह बहुत अमुल्य है, उसने सोचा क्यों न मैं इसे हीरे के व्यापारी को दिखाऊं, यह सोच वो शहर के सबसे बड़े हीरे के व्यापारी के पास गया।उस हीरे के व्यापारी ने जब वो पत्थर देखा तो देखता रह गया, चौकने वाले भाव उसके चेहरे पर दिखने लगे.  उसने उस पत्थर को माथे से लगाया और और पुछा तुम यह कहा से लाये हो. यह तो अमुल्य है. यदि मैं अपनी पूरी सम्पति बेच दूँ तो भी इसकी कीमत नहीं चुका सकता. 

कहानी से सीख | Learning From The Story

हम अपने आप को कैसे आँकते हैं.  क्या हम वो हैं जो राय दूसरे हमारे बारे में बनाते हैं. आपकी लाइफ अमूल्य है आपके जीवन का कोई मोल नहीं लगा सकता.  आप वो कर सकते हैं जो आप अपने बारे में सोचते हैं.  कभी भी दूसरों के नेगेटिव कमैंट्स से अपने आप को कम मत आकियें.

।। भाजपा के विधायक सुरेंद्र सिंह ने कांग्रेस को देश विभाजन के लिए जिम्मेदार ठहराया ।।

भाजपा के विधायक सुरेंद्र सिंह ने कांग्रेस को देश विभाजन के लिए जिम्मेदार ठहराते हुए शनिवार को दावा किया कि पंडित नेहरू बुजदिल थे, वरना आजादी मिलने के बाद ही भारत हिंदू राष्ट्र घोषित हो गया होता। बलिया जिले के बैरिया क्षेत्र से भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने शनिवार को अपने बयान का एक वीडियो जारी कर आरोप लगाया कि कांग्रेस की गंदी सोच के कारण भारत का विभाजन हुआ। उन्होंने कहा, बुजदिल नेहरू प्रधानमंत्री नहीं रहते तथा देशद्रोही मानसिकता के कांग्रेसी नहीं होते तो आजादी मिलने के बाद ही भारत हिन्दू राष्ट्र घोषित हो गया होता।

सिंह ने कहा कि पंडित नेहरू के स्थान पर सरदार पटेल अगर प्रधानमंत्री बन गए होते तो भारत अवश्य हिन्दू राष्ट्र बन गया होता। कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के कश्मीर में अनुच्छेद 370 को लेकर दिये गए हालिया बयान का उल्लेख करते हुए उन्होंने केंद्र सरकार से मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री के विरुद्ध देशद्रोह के आरोप में कार्रवाई की मांग की।

।।नेता विपक्ष और संसदीय कार्यमंत्री डॉ हृदयेश का निधन।।

2016 में जब उत्तराखंड कांग्रेस में बगावत हो गई थी और पूर्व सीएम विजय बहुगुणा, हरक सिंह रावत, सुबोध उनियाल समेत 10 विधायक बीजेपी में शामिल हो गए थे. तब प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लग गया था. ऐसे समय में हरीश रावत की सरकार के साथ जो नेता लोहे की दीवार की तरह खड़ी रही थीं, वो थीं इंदिरा हृदयेश. कई मौके ऐसे आए जब राजनीतिक तौर पर हरीश रावत और इंदिरा हृदयेश के बीच मतभेद दिखे, लेकिन संकट के समय हृदयेश ने रावत का साथ नहीं छोड़ा.

उम्र के इस पड़ाव में 80 वर्षीय इंदिरा हृदयेश पिछले कुछ समय से लगातार बीमार चल रही थीं. कुछ दिनों पहले दिल्ली से इलाज कराकर लौटीं. उन्होंने कोविड को भी हराया था. इस सबके बीच रविवार सुबह दिल्ली में ही प्राण त्याग दिए. पूर्व मुख्यमंत्री हेमवती नंदन बहुगुणा और नारायण दत्त तिवारी के दौर में राजनीति को जीने वाली स्वर्गीय हृदयेश का कद ऐसा था कि 20 साल की उम्र वाले उत्तराखंड राज्य में वो नेताओं और विधायकों के बीच ‘दीदी’ के नाम से पॉपुलर थीं. क्या कांग्रेस, क्या भाजपा, दीदी के पास सभी सलाह-मशविरा करने आते थे.बतौर नेता विपक्ष और संसदीय कार्यमंत्री स्वर्गीय हृदयेश की बातों की काट ढूंढना मुश्किल था. संसदीय मामलों में बीजेपी के नेता भी उनसे सलाह करते थे. उनको याद करते हुए पूर्व सीएम विजय बहुगुणा ने बताया कि स्वर्गीय इंदिरा हृदयेश पहली व्यक्ति थीं, जिन्होंने उनको राजनीति में आने की सलाह दी थी, जब उनके पिताजी और यूपी के पूर्व सीएम हेमवती नंदन बहुगुणा का निधन हो गया था.

।।सचिन तिन्दोरी आज भारतीय सैन्य अकादमी (IMA) देहरादून से बतौर लेफ्टिनेंट के पद की शपथ ग्रहण की।।

जनपद रुद्रप्रयाग के अन्तर्गत विकास खंड ऊखीमठ के एक छोटे से ग्राम रेल (फाटा) के श्री धीर सिंह तिन्दोरी जी एवं श्रीमती सावित्री देवी जी के सुपुत्र सचिन तिन्दोरी आज भारतीय सैन्य अकादमी (IMA) देहरादून से बतौर लेफ्टिनेंट के पद की शपथ ग्रहण करने के उपरान्त अपने वतन की रक्षा के लिए भारतीय थल सेना में शामिल हो गए हैं। एक सामान्य से पृष्ठभूमि के साथ रा इ का फाटा से 12 पास करने के साथ ही विकट और दुर्गम परिस्थितियों के बावजूद सचिन तिन्दोरी ने आज भारतीय सेना के लेफ्टिनेंट जैसे प्रतिष्ठित पद को हासिल किया है।

।। बांग्लादेश के स्टार ऑलराउंडर शाकिब अल हसन ने ढाका में एक घरेलू टी20 मैच के दौरान मैदान पर स्टंप को लात मारी और अंपायरों के साथ अपमानजनक व्यवहार किया।।

बांग्लादेश के स्टार ऑलराउंडर शाकिब अल हसन ने ढाका में एक घरेलू टी20 मैच के दौरान मैदान पर स्टंप को लात मारी और अंपायरों के साथ अपमानजनक व्यवहार किया. हालांकि बाद में उन्होंने माफी मांगी ली थी. शाकिब ने ये हरकत ढाका प्रीमियर लीग में मोहम्मडन स्पोर्टिंग और अबाहानी लिमिटेड के बीच मैच में की. शाकिब की इस हरकत पर उनकी पत्नी उम्मे अहमद शिशिर ने रिएक्ट किया है. उम्मे अपनी पति के बचाव में उतरी हैं. 

शेर-ए-बंगाल स्टेडियम में खेले गए मुकाबले में मुश्फिकुर रहीम के खिलाफ किए गए एलबीडब्ल्यू की अपील को नकार दिए जाने के बाद शाकिब ने अपना आपा खो दिया और स्टंप पर पैर मार दिया. शाकिब ने मैच के दौरान एक बार और ऐसी हरकत की.

अबाहानी लिमिटेड की पारी के दौरान छठे ओवर में पांचवीं गेंद के बाद जब दोनों मैदानी अंपायरों में बारिश के कारण मैच रोकने की घोषणा की, तब शाकिब ने गुस्से में दूसरे छोर के स्टंप्स उखाड़ दिया.

बांग्लादेश के स्टार ऑलराउंडर शाकिब अल हसन ने ढाका में एक घरेलू टी20 मैच के दौरान मैदान पर स्टंप को लात मारी और अंपायरों के साथ अपमानजनक व्यवहार किया

जुलाई में श्रीलंका के खिलाफ होने जा रही ODI और T20 सीरीज के लिए भारतीय क्रिकेट टीम का ऐलान कर दिया गया है. इस टीम में शिखर धवन को टीम का कप्तान नियुक्त किया

जुलाई में श्रीलंका के खिलाफ होने जा रही ODI और T20 सीरीज के लिए भारतीय क्रिकेट टीम का ऐलान कर दिया गया है. इस टीम में शिखर धवन को टीम का कप्तान नियुक्त किया गया है. वहीं तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को उपकप्तान बनाया गया है. एक युवा स्कॉड बनाने पर जोर दिया गया है और कई नए खिलाड़ियों को मौका मिला है.

इस टीम में कई युवा और नए चेहरे देखने को मिल रहे हैं. देवदत्त पेडिकल से लेकर ऋतुराज गायकवाड़ तक, कई ऐसे खिलाड़ियों को शामिल किया गया है जिनका आईपीएल में शानदार प्रदर्शन रहा. इस टीम में बल्लेबाजी की जिम्मेदारी शिखर धवन, पृथ्वी शॉ, देवदत्त पडिक्कल, ऋतुराज गायकवाड़, सूर्यकुमार यादव, ईशान किशन, मनीष पांडे, संजू सैम्सन के कंधों पर होने जा रही है. वहीं, गेंदबाजी का जिम्मा भुवनेश्वर कुमार के साथ कुलदीप यादव, चेतन सकारिया, नवदीप सैनी, दीपक चहर, वरुण चक्रवर्ती और युजवेंद्र चहल पर है. एक नजर में टीम काफी संतुलित दिखाई पड़ रही है और ऑलराउंडर्स को भी काफी तरजीह दी गई है. हार्दिक पंड्या का चोट के बाद फिर वापसी करना भी टीम के लिए अच्छे संकेत हैं.

।। रेस्टोरेंट बंद करने के बाद कांता प्रसाद (Kanta Prasad) एक बार फिर वहीं पहुंच गए हैं, जहां वह पहले ढाबा चलाते थे ।।

।। रेस्टोरेंट बंद करने के बाद कांता प्रसाद (Kanta Prasad) एक बार फिर वहीं पहुंच गए हैं, जहां वह पहले ढाबा चलाते थे।।

रेस्टोरेंट बंद करने के बाद कांता प्रसाद (Kanta Prasad) एक बार फिर वहीं पहुंच गए हैं, जहां वह पहले ढाबा चलाते थे. पिछले साल वीडियो वायरल होने के बाद बाबा का ढाबा (Baba ka Dhaba) की बिक्री में 10 गुना उछाल देखा गया था और लोग ढाबे पर खाना खाने के लिए लाइन लगाकर खड़े रहते थे. लेकिन अब उसमें भारी गिरावट आई है और उनकी कमाई भी काफी कम हो गई है.

अब परिवार का खर्च चलाना भी मुश्किल

कांता प्रसाद (Kanta Prasad) ने कहा, ‘दिल्ली में कोरोना संक्रमण रोकने के लिए लगाए गए लॉकडाउन की वजह से 17 दिनों के लिए पुराने ढाबे को बंद करने पड़ा. इस कारण बिक्री प्रभावित हुई और लॉकडाउन से पहले जहां दैनिक बिक्री 3500 रुपये होती थी, वो अब घटकर अब 1000 रुपये हो गई है. ये हमारे परिवार के गुजारे के लिए पर्याप्त नहीं है.’

।।इस साल का पहला सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) आज।।

Surya Grahan 2021: आज साल का पहला सूर्य ग्रहण, जानिए किन शहरों में दिखेगा ये नज़ारा

 इस साल का पहला सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) आज है. यह वलयाकार सूर्य ग्रहण होगा और यह खगोलीय घटना तब होती है जब सूर्य, चंद्रमा और पृथ्वी एक सीधी रेखा में आ जाते हैं. आज लगने वाले इस सूर्य ग्रहण के दिन दुनियाभर के कई देशों में रिंग ऑफ फायर (Ring of Fire) का नजारा भी दिखेगा. इस ग्रहण के दौरान चंद्रमा की परछाई सूर्य को करीब 94 फीसदी हिस्से को पूरी तरह से घेर लेती है. लिहाजा इस दौरान सूरज हीरे की अंगूठी की तरह चमकता दिखता है. विज्ञान की भाषा में इसे रिंग ऑफ फायर कहा जाता है.

आज सूर्य ग्रहण भारत में सिर्फ अरुणाचल प्रदेश और लद्दाख के कुछ हिस्सों में ही सूर्यास्त से कुछ समय पहले दिखाई देगा. एम पी बिरला तारामंडल के निदेशक देबीप्रसाद दुरई ने कहा कि सूर्य ग्रहण भारत में अरुणाचल प्रदेश और लद्दाख के कुछ हिस्सों से ही दिखाई देगा.

।।इस साल का पहला सूर्य ग्रहण (Solar Eclipse) आज।।

।। उत्तर प्रदेश में लखनऊ, मेरठ, गोरखपुर समेत सभी जिले हुए अनलॉक।।

उत्तर प्रदेश में लखनऊ, मेरठ, गोरखपुर समेत सभी जिले अनलॉक हो गए। सिर्फ 7 बजे शाम से 7 बजे सुबह तक नाइट कर्फ्यू जारी रहेगा। इन सभी जिलों में सक्रिय केस 600 से कम हो गए हैं। बीते 24 घंटे में प्रदेश में कोरोना के 797 नए मामले सामने आए हैं। इस दौरान 2.85 लाख नमूनों की जांच की गई। रिकवरी रेट 97.1 फीसदी है। पॉजिटिविटी रेट 0.2 फीसदी है।

प्रदेश में मंगलवार सुबह तक कुल सक्रिय मामले 14000 रह गए हैं। इनमें से 9,286 होम आइसोलेशन में हैं। सीएम योगी ने आगाह किया कि वायरस कमजोर पड़ा है, समाप्त नहीं हुआ। थोड़ी सी लापरवाही बहुत भारी पड़ सकती है। कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करना सभी की जिम्मेदारी है। बिना मास्क के बाहर न निकलें और सामाजिक दूरी का पालन करें।

।। कोरोना काल मे बाजार खोलने के लिए छूट नहीं मिलने से व्यापारियों ने फूका सरकार का पुतला।।

कोरोना काल मे बाजार खोलने के लिए छूट नहीं मिलने से व्यापारी भड़क गए हैं। व्यापारियों ने त्रिवेणी घाट चौक पर सरकार का पुतला फूंक अपना रोष जताया। व्यापारियों ने आरोप लगाया कि सरकार व्यापारी हितों के लिए गंभीर नहीं है। लगातार व्यापारियों की मदद के स्थान पर उत्पीड़न किया जा रहा है। 

सोमवार को व्यापारी त्रिवेणी घाट चौक पर एकत्रित हो गए। व्यापारियों ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए प्रदर्शन किया। मौके पर सरकार का पुतला फूंकते हुए रोष भी जताया। नगर उद्योग व्यापार महासंघ के अध्यक्ष ललित मोहन मिश्रा ने कहा कि मुख्यमंत्री और मंत्रियों से मुलाकात के दौरान बाजार खोलने में छूट देने की मांग की गई थी। जिस पर सकारात्मक आश्वासन भी मिला, लेकिन 6 तारीख को जारी की गई गाइडलाइन में बाजार खोलने से संबंधित कोई छूट नहीं देकर सरकार ने साफ जाहिर कर दिया है कि वह व्यापारियों का उत्पीड़न कर रही है। कहा कि उनकी सरकार से सिर्फ इतनी ही मांग है कि व्यापारी हित में आधे दिन बाजार खोलने की छूट दी जाए इसमें भी ऑल इन वन का फार्मूला सरकार अपना सकती है। व्यापारियों ने सरकार को चेतावनी दी है यदि अभी भी सरकार ने व्यापारियों की मांग पर ध्यान नहीं दिया तो यह सरकार के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है।                                                       इस दौरान देवभूमि व्यापार मंडल के अध्यक्ष राजकुमार अग्रवाल व पूर्व कबिनेट मंत्री शूरवीर सिंह सजवाण व प्रदेश उध्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष  पंकज गुप्ता ने भी आंदोलन को अपना समर्थन दिया । सरकार के पुतले फूंकने के दौरान जिला अध्यक्ष नरेश अग्रवाल जिला संयुक्त  महामंत्री पवन शर्मा राजेश अग्रवाल रवि जैन  सुनील गुप्ता प्रदीप गुप्ता सरदार बलवंत सिंह परमजीत सिंह अरविंद जैन  पंकज चावला अभिषेक शर्मा आशु दंग पदम शर्मा मनोज टुटेजा शिवम टुटेजा जगमीत सिंह चंद्रिका त्रिपाठी सरदार राजकुमार मारवाह राहुल पाल संजय पवार धीरज चतरथ दिनेश अरोड़ा आशु अरोड़ा सुभाष टुटेजा प्रतीक पुंडीर  आदि उपस्थित थे ।

।।एक सप्ताह ओर बढ़ा lockdown ।। सरकार ने जारी की नई गाइडलाइन ।।

राशन की दुकानें दो दिन खुलेंगी
राशन, किराने, जनरल स्टोर, स्टेशनरी और किताबों की दुकानें नौ जून बुधवार और 14 जून सोमवार को सुबह आठ बजे से दोपहर एक बजे तक खुलेंगी। वहीं, फोटोकापी, टिंबर मर्चेंट, की दुकानें फिलहाल सिर्फ नौ जून को ही खुलेंगी। सरकारी सस्ते गल्ले की दुकानें नियमित तौर पर सुबह आठ से दोपहर 12 बजे तक खोलने की अनुमति दी गई है।

कपड़ा, रेडिमेड की दुकानें 11 को खुलेंगी
उत्तराखंड में खाद्य पैकेजिंग, कपड़ा, रेडिमेड, दर्जी, चश्में, साइकिल स्टोर, औद्योगिक मशीनरी, मोर्टर पार्टस एवं ड्राइ क्लीनर्स की दुकानें 11 जून को खुलेंगी। इन सभी दुकानों का खुलने का समय सुबह आठ बजे से दोपहर एक बजे तक रखा गया है।

शराब की दुकानें तीन दिन खुलेंगी
राज्य सरकार ने शराब की दुकानों को हफ्ते में तीन दिन तक खोलने का निर्णय लिया है। ये दुकानें नौ, 11 व 14 जून तक दोपहर एक बजे तक खुलेंगी, जबकि बार अग्रिम आदेश तक बंद ही रहेंगे। वहीं, इन दोनों तिथियों को आटो मोबाइल की दुकानें भी खोलने की अनुमति दी गई है।

।।तृणमूल कांग्रेस के नेता दीपेंदु बिस्वास और सोनाली गुहा समेत अनेक पूर्व विधायक पिछले कुछ दिनों में पत्र लिखकर भाजपा में शामिल होने के लिए खेद जताया ।।

तृणमूल कांग्रेस के नेता दीपेंदु बिस्वास और सोनाली गुहा समेत अनेक पूर्व विधायक पिछले कुछ दिनों में पत्र लिखकर भाजपा में शामिल होने के लिए खेद जता चुके हैं। उन्होंने तृणमूल कांग्रेस में वापसी की इच्छा जाहिर की है। एक समय बनर्जी की करीबी रहीं सोनाली ने मुख्यमंत्री से माफी की मांग करते हुए कैमरे पर भावुक अपील की।

दक्षिण 24 परगना के सतगचिया से चार बार विधायक रहीं सोनाली ने एक पत्र में लिखा कि जिस तरह पानी के बाहर मछली नहीं रह सकती, उसी तरह दीदी, ‘मैं आपके बिना नहीं रह पाऊंगी।’ अटकलें तो तृणमूल कांग्रेस के संस्थापकों में शामिल रहे मुकुल रॉय की भी संभावित घर वापसी को लेकर चल रही हैं जो भाजपा के राज्यसभा सदस्य हैं।

हाल ही में ममता बनर्जी के भतीजे अभिषेक ने शहर के एक अस्पताल में जाकर रॉय की पत्नी का हालचाल जाना और उनके बेटे से बात की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी रॉय को फोन कर उनकी पत्नी की सेहत के बारे में पूछा।

रॉय तृणमूल कांग्रेस में वापसी की अटकलों को अपनी तरफ से खारिज करने की कोशिश कर रहे हैं, लेकिन अटकलों का बाजार अब भी गर्म है क्योंकि बनर्जी ने कहा था कि रॉय का बर्ताव इतना बुरा नहीं है। मुख्यमंत्री बनर्जी ने चुनाव प्रचार के दौरान बागी नेताओं को मीर जाफर की संज्ञा दी थी। अब तृणमूल कांग्रेस चुनिंदा तरीके से नेताओं की घर वापसी कर सकती है।

कलकत्ता रिसर्च ग्रुप के सदस्य और जानेमाने राजनीतिक विश्लेषक रजत रॉय ने कहा कि इसका मकसद सांगठनिक रूप से भाजपा को कमजोर करना होगा लेकिन उसी समय वह सभी नेताओं की घर वापसी नहीं कराएगी ताकि बगावत करने वालों के साथ सख्ती का संदेश भी जाए।

।। तृणमूल कांग्रेस के नेता दीपेंदु बिस्वास और सोनाली गुहा समेत अनेक पूर्व विधायक पिछले कुछ दिनों में पत्र लिखकर भाजपा में शामिल होने के लिए खेद जताया।।

।।केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने बड़ा फैसला करते हुए शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) योग्यता प्रमाण पत्र की वैधता अवधि सात वर्ष से बढ़ाकर आजीवन कर दी है।।

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने बड़ा फैसला करते हुए शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) योग्यता प्रमाण पत्र की वैधता अवधि सात वर्ष से बढ़ाकर आजीवन कर दी है। इतना ही नहीं, केंद्र सरकार के निर्देशों के अनुसार, यह फैसला तत्काल लागू किया जा रहा है। साथ ही केंदीय शिक्षा मंत्रालय के बयान के अनुसार, यह फैसला 10 साल पहले की तारीख 01 जनवरी, 2011 से लागू किया गया है। 

यानी की इन सालों में जिनके भी प्रमाण – पत्रों की अवधि पूरी हो चुकी है। वे भी शिक्षक भर्ती परीक्षाओं के लिए पात्र होंगे। उन्हें बार-बार परीक्षा में भाग लेने की आवयश्कता नहीं रहेगी। केंदीय शिक्षा मंत्रालय ने कहा कि संबंधित राज्य / केंद्र शासित प्रदेश उन उम्मीदवारों को नए टीईटी प्रमाण पत्र जारी करने / जारी करने के लिए आवश्यक कार्रवाई करेंगे, जिनकी सात वर्ष की अवधि पहले ही समाप्त हो चुकी है। 

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने बड़ा फैसला करते हुए शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) योग्यता प्रमाण पत्र की वैधता अवधि सात वर्ष से बढ़ाकर आजीवन कर दी है।

।। रीट परीक्षा की नई तिथि इस सप्ताह हो सकती है घोषित ।।

राजस्थान में 31000 शिक्षकों की भर्ती के लिए 20 जून को होने को प्रस्तावित रीट परीक्षा की नई तिथि इस सप्ताह घोषित हो सकती है। शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने शनिवार को मीडिया से बताया कि रीट परीक्षा को लेकर फैसला एक-दो दिन में कर लिया जाएगा। इसके बाद ईडब्ल्यूएस श्रेणी के अभ्यर्थियों लिए आवेदन प्रक्रिया शुरू की जाएगी। उन्होंने कहा कि रीट के आवेदन नए सिरे से लिए जाएंगे इसके कार्यक्रम की घोषण जल्द ही की जाएगी।

।। 12 वीं Science के बाद उपलब्ध कोर्स ।।

PCM के साथ 12 वीं Science के बाद कोर्स:
  • Engineering (B.E/ B.Tech)
  • B.Arch
  • Integrated M.Sc
  • BCA
  • B.Com
  • Defence (Navy, Army, Air force)
  • B.Sc. Degree
  • B.Des
  • BA
  • LLB (Bachelor of Law)
  • Education/ Teaching
  • Travel & Tourism Courses
  • Environmental Science
  • Fashion Technology
  • Hotel Management
  • Designing Courses
  • Media/ Journalism Courses
  • Film/ Television Courses
  • CA Program
  • ICWA Program
  • CS Program

(12th Science ke baad kya kare in hindi)

  • MBBS
  • BAMS (Ayurvedic)
  • BHMS (Homoeopathy)
  • BUMS (Unani)
  • BDS
  • Bachelor of Veterinary Science & Animal Husbandry (B.VSc AH)
  • Bachelor of Naturopathy & Yogic Science (BNYS)
  • Bachelor of Physiotherapy
  • Integrated M.Sc
  • B.Sc. Nursing
  • B.Sc. Dairy Technology
  • B.Sc. Home Science
  • Bachelor of Pharmacy
  • Biotechnology
  • BOT (Occupational Therapy)
  • General Nursing
  • BMLT (Medical Lab Technology)
  • Paramedical Courses
  • B.Sc. Degree
  • BA
  • LLB (Bachelor of Law)
  • Education/ Teaching
  • Travel & Tourism Courses
  • Environmental Science
  • Fashion Technology
  • Hotel Management
  • Designing Courses
  • Media/ Journalism Courses
  • Film/ Television Courses
  • CA Program
  • ICWA Program
  • CS Program
12 वीं विज्ञान के बाद डिप्लोमा पाठ्यक्रम:

(12th Science ke baad kya kare)

  • Diploma in Beauty Culture & Hair Dressing
  • Computer Hardware
  • Fashion Designing – DFD
  • Dress Designing – DDD
  • Drawing and Painting
  • Cutting and Tailoring
  • Web Designing
  • Graphic Designing
  • Information Technology
  • Application Software Development – DASD
  • Textile Designing – DTD
  • Hospital & Health Care Management
  • Physical Medicine and Rehabilitation
  • Film Arts & A/V Editing
  • Animation and Multimedia
  • Print Media Journalism & Communications
  • Film Making & Digital Video Production
  • Mass Communication
  • Mass Media and Creative Writing
  • Animation Film Making
  • Air Hostess
  • Air Crew
  • Event Management
  • HR Training
  • Computer Courses
  • Foreign Language Courses

महत्वपूर्ण निर्देश: आपको एडमिशन लेने से पहले आप अपने बेस्ट टीचर या फ्रेंड या रिलेटिव की मदद जरूर लें।

निवेदन – आप सभी से निवेदन है कि इस लिंक 12th ke baad kya kare को अपने दोस्तों को वाट्स एप गुप एवं फेसबुक या अन्य सोशल नेटवर्क पर अधिक से अधिक शेयर करें और उनको भी अच्छा रोजगार पाने में उनकी मदद करें।

TODAY World No Tobacco Day 2021 ।। आज पूरी दुनिया में आज यानी 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस ।।

World No Tobacco Day 2021: पूरी दुनिया में आज यानी 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस (World No Tobacco Day) मनाया जा रहा है. आज का दिन तंबाकू के दुष्प्रभावों को जानने और इस लत से तौबा करने का है.

कई शोधों में ये बात सामने आई है कि जो लोग स्मोकिंग करते हैं, वे ये कहते हैं कि उनके लिए इस आदत को छोड़ पाना आसान नहीं. तमाम कोशिशों के बाद ये छूटती ही नही है

TODAY World No Tobacco Day 2021  ।। आज पूरी दुनिया में आज यानी 31 मई को विश्व तंबाकू निषेध दिवस ।।

इसलिए आज विश्व तंबाकू निषेध दिवस के मौके पर हम आपके लिए लाए हैं ऐसे ही उपाय, जिन्हें अपनाकर आप इस आदत से निजात पा सकते हैं.

।।आज है हिंदी पत्रकारिता दिवस ।।

हिंदी पत्रकारिता दिवस (अंग्रेज़ीHindi Journalism Day) प्रतिवर्ष 30 मई को मनाया जाता है। इसी तिथि को पंडित युगुल किशोर शुक्ल ने 1826 ई. में प्रथम हिन्दी समाचार पत्र ‘उदन्त मार्तण्ड‘ का प्रकाशन आरम्भ किया था। भारत में पत्रकारिता की शुरुआत पंडित जुगल किशोर शुक्ल ने ही की थी। हिन्दी पत्रकारिता की शुरुआत बंगाल से हुई थी, जिसका श्रेय राजा राममोहन राय को दिया जाता है। आज के समय में समाचार पत्र एक बहुत बड़ा व्यवसाय बन चुका है। मीडिया ने आज सारे विश्व में अपनी एक ख़ास पहचान बना ली है।

।। जल्द ही आपको गूगल फोटोज के स्पेस का इस्तेमाल करने के लिए देने होंगे पैसे ।।

अगर आप गूगल फोटोज का इस्तेमाल करते हैं या फिर यूट्यूब पर क्रिएटर हैं तो आपके लिए बुरी खबर है क्योंकि जल्द ही आपको गूगल फोटोज के स्पेस का इस्तेमाल करने के लिए पैसे देने होंगे. इसके अलावा यूट्यूब क्रिएटर्स को अपनी कमाई पर टैक्स देना होगा. इन सभी चीजों को एक जून से लागू किया जाएगा.

आपको बता दें कि गूगल एक जून से अपने फोटोज ऐप के लिए अनलिमिटेड फोटोज को अपलोड करने का एक्सेस नहीं देगा. गूगल के अनुसार हर यूजर को 15GB की स्पेस दिया जाएगा जिसमें जीमेल के ईमेल्स के साथ फोटोज भी शामिल हैं. इसमें गूगल ड्राइव पर मौजूद आपकी फोटो, वीडियो और अन्य फाइल्स भी शामिल होंगी. इसके बाद 15GB का स्पेस इस्तेमाल करने के बाद और ज्यादा स्पेस का इस्तेमाल करने के लिए गूगल वन से सब्सक्रिप्शन खरीदना होगा. बता दें कि गूगल वन के मिनिमम सब्सक्रिप्शन के 100GB स्टोरेज स्पेस के लिए प्रतिमाह 130 रुपये या फिर एनुअली 1300 रुपये देने होंगे.

।।देश भारत के पांचवे प्रधानमंत्री Chaudhary Charan Singh की 24वीं पुण्यतिथि ।।

इस समय देश में काफी समय से किसान (Farmer) आंदोलन चल रहा है. इस बात पर अभी तक बहस चल रही है कि कोरोना काल में भी इसके जारी रहने का क्या औचित्य है. जब भी देश में किसानों को लेकर कोई आवाज उठती है तो उसके आंदोलन का रूप लेने से पहले ही चौधरी चरण सिंह (Chaudhary Charan Singh) का नाम आता है और आता रहता है. देश भारत के पांचवे प्रधानमंत्री के 24वीं पुण्यतिथि (Chaudhary Charan Singh Death Anniversary) के मौके पर उन्हें याद कर रहा है.

।।बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा लाइव टीवी डिबेट में ही कर दी बड़ी गलती।।

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा लाइव टीवी डिबेट में ही बड़ी गलती कर बैठते हैं। संबित कह देते हैं कि भारत में 30 राज्य हैं। उनके इस गलत जवाब का वीडियो लगातार ट्विटर पर वायरल हो रहा है और लोग उनसे सवाल कर रहे हैं। अब उन्होंने इस पर सफाई दे दी है।

।।केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने गुरुवार को घोषणा की कि केरल सरकार की ओर से कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण जान गंवाने वालों के बच्चों को  ₹3,00,000 तत्काल राहत के रूप में दिया जाय।।

कोरोना महामारी ने देशभर में लाखों लोगों को अकाल मौत का शिकार बनाया है। हजारों बच्चे अपने खेलने-कूदने की उम्र में ही अनाथ हो चुके हैं। उनके सिर पर न किसी का हाथ रहा और न ही कोई सहारा। ऐसे में केरल सरकार ने बड़ी पहल की है। केरल सरकार ने न केवल ऐसे बच्चों को आर्थिक सहारा देने का बीड़ा उठाया है बल्कि उन्हें मुफ्त शिक्षा देने का भी वादा किया है। 

केरल सरकार उन बच्चों के लिए एक विशेष आर्थिक पैकेज का प्रावधान करेगी, जिन्होंने कोरोना महामारी के कारण अपने माता-पिता को खो दिया है। इस विशेष पैकेज के तहत सरकार उन्हें एकमुश्त तत्काल सहायता, मासिक सहयोग राशि और निशुल्क शिक्षा देगी।  केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन ने गुरुवार को घोषणा की कि केरल सरकार की ओर से कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण जान गंवाने वालों के बच्चों को  ₹3,00,000 तत्काल राहत के रूप में दिया जाएगा और ₹2,000 की मासिक राशि उन बच्चों के 18वें जन्मदिन तक जारी की जाएगी। साथ ही ऐसे बच्चों का स्नातक तक की पढ़ाई का खर्चा राज्य सरकार द्वारा वहन किया जाएगा। 

।।30 जून तक बढ़ी अंतरराष्ट्रीय कॉमर्शियल उड़ानों पर लगी रोक, DGCA का फैसला।।

30 जून तक बढ़ी अंतरराष्ट्रीय कॉमर्शियल उड़ानों पर लगी रोक, DGCA का फैसला
30 जून तक बढ़ी अंतरराष्ट्रीय कॉमर्शियल उड़ानों पर लगी रोक, DGCA का फैसला

देश में कोरोना का प्रकोप अभी थमा नहीं है, और सरकार इस मामले में फूंक-फूंक कर कदम रख रही है। देश में महामारी के मौजूदा हालात को देखते हुए भारत सरकार ने अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर प्रतिबंध को 30 जून तक के लिए बढ़ा दिया है। DGCA ने एक सर्कुलर जारी कर इसकी जानकारी दी। भारत ने पिछले महीने ही नियमित अंतरराष्‍ट्रीय वाणिज्यिक उड़ानों के परिचालन पर लगाए गए प्रतिबंध को 31 मई 2021 तक के लिए बढ़ा दिया था। हालांकि सर्कुलर में ये भी कह गया था कि कुछ जरूरी मामलों में चुनिंदा रूट पर विदेशी उड़ान सेवाओं के लिए मंजूरी दी जा सकती है। वैसे यह प्रतिबंध अंतर्राष्‍ट्रीय कार्गो संचालन और उड़ानों पर लागू नहीं होगा।

गौरतलब है कि पिछले साल 25 मार्च 2020 को पैसेंजर एयर सर्विसेज को निलंबित कर दिया था। इसके दो महीने बाद 25 मई 2020 से घरेलू उड़ान सेवाओं को फिर से शुरू कर दिया गया था। उधर, कनाडा ने भी भारत और पाकिस्तान की ओर से आने वाले यात्री विमानों के आगमन पर लगे प्रतिबंध को 30 दिन के लिए बढ़ाने का फैसला किया है। कनाडा के परिवहन मंत्री के मुताबिक यह प्रतिबंध 21 जून तक प्रभावी रहेगा। वहीं हांगकांग और मलेशिया ने भी भारत के लिए हवाई उड़ानों पर प्रतिबंध लगाया दिया है। बता दें कि मलेशिया से वंदे भारत मिशन की उड़ानों को भी अस्थायी रूप से निलंबित करने का फैसला लिया गया है। दूसरी तरफ, भारत से ऑस्ट्रेलिया जाने वाली उड़ानों पर लगाया गया प्रतिबंध 15 मई से खत्म हो गया है।

।।उत्तराखंड के श्रीनगर मलेथा में बस और ब्लोरो में आमने सामने भंयकर टक्कर।।

।।उत्तराखंड के श्रीनगर मलेथा में बस और ब्लोरो में आमने सामने भंयकर टक्कर।।

पर्वतीय क्षेत्र उत्तराखंड के श्रीनगर मलेथा में बस और ब्लोरो में
आमने सामने भंयकर टक्कर से तीन लोगों की मौके पर ही मौत

पर्वतीय क्षेत्रों में इस प्रकार की दुर्घटना कहीं न कहीं लापरवाही का संकेत दर्शाती है |पहाडो़ में यातायात के नियमों का पालन न करना सीधे सीधे मौत को दावत देना है इसका मुख्य कारण स्पीड गवर्नर का न होना व स्पीड लिमिट से अधिक वाहन को चलाना मुख्य कारण हो सकता है |

पहाडो़ के यातायात के मुख्य नियम सडकों पर लगे साइनबोर्ड बार बार दर्शाते हैं लेकिन लोग इनपर कोई ध्यान ही नहीं देते

सडक पर बाएं चलिए अपनी साइड में ही वाहन चलाइए मोडो पर हार्न का प्रयोग करें चढती गाड़ी को रास्ता दे वाहन तेज न चलाइए और पहाडो़ के सडकों पर मुख्य चेतावनी लिखी होती है लेकिन लोग इसका अनदेखा करके दुर्घटनाओं का शिकार होते हैं |
.

रामदेव अपनी दवाएं बेचने के लिए लगातार झूठ फैला रहे हैं।

आईएमए उत्तराखंड के सचिव डा. अजय खन्ना ने कहा कि वे बाबा रामदेव से आमने-सामने बैठकर सवाल-जवाब करने को तैयार हैं। बाबा रामदेव को एलोपैथी के बारे में रत्ती भर भी ज्ञान नहीं है। इसके बावजूद वे पैथी और उससे जुड़े डॉक्टरों के खिलाफ अनर्गल बयानबाजी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि इससे दिन रात मरीजों की सेवा में जुटे डॉक्टरों का मनोबल गिरा है। बाबा रामदेव हमेशा से बीमारियों और उनके इलाज को लेकर अवैज्ञानिक दावे करते रहे हैं। वे कैंसर का इलाज करने का दावा करते हैं। अगर ऐसा है तो उन्हें इस खोज के लिए नोबेल पुरस्कार दिया जाना चाहिए। 

डा. खन्ना ने कहा कि रामदेव अपनी दवाएं बेचने के लिए लगातार झूठ फैला रहे हैं। बाबा ने कहा कि उन्होंने हमारे अस्पतालों में अपनी दवाओं का ट्रायल किया है। हमने उनसे पूछा कि उन अस्पतालों के नाम बताएं लेकिन वे नहीं बता पाए, क्योंकि उन्होंने ट्रायल किया ही नहीं। कोरोना के इलाज में जुटे डॉक्टरों के खिलाफ इस तरह की टिप्पणी से लोगों में भी बाबा के प्रति गुस्सा है। अपनी दवा बेचने के लिए वे टीवी में टीकाकरण से साइड इफेक्ट होने के विज्ञापन भी जारी कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर सरकार उनके खिलाफ महामारी एक्ट में कार्रवाई नहीं करेगी तो आईएमए हरिद्वार में उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज कराएगी। 

।।सोशल मीडिया प्लेफॉर्म बंद होने के बीच Facebook की तरफ से बड़ा बयान।।

सोशल मीडिया प्लेफॉर्म बंद होने के बीच Facebook की तरफ से बड़ा बयान दिया गया है। Facebook ने कहा है कि वो आइटी नियमों के प्रावधानों का पालन करेगा। साथ ही कुछ मुद्दों पर Facebook की सरकार के साथ बातचीत चल रही है। Facebook की तरफ से कहा गया है कि हमारा लक्ष्य आइटी नियमों के प्रावधानों का पालन करना है। साथ ही इसे लागू करने की दिशा में काम कर रही है। 

केंद्र ने 3 माह पहले जारी किया थी नई गाइडलाइन

केंद्र सरकार ने इस साल फरवरी में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के लिए नई गाइडलाइन को जारी किया गया था, उस वक्त मिनिस्ट्री ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंफॉर्मेसन टेक्नोलॉजी (MEITy) की तरफ से सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को नये आईट रूल को लागू करने के लिए तीन माह का वक्त दिया गया था। 

25 मई – ‘श्रीदेव सुमन’ जयंती… जिनके 84 दिनों तक किया आमरण अनशन

आज का दिन उत्तराखंड के इतिहास में स्वर्णाक्षरों में लिखा गया है। आज ही के दिन, 25 मई को, उत्तराखंड के सबसे महान स्वतंत्रता सेनानियों में से एक श्रीदेव सुमन ने जन्म लिया था। सुमन 1930 में 14 साल की उम्र में ही महात्मा गांधी के नमक सत्याग्रह आंदोलन में कूद पड़े थे, जिसके लिए उन्हे जेल जाना पड़ा था। उसके बाद उन्होंने टिहरी रियासत की सामंतशाही और राजशाही नीतियों के विरोध में आंदोलन प्रारंभ किया। 1940 में राजा की नीतियों का विरोध करने पर उन्हें जेल भेजा गया। उनके खिलाफ झूठे मुकदमे दर्ज किये गये जिस पर सुमन ने ऐतिहासिक आमरण-अनशन शुरू कर दिया था। इतिहास के शायद सबसे लम्बे 84 दिनों के आमरण अनशन के बाद वे राजा की नीतियों का विरोध करते हुए 25 जुलाई 1944 को शहीद हो गये लेकिन उनका बलिदान से उत्तराखंड की जनता में आन्दोलन का ऐसा उन्माद उत्पन्न हुआ कि 15 जनवरी 1948 को टिहरी सियासत राजशाही से मुक्त हो गयी। श्रीदेव सुमन का कहना था कि “मैं अपने शरीर के कण-कण को नष्ट हो जाने दूंगा लेकिन टिहरी रियासत के नागरिक अधिकारों को कुचलने नहीं दूंगा”। सुमन की इस बात पर राजा ने दरबार और प्रजामण्डल के बीच सम्मानजनक समझौता कराने का संधि प्रस्ताव भी भेजा, लेकिन राजा के दरबारियों ने उसे खारिज कर इनके पीछे पुलिस और गुप्तचर लगवा दिये।

घर से निकले बच्चे को मिलवाया उसके परिजनों से

घर से निकले बच्चे को मिलवाया उसके परिजनों से

23.05.2021 की सांय को एक बच्चा जो कि, चमोली की ओर से पैदल रुद्रप्रयाग की ओर आ रहा था, को घोलतीर चौकी पर पुलिस द्वारा रोक कर नाम पता पूछा तो उक्त बच्चे ने अपना नाम व पता लक्ष्मण नांगला, जिला अलीगढ़ उत्तर प्रदेश तथा खुद की उम्र 11 वर्ष होना बताया गया।
उसके द्वारा यह भी बताया गया कि, वह अपने चाचा देवेंद्र के साथ कर्णप्रयाग में रहता था, लेकिन चाचा परसों रात से कमरे पर नहीं आए तथा मकान मालिक ने कमरे पर ताला लगा दिया है और वह अब अपने घर यूपी जा रहा है।
उक्त बच्चे को तसल्ली से चौकी पर बिठाकर बच्चे के संबंध में थाना कर्णप्रयाग व चौकी गौचर में संपर्क किया गया तथा बच्चे के बताए अनुसार बच्चे के चाचा की खोजबीन हेतु चौकी घोलतीर पुलिस कर्णप्रयाग, गौचर की तरफ गई तो गौचर चौकी से ज्ञात हुआ कि उक्त बच्चे के पिता व तीन अन्य भाई-बहन गौचर में रहते हैं बच्चे के पिता की गौचर में कपड़ों की दुकान है, घर में झगड़ा होने से बच्चा घर से बिना बताये चला गया था। घोलतीर चौकी पर तैनात आरक्षी विनोद कुमार व आरक्षी भानु प्रताप सिंह द्वारा उक्त बच्चे को सही सलामत उसके परिजनों के सुपुर्द किया गया।
बच्चे के परिजनों द्वारा बच्चे को सही सलामत उन तक पहुंचाने के लिए जनपद रुद्रप्रयाग पुलिस का धन्यवाद ज्ञापित किया गया है।

Social Media Cell Police Office Rudraprayag

।।बोर्ड परीक्षाओं के आयोजन के संबंध में उच्च स्तरीय बैठक के बाद केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने राज्यो से मांगे सुझाव।।

बोर्ड परीक्षाओं के आयोजन के संबंध में उच्च स्तरीय बैठक के बाद केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा कि कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं पर अन्य राज्यों के साथ बैठक फलदायी रही, क्योंकि हमें अत्यधिक मूल्यवान सुझाव मिले। मैंने राज्य सरकारों से 25 मई तक अपने विस्तृत सुझाव मुझे भेजने का अनुरोध किया है। 

निशंक ने कहा कि इससे हम कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षाओं के संबंध में एक निर्णय पर पहुंचने में सक्षम होंगे और छात्रों और अभिभावकों के बीच अनिश्चितता को दूर करने के लिए उन्हें अपने निर्णय के बारे में जल्द से जल्द सूचित करेंगे। छात्रों और शिक्षकों दोनों की सुरक्षा हमारे लिए बेहद जरूरी है। 

।।ओलिंपिक गोल्ड मेडलिस्ट सुशील कुमार को 6 दिन के लिए दिल्ली पुलिस की कस्टडी में भेजा ।।

छत्रसाल स्टेडियम में जूनियर गोल्ड मेडलिस्ट पहलवान सागर राणा की हत्या के मामले में ओलिंपिक गोल्ड मेडलिस्ट सुशील कुमार को 6 दिन के लिए दिल्ली पुलिस की कस्टडी में भेज दिया गया है। पुलिस ने दिल्ली कोर्ट से 12 दिन की कस्टडी मांगी थी। सुशील कुमार और साथी अजय को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने राजधानी के ही मुंडका इलाके से रविवार सुबह ही गिरफ्तार किया था।

सुशील और अजय दोनों 4 मई को देर रात हुई घटना के बाद से फरार चल रहे थे। पूरे 18 दिन तक फरार रहने के बाद दोनों पुलिस की गिरफ्त में आए। इस बीच, खुलासा हुआ है कि सुशील ने मृतक सागर से मारपीट का वीडियो भी बनवाया था, ताकि सर्किट में उसका प्रभाव बरकरार रहे।

।।पर्यावरणविद, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व पद्मभूषण सुंदरलाल बहुगुणा (93 वर्ष) में निधन ।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में भर्ती पर्यावरणविद, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी व पद्मभूषण सुंदरलाल बहुगुणा (93 वर्ष) का शुक्रवार की दोपहर निधन हो गया। कोरोना संक्रमित होने के कारण उन्हें बीती आठ मई को एम्स ऋषिकेश में भर्ती किया गया था। एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि उन्हें यहां आईसीयू में लाइफ सपोर्ट में रखा गया था। उनके रक्त में ऑक्सीजन की परिपूर्णता का स्तर बीती शाम से गिरने लगा था। चिकित्सक विशेषज्ञ उनकी निरंतर स्वास्थ्य संबंधी निगरानी कर रहे थे। शुक्रवार की दोपहर करीब 12 बजे पर्यावरणविद सुंदरलाल बहुगुणा ने अंतिम सांस ली। उनके पुत्र राजीव नयन बहुगुणा एम्स में ही मौजूद है। पर्यावरणविद बहुगुणा का अंतिम संस्कार ऋषिकेश गंगा तट पर शुक्रवार को ही पूरे राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा। एम्स के निदेशक प्रोफेसर रविकांत ने उनके निधन को उत्तराखंड ही नहीं, बल्कि पूरे देश की अपूरणीय क्षति बताया है। उन्होंने उन्हें श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने पर्यावरणविद् बहुगुणा के निधन पर गहरा शोक व्यक्त हुए इसे देश की अपूरणीय क्षति बताया है।

।।आज है पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की पुण्य तिथि ।।

21 मई, 1991. हत्या हुई देश के प्रधानमंत्री राजीव गांधी की. जगह – श्रीपेरम्बदूर, तमिलनाडु. उन्हें मानव बम से मारा गया. एक तस्वीर है. फ़ेमस. जिसमें उन्हें मारने वाली लड़की उन्हें माला पहना रही है. राजीव गांधी के जीवन की आख़िरी तस्वीर. मरने से चंद सेकण्ड पहले. बम फटा और सब खतम. लिट्टे का भारत पर सबसे क़रारा वार. देश के सबसे ताकतवर परिवार का सबसे ताकतवर इंसान. मार दिया गया.

बम फ़टने के कुछ ही घन्टे के अन्दर घटनास्थल पर पहुंचे तमिलनाडु फ़ोरेंसिक साइंस डिपार्टमेंट के डायरेक्टर पी. चन्द्रशेखर. दो दिन चुप-चाप अपनी जांच जारी रखी. दो दिनों बाद उन्होंने बताया – बम को बेल्ट की तरह से एक औरत ने पहन रखा था. उस औरत ने हरे रंग का सलवार-कुरता पहना हुआ था. जब बम फटा उस वक़्त वो राजीव गाँधी के पैर छूने के लिए झुक रही थी.

विज्ञापन

।। बहुत दुःखद समाचार लोककलाकार एवं गढ़वाली के सुविख्यात रंगकर्मी रामरतन काला नहीं रहे।।

बहुत दुःखद समाचार लोककलाकार एवं गढ़वाली के सुविख्यात रंगकर्मी रामरतन काला नहीं रहे। कल रात हृदयगति रुकने से उनका निधन हो गया। वे आकाशवाणी और दूरदर्शन के जाने-माने कलाकार रहे। उन्होंने आकाशवाणी नजीबाबाद के ग्राम जगत कार्यक्रम में वे “रारादा” के स्टॉक करेक्टर में सालों भूमिका निभाई। दूरदर्शन देहरादून के कल्याणी कार्यक्रम में वे “मुल्कीदा” की भूमिका में दर्शकों का मनोरंजन करते रहे।

स्व. काला आकशवाणी के लोकसंगीत के “बी हाई” ग्रेड के कलाकार थे। वे 2008 से बीमारी की हालत में थे लेकिन उसमें सुधार हो गया था। हालांकि उन्होंने इसके बाद फिल्म, रंगकर्म, लोकसंगीत में प्रतिभागिता करना बंद कर दिया था। गढ़वाली की अनेक फिल्मों में वे हास्य कलाकार की भूमिका निभाते रहे। सतपुली गढ़वाल के मूल निवासी स्व. काला वर्तमान में वे कोटद्वार भाबर में रह रहे थे। उनमें कूटकूट कर हास्य भरा हुआ था। वे बहुत सहज और ग्रामीण पृष्ठभूमि के कलाकार थे। “ब्यौलि खुजे द्यावो”, “अब खा माछा” आदि उनकी अनेक हास्य प्रस्तुतियां देखने-सुनने वालों को आज भी गुदगुदाती हैं।

बहुत दुःखद समाचार लोककलाकार एवं गढ़वाली के सुविख्यात रंगकर्मी रामरतन काला नहीं रहे।

जरुरतमंद महिला की फरियाद पर चमोली पुलिस ने पहुँचायी आवश्यक सामाग्री।

“मिशन हौसला”

श्री यशवंत चौहान, पुलिस अधीक्षक चमोली निर्देशानुसार कोविड काल के दौरान चमोली पुलिस द्वारा चलाए जा रहे ऑपरेशन ‘मिशन हौसला’ के तहत बुजुर्ग, गरीब, बीमार असहाय एवं जरुरतमंद लोगों के प्रति पुलिस लगातार मानवीय रुख अपनाए हुयी है, दिनांक 18/5/2021 को चौकी देवाल पर देवाल पूर्णा निवासी महिला द्वारा फ़ोन कर बताया गया कि मेरे घर में छोटे बच्चे है और घर में राशन समाप्त हो गया है। जिस पर देवाल पुलिस द्वारा तत्काल महिला को राशन , दूध इत्यादि आवश्यक सामग्री दी गयी व अपना मोबाइल नम्ब देकर भविष्य में किसी भी प्रकार की आवश्यकता पड़ने पर तत्काल पुलिस को सूचित कर सहायता करने का भरोसा दिलाया गया। उक्त महिला द्वारा पुलिस का सहृदय धन्यवाद दिया गया।

वर्चुअल पुलिस स्टेशन जनपद चमोली

।।ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार की सूचना देने वाले को 1 लाख रुपए की घोषणा।। DP

दिल्ली पुलिस ने सोमवार को छत्रसाल स्टेडियम में की गई पहलवान सागर राना हत्याकांड मामले में अपराधियों पर इनाम की घोषणा की है। दिल्ली पुलिस ने दो बार के ओलंपिक पदक विजेता सुशील कुमार की सूचना देने वाले को 1 लाख रुपए और उनके सहयोगी अजय कुमार की जानकारी देने वाले को 50,000 रुपए के इनाम की घोषणा की है। साथ ही दिल्ली पुलिस ने सुशील कुमार और अन्य के खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी किया है।

।।घर से भटकी महिला को सकुशल पहुंचाया उस के घर।।

दिनांक 16 मई 2021 की सांयकाल करीब 6 बजे लगभग क्षेत्र पंचायत सदस्य श्री विनोद राणा जी द्वारा थानाध्यक्ष ऊखीमठ को फोन पर सूचना दी गई थी कि, ग्राम मनसूना में एक महिला लावारिस हालत में घूम रही है।
सूचना पर थानाध्यक्ष ऊखीमठ अधीनस्थ पुलिस बल सहित ग्राम मनसूना पहुंचे तो बाजार में एक महिला मिली जो कि, मानसिक रुप से अस्वस्थ प्रतीत हो रही थी।
उनसे नाम पूछने पर उसके द्वारा अपना नाम भागदेई तथा अपने गांव का नाम डूंगर ही बता पा रही थी।

इस पर थानाध्यक्ष द्वारा ग्राम डूंगर में सूचना देकर उपरोक्त महिला के परिजनों से संपर्क साधा गया एवं महिला को सुरक्षा की दृष्टि से थाने ले आए।

लगभग दो घंटे बाद महिला के परिजन थाने पर आए एवं उनके द्वारा बताया गया कि ये कुछ समय से मानसिक रुप से अस्वस्थ हैं एवं आज दिन में घर से बिना बताए कहीं चली गई थी।

जिस कारण वे खुद ही परेशान थे और अपने स्तर से रिश्तेदारी इत्यादि में फोन वगैरह करके खुद ही तलाश भी कर रहे थे।

इनके परिवार की स्थिति सही न होने के कारण थाना ऊखीमठ पुलिस द्वारा परिजनों को राशन इत्यादि भी दिया गया तथा महिला को उनके सुपुर्द कर ध्यान रखे जाने हेतु कहा गया।

जनपद रुद्रप्रयाग पुलिस के स्तर से असहाय एवं जरूरतमंद लोगों की मदद का सिलसिला निरंतर जारी है।

सोशल मीडिया सेल पुलिस कार्यालय रुद्रप्रयाग।

।।श्रीनगर पुलिस को मिली बड़ी सफलता ,अवैध शस्त्र (तमंचा) ,अवैध चरस व अवैध शराब के साथ पुलिस ने दबोचा ।।

श्रीनगर पुलिस को मिली बड़ी सफलता ,
अवैध शस्त्र (तमंचा) ,अवैध चरस व अवैध शराब के साथ पुलिस ने दबोचा ।
जिसमे एक लड़की भी शामिल , और 4 लड़के

।।आक्सीजन और वैक्सीन को लेकर सीएम तीरथ रावत का बयान सोशल मीडिया पर जमकर हो रहा वायरल ।।

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत की शनिवार को एक बार फिर जुबान फिसल गई। आक्सीजन और वैक्सीन को लेकर सीएम तीरथ रावत का एक बयान आज सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो गया। शनिवार को गोपेश्वर में मीडिया कर्मियों से आक्सीजन की उपलब्धता की जानकारी देते सीएम कह गए कि 18 से 44 साल आयु वाले नौजवानों को भी आक्सीजन लगनी शुरू हो गई है। हालांकि तत्काल ही उन्होंने गलती सुधारते हुए वैक्सीन कह दिया। लेकिन, दोपहर कुछ सोशल मीडिया यूजर ने मीडिया से बातचीत के वीडियो में सीएम के ऑक्सीजन तक के बयान को लेते हुए छह सेकेंड का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया।

।।ब्लैक फंगस (म्यूकर माइकोसिस) जैसी घातक बीमारी ने उत्तराखंड में भी दी दस्तक ।।

कोरोना संक्रमित मरीजों में होने वाली ब्लैक फंगस (म्यूकर माइकोसिस) जैसी घातक बीमारी ने उत्तराखंड में भी दस्तक दे दी है। देहरादून के मैक्स अस्पताल में पहुंचे एक मरीज में ब्लैक फंगस की पुष्टि हुई है। जबकि मैक्स और दून अस्पताल में तीन अन्य मरीजों में भी इसके लक्षण मिले हैं। इससे शासन-प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के साथ ही आमजन की चिंता बढ़ गई है। जबकि विशेषज्ञ डॉक्टरों का कहना है कि इससे घबराने की नहीं, बल्कि उचित उपचार और एहतियात बरतने की जरूरत है।

विज्ञापन

।।आज की ताजा vedio GK ।।

।।कोरोना वायरस प्राणी है, उसे भी जीने का अधिकार है।। त्रिवेंद्र सिंह रावत।।

उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत अपने एक और बयान को लेकर गुरुवार को फिर चर्चाओं में आ गए। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे बयान में पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस प्राणी है, उसे भी जीने का अधिकार है। हालांकि उनका आशय कोरोना वायरस के बदले स्वरूप को लेकर था।  


पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि जब मैं इलाज कराकर दिल्ली से लौट रहा था। मैंने एक दार्शनिक बात कही थी। वह वायरस भी एक प्राणी है। हम भी एक प्राणी हैं। हम अपने को ज्यादा बुद्धिमान समझते हैं। हम ही सबसे ज्यादा बुद्धिमान हैं। लेकिन वह प्राणी भी जीना चाहता है। उसको भी जीने का अधिकार है।

।। REET 2021 परीक्षा को फिर से स्थगित।।

 राजस्थान सरकार ने देश भर में COVID 19 के कारण REET 2021 परीक्षा को फिर से स्थगित कर दिया है। शिक्षक पात्रता 2021 के लिए राजस्थान पात्रता परीक्षा जो 20 जून 2021 को आयोजित होने वाली थी, स्थगित कर दी गई है। राजस्थान के शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने मीडिया से बात करते हुए इस जानकारी दी, उन्होंने कहा कि 20 जून को परीक्षा आयोजित करना संभव नहीं है। राज्य सरकार का मुख्य ध्यान अब इस महामारी में लोगों की जान बचाना है। इसमें सभी अधिकारी तैनात हैं। परीक्षा आयोजित करने के लिए अनुकूल होने पर परीक्षा जल्द ही आयोजित की जाएगी।

विज्ञापन

।। Stay at home stay safe learn with us।।

।। क्षेत्राधिकारी चमोली महोदय द्वारा आगामी ईद उल फितर को सकुशल सम्पन्न बनाने के परिपेक्ष में थाना गोपेश्वर में किया गोष्ठी का आयोजन, उपस्थित लोगों को मास्क किये गए वितरित।।

आज पुलिस अधीक्षक चमोली *श्री यशवंत सिंह चौहान* महोदय के निर्देशन में क्षेत्राधिकारी चमोली *श्री धन सिंह तोमर* महोदय द्वारा आगामी त्योहार *ईद-उल-फितर* को सकुशल सम्पन्न कराने के परिपेक्ष में थाना गोपेश्वर में मुस्लिम समुदाय के संभ्रांत व्यक्तियों के साथ गोष्ठी का आयोजन किया गया। क्षेत्राधिकारी महोदय द्वारा उपस्थित सभी लोगों से अपील की गयी कि उक्त त्योहार को सभी

सौहार्द पूर्ण तरीके से व कोरोना गाइडलाइंस का पालन करते हुए मनाएं, कहीं पर भी ज्यादा लोग इकट्ठा ना हों, सामाजिक दूरी का पालन करें, मास्क जरूर पहनें,कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने में अपना योगदान दें।
क्षेत्राधिकारी महोदय द्वारा उपस्थित सभी लोगों को मास्क भी वितरित किये गए।

विज्ञापन

मानशी बुटोला जनरल स्टोर तिलवाड़ा पाठों

।।देवप्रयाग में बादल फटने से मंगलवार को भारी तबाही की खबरें।।

देवप्रयाग में बादल फटने से आज मंगलवार को भारी तबाही की खबरें हैं. एसएचओ ने बताया कि आज शाम पांच बजे बादल फटने की खबर मिली. इसमें 12-13 दुकानें और अन्य संपत्ति को नुकसान पहुंचा है. उन्होंने कहा कि चूंकि लॉकडाउन के चलते अधिकतकर दुकानें बंद थीं इसलिए किसी के हताहत होने की खबर नहीं है. हालांकि यहां जल स्तर बढ़ रहा है और बचाव अभियान जारी है.

वहीं राज्य के डीजीपी अशोक कुमार ने बताया कि टिहरी जिले के देवप्रयाग में बादल फटने से कई दुकानें और घरों को नुकसान पहुंचा है. हालांकि अभी तक किसे के हताहत होने की खबर नहीं है. उन्होंने कहा कि एसडीआरएफ टीमें बचाव अभियान में जुटी हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक बादल फटने से यहां आईटीआई भवन भी ध्वस्त हो गया. दरअसल शाम पांच बजे दशरथ आंचल पर्वत पर बादल फटा जिससे शांता गदेरा उफान पर आ गया और मलबा आने से प्रमुख बाजार की कई दुकानें क्षतिग्रस्त हो गईं.

विज्ञापन

।। Lockdown मैं पढ़ाई के लिए हमारे यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करे।।
।। हमारे यहाँ हर प्रकार का डेली आवश्यकता का समान उपलब्ध है। सम्पर्क करें मानशी बुटोला जनरल स्टोर , पाठो तिलवाड़ा नजदीक सरकारी हॉस्पिटल ।।